• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

कजरारे नैन... क्यों कर देते हैं दिलों को घायल, आखिर क्या है आंखों की गुस्ताखियों का मतलब

|

नई दिल्ली। काजल... आंखों का श्रृंगार या कुछ और... बिना काजल के हर आंख सूनी और अधूरी मानी जाती है, काजल लगे नैना तो शायरों और कवियों का दिल धड़काते ही हैं साथ ही ऐसी आंखों में डूब जाने की चाहत हर किसी की होती है और इसलिए हर लड़की अपनी आंखों को सुंदर बनाने के लिए वो सारे जतन कर डालती है जो उसकी क्षमता में होते हैं। आंखों को सुंदर दिखाने का सबसे अच्छा तरीका आंखों में काजल लगाना है। बच्चे के जन्म से लेकर जवान होने तक लोग आंखों में काजल लगाने की सलाह देते हैं। लेकिन क्या कभी आपने सोचने की कोशिश की काजल है क्या, जिसका उपयोग लोग सदियों से करते आए हैं..

काजल को लोग नजर दोष से बचने के लिए लगाते हैं...

काजल को लोग नजर दोष से बचने के लिए लगाते हैं...

दरअसल काजल को लोग नजर दोष से बचने के लिए लगाते हैं और इसी कारण शिशु के जन्म के बाद से हर मां उसे काजल लगाती है। इसके जरिए लोग प्रेम भाव की प्रदर्शित करते हैं और इसी वजह हिंदू परिवारों में बुआ की ओर से काजल लगाई की परंपरा भी चली आई है।

सोलह श्रृंगार की लिस्ट में तीसरे नंबर पर है काजल

सोलह श्रृंगार की लिस्ट में तीसरे नंबर पर है काजल

सोलह श्रृंगार की लिस्ट में तीसरे नंबर पर रहने वाला काजल एक टोटके के रूप में भी प्रयोग किया जाता है, आपको जानकर हैरत होगी कि इसका प्रयोग लोग सुख शांति के लिए भी करते हैं, यदि परिवार में हमेशा कलह रहता हो और पारिवारिक सदस्य सुख शांति से न रहते हो तो शनिवार के दिन सुबह काले कपड़े में नारियल को लपेटकर उस पर काजल की 21 बिंदी लगाने की सलाह दी जाती है जिससे घर में सुख-शांति बनी रहे।

लोग वशीकरण के लिए भी काजल का प्रयोग करते हैं

लोग वशीकरण के लिए भी काजल का प्रयोग करते हैं

यही नहीं लोग वशीकरण के लिए भी काजल का प्रयोग करते हैं, रवि पुष्य योग (रविवार के दिन पुष्य नक्षत्र) में गूलर के फूल एवं कपास से बना हुआ काजल लोगों के वशीकरण के काम आता है, इसका जिक्र कुछ पुराणों में भी मिलता है।

प्रेम बरकरार रखने के लिए काजल का प्रयोग

प्रेम बरकरार रखने के लिए काजल का प्रयोग

कहते हैं अगर पति-पत्नी के बीच के संबंध उदासीन हो गए हैं तो आंखों का काजल उनमें वापस प्रेम के अंकुर पिरो सकता है इसलिए हमेशा सुहागिन स्त्रियों को काजल लगाकर रहने की सलाह दी जाती है, जिसके उनके घर-आंगन में हर वक्त प्रेम की खुशबू फैलती रहे।

वैज्ञानिक रूप से भी महत्वपूर्ण

वैज्ञानिक रूप से भी महत्वपूर्ण

काजल वैसे वैज्ञानिक रूप से भी महत्व रखता है, इससे आंखें स्वस्थ रहती हैं लेकिन काजल का प्रयोग करने से पहले उसकी शुद्धता जांच लेनी चाहिए क्योंकि आज कल कई तरह कैमिकल से बने काजल आंखों को काफी नुकसान पहुंचा देते हैं इस कारण जब भी काजल लगाएं उसकी जांच अच्छे से कर लें।

यह भी पढ़ें: Hindu Traditions: दही खाना है शुभ और क्यों बजाते हैं पूजा के दौरान घंटी?

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
This ubiquitous make-up item goes way back in Indian culture. In ancient India, it was initially applied as a coolant, and to ward off the “evil eye” from young children.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X