• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

Inspirational Story: विपत्तियों को बना सकते हैं सीढ़ी

By Pt. Gajendra Sharma
|

नई दिल्ली। जीवन पल -पल बदलती परिस्थितियों का एक संकलन मात्र है। कोई नहीं जानता कि जीवन की डगर पर कब कोई नया मोड़ आ जाए और जीने का पूरा तरीका देखते- ही- देखते बदल जाए। पुस्तकों में अक्सर पढ़ने को मिलता है कि संसार दुखमय है। जीवन में विपत्तियां अपार हैं, जिसमें सुख के कुछ छींटे परमात्मा की कृपा से कभी- कभार पड़ जाते हैं। इसका अर्थ यही है कि जीवन में दुख का, विपत्तियों का आधिक्य है। यदि इन दुखों में ही डूबे रहेंगे तो जीवन जीना दूभर हो जाएगा। बेहतर यही होगा कि जीवन में आने वाली विपत्तियों को ही अवसर बनाया जाए और स्वयम को खुश, सुखी और जीवंत बनाए रखने के तरीके गढ़े जाएं।

कैसे, ये आज की कथा से जानते हैं-

Inspirational Story: विपत्तियों को बना सकते हैं सीढ़ी

एक बार की बात है। एक बूढ़ा आदमी अपने बूढ़े और कमज़ोर गधे के साथ जंगल में चला जा रहा था। अचानक ही गधा एक सूखे कुएं में गिर पड़ा। कुआं काफी गहरा था और गधे का बाहर आना नामुमकिन था। बूढ़े को रोना आ गया। गधा लंबे समय से उसका साथी था, वही उसका परिवार और उसकी आजीविका का एकमात्र सहारा भी था। गधे के बिना जीने की कल्पना मात्र से उसकी आत्मा रो पड़ रही थी।उसने गधे को बाहर निकलने का हर सम्भव प्रयास किया, किन्तु असफल रहा। अन्ततः वह समझ गया कि अब उसका गधा बाहर न निकल पाएगा। गधा भी कुएं में रेंक- रेंक कर निढाल पड़ गया था। बूढ़े ने सोचा कि गधा मर गया, तो अब मुझे कम- से- कम अपने साथी को सही विदाई तो देना चाहिए। ऐसा सोचकर बूढ़े ने आस- पास से मिट्टी उठाकर कुएं में डालना शुरू कर दी।

समझदारी से मुसीबत से बाहर निकला

उधर, जब गधे पर मिट्टी पड़ी, तो पहले वो घबराया, लेकिन रोने का स्वर सुनकर उसे लगा कि उसका मालिक उससे कितना प्यार करता है। उसे बचाने के लिए कितनी मेहनत कर रहा है, तो उसे भी हिम्मत करना चाहिए। उसने हर बार अपने ऊपर मिट्टी पड़ने पर उसे झाड़कर ढेर बनाना चालू कर दिया। ढेर बढ़ने पर गधा उसपर चढ़ता जाता। थोड़ी देर बाद बूढ़े ने कुएं में झांककर देखा कि गधे का मृत शरीर ढंक गया या नहीं। यह देखकर उसकी खुशी का ठिकाना ना रहा कि गधा जीवित है और उसकी फेंकी हुई मिट्टी के सहारे ऊपर आने की कोशिश कर रहा है। अब वह दोगुने उत्साह से मिट्टी कुएं में फेंकने लगा और जल्द ही गधा कुएं से बाहर आ गया। इस तरह एक समझदारी ने सिर पर आई मुसीबत को दूर कर दिया।

शिक्षा

दोस्तों, हम सब कभी भी, किसी भी तरह की मुश्किल में पड़ सकते हैं। सच यही है कि जीवन की राह में कठिनाइयां अधिक हैं और आसानियां कम, लेकिन अगर हम थोड़ा- सा दिमाग लगाएं, तो इन्ही विपत्तियों को अवसरों में बदल सकते हैं। बस, करना इतना है कि हिम्मत बनाए रखें, आपा न खोएं, उस परिस्थिति में सबसे अच्छा क्या किया जा सकता है, यह सोचें और काम में जुट जाएं। निश्चित मानिए, आप हर समस्या सुलझा लेंगे।

यह पढ़ें: Motivational Story: बुद्धि से होगी समस्या पार, पढ़ें ये ज्ञानवर्धक कहानी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Do not panic, Fight troubles, here is motivational Story.
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X