• search
पश्चिम बंगाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

'2 मई के बाद एससी समुदाय में 12 रेप, 20 हत्या समेत 1627 घटनाएं', बंगाल हिंसा पर NCSC का चौंकाने वाला रिपोर्ट

|

कोलकाता, 15 मई: राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग (NCSC) के प्रमुख विजय सांपला ने शुक्रवार (14 मई) को आरोप लगाया कि विधानसभा चुनाव 2021 के नतीजों के बाद 2 मई से ही पश्चिम बंगाल में बलात्कार और हत्याएं हो रही हैं। प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए एनसीएससी के प्रमुख विजय सांपला ने कहा, ''2 मई के बाद पश्चिम बंगाल में जिस तरह से घटनाएं हुई हैं, वह चिंताजनक है। 1947 यानी आजादी के बाद पहली बार बलात्कार और हत्याएं बिना किसी राज्य संरक्षण के हो रही हैं। बंगाल हिंसा में सबसे अधिक प्रभावित अनुसूचित जाति के लोग हुए हैं।" मामलों की संख्या का ब्योरा देते हुए विजय सांपला ने कहा, ''एससी समुदाय के खिलाफ हिंसा में अब तक 10-12 बलात्कार, 15-20 हत्या के मामलों सहित 1627 घटनाएं सामने आई हैं। वहीं 672 नए मामले सामने आए हैं।''

west bengal violence 2021

विजय सांपला ने कहा, ''मैंने इस पूरे मामले में एडीजीपी को एसएचओ के खिलाफ जांच करने के लिए कहा है। पुनर्वास। (ग्रामीणों का) राज्य द्वारा वहन किया जाना चाहिए।''

पुलिस स्टेशन जाने वाले लोगों पर हमला किया गया: विजय सांपला

नबाग्राम की अपनी यात्रा के बारे में एनसीएससी प्रमुख विजय सांपला ने कहा, "जब मैंने नबाग्राम का दौरा किया, तो पुलिस ने मुझे बताया कि दोनों पक्षों के अपराधी एससी समुदाय से थे, लेकिन पूछताछ करने पर हमने पता चला है कि इसमें कई शख्स ऐसे भी शामिल थे, जो जनरल कैटेगरी से आते हैं। और जो (एससी से) शिकायत दर्ज करने के लिए पुलिस स्टेशन गए थे, उनपर हमला किया जा रहा था, उनको मारा-पीटा जा रहा था। उनके घर लूट लिए जाते थे। लोग पुलिस में शिकायत दर्ज कराने से डर रहे हैं।''

इस महीने की शुरुआत में, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आरोप लगाया कि था पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद हुई हिंसा में उसकी पार्टी के 9 कार्यकर्ता मारे गए हैं। हालांकि, तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) इन आरोपों का खंडन करती रही है।

विश्व हिंदू परिषद ने राष्ट्रपति से की कार्रवाई की मांग

7 मई को गृह मंत्रालय द्वारा चार सदस्यीय टीम को पश्चिम बंगाल में हिंसा प्रभावित इलाकों का जायजा लेने भेजा गया है। इस टीम ने हाल ही जमीनी स्थिति का आकलन करने के लिए पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के डायमंड हार्बर इलाके का दौरा किया था।

इस बीच, विश्व हिंदू परिषद (विहिप) ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से पश्चिम बंगाल में "टीएमसी कार्यकर्ताओं और जिहादियों" द्वारा की गई हिंसा को तुरंत रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाने का अनुरोध किया है।

ये भी पढ़ें- ममता पर बरसे गवर्नर जगदीप धनखड़, कहा-बंगाल जल रहा है और आपको कुछ नहीं दिख रहा है?ये भी पढ़ें- ममता पर बरसे गवर्नर जगदीप धनखड़, कहा-बंगाल जल रहा है और आपको कुछ नहीं दिख रहा है?

विहिप के कार्यकारी अध्यक्ष अधिवक्ता आलोक कुमार द्वारा लिखे गए एक पत्र में, परिषद ने कहा है कि पश्चिम बंगाल में चुनाव के बाद की हिंसा "मुस्लिम लीग की सीधी कार्रवाई" की याद दिलाती है। 2 मई को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद राज्य के कई हिस्सों में हिंसा की घटनाएं सामने आई थीं।

English summary
National Commission for Scheduled Castes on post-poll violence in west bengal says 1627 incident happen
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X