• search
keyboard_backspace

गोरखपुर की टूटी सड़कों और नालियों की मरम्मत के लिए सौ करोड़, सीएम योगी ने मंगाया प्रस्ताव

By Oneindia Staff
Google Oneindia News

गोरखपुर। शहर की टूटी सड़कों और नालियों के उद्धार के लिए सौ करोड़ रुपये मिलने की आस जगी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सड़कों और नालियों के लिए प्रस्ताव देने को कहा तो महापौर सीताराम जायसवाल ने पार्षदों से आवेदन मांगा है। पिछले साल अक्टूबर महीने में मुख्यमंत्री ने शहर की 153 सड़कों के लिए सौ करोड़ रुपये से ज्यादा का बजट दिया था। पिछले दिनों नगर निगम में आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से महापौर ने सड़कों और नालियों के जीर्णोद्धार पर बात की थी। मुख्यमंत्री ने प्रस्ताव बनाकर शासन को भेजने को कहा था। इसके बाद महापौर ने पार्षदों से आवेदन मांगा है। निर्वाचित पार्षदों के साथ ही सभी मनोनीत पार्षदों को अपने क्षेत्र की टूटी सड़कों व नालियों की पूरी जानकारी देनी है।

CM Yogi asked to send proposal for repairing roads and drains of Gorakhpur

इंजीनियर तैयार करेंगे प्रस्ताव
नगर निगम के इंजीनियर पार्षदों की ओर से मिले आवेदन के आधार पर संबंधित क्षेत्र में सड़क व नाली की स्थिति देखेंगे। इसके बाद प्रस्ताव तैयार किया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पिछले साल अक्टूबर महीने में शहर की 153 सड़कों के लिए तकरीबन 101 करोड़ रुपये दिए थे। इन रुपयों से ज्यादातर सड़कों का निर्माण भी हो चुका है।

32 गांवों के लिए बना है 195 करोड़ का प्रस्ताव
नगर निगम में शामिल 32 गांवों में सड़क, नाली, पाइप लाइन आदि के लिए नगर निगम प्रशासन ने 195 करोड़ रुपये का प्रस्ताव तैयार किया है। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद प्रस्ताव शासन को भेजा जा रहा है। महापौर सीताराम जायसवाल का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर शहर में लगातार विकास कार्य हो रहे हैं। नगर निगम आए मुख्यमंत्री से सड़कों और नालियों के लिए अनुरोध किया था। उन्होंने प्रस्ताव भेजने को कहा। इसी के क्रम में प्रस्ताव तैयार कराया जा रहा है। नागरिक भी अपने क्षेत्र के पार्षद को आवेदन करें।

English summary
CM Yogi asked to send proposal for repairing roads and drains of Gorakhpur
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X