• search
keyboard_backspace

हरियाणा: प्राइवेट अस्पतालों में दाखिल हर गरीब कोरोना मरीज को 35 हजार रु. मिलेंगे, BPL परिवारों को वित्तीय मदद

By सरकारी न्यूज

चंडीगढ़। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अगुवाई वाली हरियाणा सरकार बीपीएल परिवारों के कोरोना मरीजों को वित्तीय सहायता देगी। मुख्यमंत्री ने ऐलान किया है कि, प्राइवेट अस्पतालों में दाखिल हर गरीब कोरोना मरीज को 35 हजार रु. मिलेंगे। उन्होंने कहा कि, प्रदेश के मरीज भर्ती करने पर निजी अस्पतालों को रोजाना 1 हजार रुपए प्रति बेड मिलेंगे। इसके अलावा होम आइसोलेशन में बीपीएल मरीजों को 5000 रु. मिलेंगे।

यह बड़ी घोषणाएं मनोहर लाल ने बुधवार को कीं। उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश के निजी अस्पतालों में ऑक्सीजन या आईसीयू बेड पर उपचाराधीन बीपीएल परिवारों के कोरोना संक्रमितों के लिए रोजाना प्रति मरीज 5000 रुपए (अधिकतम 7 दिन) यानी 35000 रुपए की सहायता देगी।

Government will provide financial assistance to Covid patients of BPL families in Haryana

प्रदेश के मरीजों को भर्ती करने वाले निजी अस्पतालों को भी हर दिन प्रति मरीज 1000 रुपए या अधिकतम 7000 रुपए तक की प्रोत्साहन राशि दी जाएगी, ताकि निजी अस्पतालों में हरियाणा के कोरोना मरीज भर्ती हो सकें। यह राशि सीधे अस्पताल के खाते में जाएगी। सीएम ने कहा कि होम आइसोलेशन में रहने वाले बीपीएल को दवा, ऑक्सीमीटर आदि के खर्च के लिए 5000 रुपए मिलेंगे। राशि संबंधित व्यक्ति के खाते में भेजी जाएगी।

निजी अस्पतालों के लिए बेड, वेंटिलेटर के रेट तक किए
राज्य में बेड व अन्य सुविधाओं के रेट फिक्स किए गए हैं। राज्य में 42 निजी अस्पताल कोविड मरीजों का इलाज कर रहे हैं। सरकार ने एनएबीएच व जेसीआई मान्यता प्राप्त अस्पतालों में आइसोलेशन बेड का 10000 रुपए, बिना वेंटिलेटर के आईसीयू बेड का 15000 रुपए व वेंटिलेटर युक्त आईसीयू बेड का 18000 रुपए प्रतिदिन की दर से रेट तय किए हैं। बिना एनएबीएच मान्यता प्राप्त अस्पतालों में आइसोलेशन बेड का 8000 रु., बिना वेंटिलेटर के आईसीयू बेड का 13000 रु. व वेंटिलेटर आईसीयू बेड का 15000 रुपए प्रतिदिन की दर से रेट तय किए हैं।

जहां जरूरत वहां दिए जाएंगे वेंटिलेटर
सीएम ने कहा कि वे नूंह के मेडिकल कॉलेज में गए थे। वहां 80 वेंटिलेटर में से 34 चालू हैं, 46 नहीं चल रहे हैं। इनमें से 16 और नूंह के काॅलेज में चालू कर दिए गए हैं। आसपास के स्थानों पर वेंटिलेटर न होने पर 5 रेवाड़ी, 5 पलवल के लिए भेजे गए हैं।

तैयारी गांवों में लगाए जाएंगे कैंप 15 मई तक कोरोना का पीक होगा
ग्रामीण इलाकों में प्रारंभिक जांच के लिए कैंप लगाए जाएंगे। सीएम ने कहा है कि हर जिले में हेल्पलाइन बना दी है। इसमें तीनों शिफ्टों में 8 से 10 व्यक्ति होंगे। सीएम ने कहा है कि विशेषज्ञ बता रहे हैं कि 15 मई के आसपास कोरोना का पीक होगा। आज कोविड संख्या 20% बढ़ जाए, तो करीब 1.30 लाख मरीज हो सकते हैं।

हरियाणा के सारे अस्पतालों को हम ऑक्सीजन सपोर्ट वाले बनाएंगे, हर प्राईवेट अस्पताल को भी ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगाना पड़ेगा: स्वास्थ्य मंत्री विजहरियाणा के सारे अस्पतालों को हम ऑक्सीजन सपोर्ट वाले बनाएंगे, हर प्राईवेट अस्पताल को भी ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट लगाना पड़ेगा: स्वास्थ्य मंत्री विज

सहयोग घर-घर में अनाज वितरण के लिए वॉलंटियर का लेंगे सहयोग
पांच किलोग्राम अनाज का वितरण करने के लिए वॉलेंटियर से संपर्क करेंगे। नए वॉलंटियर का पंजीकरण करेंगे, ताकि घर-घर डिलीवरी की जा सके। वॉलेंटियर को पास बनाकर देंगे। किरयाना व्यापारी भी होम डिलीवरी कर सकेंगे। वे अपने यहां काम करने वालों के मूवमेंट पास बनाकर राशन की होम डिलीवरी करा सकेंगे।

English summary
Government will provide financial assistance to Covid patients of BPL families in Haryana
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X