• search
keyboard_backspace

ऑक्सीजन की कमी से मौतों की खबर तथ्यहीन और निराधार, राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डायरेक्टर ने कहा

लखनऊ, अप्रैल 18: राम मनोहर लोहिया अस्पताल में मीडिया में चल रही कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से मौतों की खबर को राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान के डायरेक्टर डॉ. एके सिंह ने तथ्यहीन और निराधार बताया है। इस बाबत उन्होंने प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा आलोक कुमार को पत्र लिखकर पूरे मामले की जानकारी दी है।

News of life lost due to lack of oxygen in Ram Manohar Lohia Hospital, factless and baseless

उन्होंने कहा है कि जिस घटना का जिक्र हो रहा है, उसमें आक्सीजन की किसी भी अप्रत्याशित कमी को पूरा करने के लिए शहीद पथ स्थित संस्थान के 200 बिस्तर वाले अस्पताल से मिले 50 सिलेंडरों का बैकअप मौजूद था। 21 मार्च को एक एडवांस ओरल कैंसर सहित कई गंभीर बीमारियों से ग्रस्त मरीज को भर्ती किया गया था और वह वेंटिलेटर पर था। कई कारणों से 17 अप्रैल को पांच बजकर 50 मिनट पर उसकी दुखद मृत्यु हो गई। ऑक्सीजन सप्लाई के आरोप पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा है कि इस दौरान ऑक्सीजन सप्लाई कभी बाधित नहीं रही।

मीडिया में प्रचारित ऑक्सीजन की कमी से मरीजों की मौत की खबर पूरी तरह गलत और भ्रामक है। उन्होंने कहा है कि राम मनोहर लोहिया के कोविड अस्पताल के रूप में दो अस्पताल हैं, जिसमें से एक शहीद पथ पर 200 बेड वाले अस्पताल में लिक्विड ऑक्सीजन की सुविधा है। वहीं, एक पुराना संयुक्त पीएमएस अस्पताल है, जिसमें 50 बेड की आपातकालीन सेवाएं और अन्य सुविधाएं हैं। इस अस्पताल को सेंट्रलाइज सिलेंडर आधारित ऑक्सीजन पर चलाया जा रहा है। आमतौर पर ऑक्सीजन की आवश्यकता रोजाना करीब 100 सिलेंडरों की होती है, लेकिन सांस की बीमारी के बढ़ते रोगियों के कारण सिलेंडरों की जरूरत बढ़ी है।

इसके बावजूद हमारे पास 141 सिलेंडरों का भंडार है, जिसमें 150 सिलेंडर कोविड अस्पताल से मंगाए गए थे। इसके अलावा रिफिल करने वाली एजेंसी दो से तीन घंटे में सिलेंडर को रीसायकल कर करीब 45 सिलेंडरों की आपूर्ति करती है। इस प्रकार से ऑक्सीजन की आपूर्ति अब तक निर्बाध बनी हुई है।

एसजीपीजीआई में लगा ऑक्सीजन प्लांट
संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान के राजधानी कोरोना अस्पताल में अब बिना बाधा के ऑक्सीजन सप्लाई उपलब्ध रहेगी। इसके लिए राजधानी कोरोना अस्पताल में लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट लगाया गया है। इसका उद्घाटन आज संस्थान के निदेशक प्रोफेसर आरके धीमन ने किया। अभी तक एसजीपीजीआई के राजधानी कोरोना अस्पताल में सिलेंडर सिस्टम से ऑक्सीजन सप्लाई दी जा रही थी, जिसमें लगभग 600 सिलेंडर प्रतिदिन की खपत हो रही थी। अब 20,000 लीटर क्षमता के इस लिक्विड ऑक्सीजन प्लांट से, जिसे लिंडे इंडिया लिमिटेड द्वारा स्थापित किया गया है, मरीजों को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध हो पाएगी और ऑक्सीजन का पर्याप्त स्टॉक भी बना रहेगा।

English summary
News of life lost due to lack of oxygen in Ram Manohar Lohia Hospital, factless and baseless
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X