• search
पश्चिम बंगाल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

पश्चिम बंगाल में सीतलकुची हिंसा मामले में सीआईडी ​​ने 6 CISF अधिकारियों को भेजा नोटिस,BJP ने लगाया ये आरोप

|

कोलकाता, 10 मई: पश्चिम बंगाल पुलिस के आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) ने सीआईएसएफ के 4 सीआईएसएफ, 1 सीआईएसएफ इंस्पेक्टर और 1 सीआईएसएफ डिप्टी कमांडेंट को मंगलवार यानी कल सीआईडी मुख्यालय में पेश होने को कहा है। सीआरपीएफ के इन 6 अधिकारियों को सीआरपीसी की धारा 160 के तहत नोटिस दिया गया है और मंगलवार को सीआईडी ​​मुख्यालय में पेश होने के लिए कहा गया है।

cisf

बता दें 10 अप्रैल को बंगाल के सीतलकुची में मतदान केंद्र पर सीआईएसएफ जवानों की तरफ से कथित तौर पर फायरिंग से हुई कई लोगों की मौत को लेकर सीएम ममता बनर्जी ने कुर्सी संभालते ही इस मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की है। इस नोटिस के बाद सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) का विपक्षी भाजपा आलोचना कर रही है।

वहीं टीएमसी ने गोलीबारी की घटना के विरोध में राज्य भर में प्रदर्शन किए। कई टीएमसी कार्यकर्ताओं ने काले बिल्ले पहने और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग की। चुनाव आयोग ने हालांकि कहा था कि सुरक्षा बलों को आत्मरक्षा में गोलियां चलाई थी। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने चुनाव प्रचार के दौरान टीएमसी के खिलाफ खतरे की सूचना जारी करने के लिए कई बार गोलीबारी की घटना का उल्लेख किया था। कूच बिहार के पुलिस अधीक्षक देबाशीष धर को घटना के बाद निलंबित कर दिया गया था।

बीजेपी महासचिव, कैलाश विजयवर्गीय ने सीआईडी पर 6 सीआईएसएफ पुरुषों को बुलाकर सीतलकुची में गोलीबारी की घटना पर कहा कि सीआईडी की कार्रवाई राजनीति से प्रेरित है, उन्हें सीआईएसएफ कर्मियों को बुलाने का कोई अधिकार नहीं है। वहीं पश्चिम बंगाल के नेता सुवेन्दु अधिकारी ने कहा कि CID ममता बनर्जी और TMC के इशारे पर काम कर रही है। सीआईएसएफ जवानों के खिलाफ सीआईडी की कार्रवाई राजनीति से प्रेरित है। सुवेन्‍दु ने कहा सीआईएसएफ और सीआरपीएफ गृह मंत्रालय के अंतर्गत आते हैं इसलिए इन जवानों को सीआईडी द्वारा नोटिस भेजना किसी भी स्तर से सही नहीं है।

पिछले हफ्ते, माथाभांगा पुलिस स्टेशन के जांच अधिकारी ने पश्चिम बंगाल सीआईडी ​​के स्लीथों से पूछताछ की थी, जो विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के दौरान सीआईएसएफ कर्मियों द्वारा गोलीबारी में पांच व्यक्तियों की मौत की जांच कर रहे हैं। मामले में जांच को आगे बढ़ाने के लिए DIG CID कल्याण मुखोपाध्याय के तहत एक विशेष जांच दल (SIT) का गठन किया गया है।

बता दें 10 अप्रैल को दो अलग-अलग घटनाओं में सीतलकुची में पांच लोगों की हत्या कर दी गई थी। पहली घटना में, एक 18 वर्षीय पहली बार मतदाता बदमाशों ने गोली मार दी थी, जबकि अन्य केंद्रीय बलों में चार लोगों की गोली मारकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली थी। वहीं लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के एक दिन बाद, ममता बनर्जी ने 6 मई को कहा कि उनकी सरकार सितालकुची में मारे गए सभी पांच व्यक्तियों में से प्रत्येक के परिवार के एक सदस्य को होमगार्ड की नौकरी देगी।

English summary
CID sends notice to 6 CISF officers in Sitalakuchi violence case in West Bengal
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X