• search
keyboard_backspace

हरियाणा: पैराग्लाइडिंग-ट्रैकिंग का केंद्र बनेगा मोरनी, CM ने बताया कैसे मिलेगा पर्यटन को बढ़ावा

चंडीगढ़। हरियाणा में मोरनी से टिक्कर ताल के बीच पैराग्लाइडिंग की जा सकेगी। इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। इस संबंध में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अगुवाई में बैठक हुई। जहां बताया गया कि अभी आसपास के 10 ग्रामीण युवाओं को पैरा ग्लाइडिंग का बेसिक कोर्स कराया गया है और पांच युवाओं ने एडवांस कोर्स कर लिया है। बैठक में मनोहर लाल ने पंचकूला के समग्र विकास के लिए अधिकारियों को तेजी से काम करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर सोमवार को पंचकूला के विकास के लिए आयोजित योजना बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। जहां उन्होंने रामगढ़ से हिमाचल प्रदेश को जोड़ने वाली सड़क के लिए भी आवश्यक अनुमति (वन एवं पर्यावरण आदि) जल्द से जल्द लेने के लिए कहा। यह भी तय हुआ कि, मोरनी पैराग्लाइडिंग व ट्रैकिंग का केंद्र बनेगा। पैराग्लाइडिंग करने वाले मोरनी से फ्लाई करके टिक्कर ताल में लैंड करेंगे। कोर्स कर चुके युवा पर्यटकों को फ्लाई कराने में मदद करेंगे। इसके लिए हरियाणा के लिए नियम तय करने की दिशा में जल्द से जल्द काम करने के निर्देश दिए।

Haryana: Morni will become the center of paragliding-tracking

मुख्यमंत्री ने स्थानीय निकाय विभाग के अधिकारियों को पंचकूला के सेक्टर 23 में डंपिंग ग्राउंड को 31 दिसंबर 2021 तक खाली कराने के निर्देश दिए। पंचकूला को मेडिकल हब बनाने के लिए सुविधाएं मुहैया कराते हुए नियम बनाने के भी अधिकारियों को निर्देश दिए।

पंचकर्म केंद्र बनेगा
मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचकूला में अच्छी सुविधाओं से युक्त बड़े अस्पताल स्थापित हों, इसके लिए अधिकारी योजना बनाएं। अस्पतालों के लिए अच्छी सड़कें और पार्किंग की व्यवस्था पर योजना में ही ध्यान देने की बात भी उन्होंने कही।पंचकूला में वेलनेस सेंटर और पंचकर्म केंद्र स्थापित किए जाने के लिए योजना बनाकर काम करने को कहा।

बैठक में पिंजौर के विकास पर व्यापक चर्चा हुई। यहां बनने वाली फिल्म सिटी के लिए जल्द व्यापक प्लान तैयार करने के मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए। पिंजौर में फि‍ल्म सिटी के विकास के लिए काम करने के साथ ही यहां हवाई पट्टी बनाने की दिशा में भी तेजी से काम करने के निर्देश दिए ताकि भविष्य में यहां से लोग एयर टैक्सी सेवा का लाभ उठा सकें।

हिंगलाज माता मंदिर: पाकिस्तान में एकमात्र शक्तिपीठ, अमरनाथ से भी कठिन है यहां पहुंचना, मुस्लिम कहते हैं इसे 'नानी की हज', जानिए कैसे मनती है नवरात्रि?हिंगलाज माता मंदिर: पाकिस्तान में एकमात्र शक्तिपीठ, अमरनाथ से भी कठिन है यहां पहुंचना, मुस्लिम कहते हैं इसे 'नानी की हज', जानिए कैसे मनती है नवरात्रि?

English summary
Haryana: Morni will become the center of paragliding-tracking, CM told how tourism will be promoted
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X