• search
वाराणसी न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

BHU: महिला वैज्ञानिकों ने खोजी कोरोना टेस्ट की नई तकनीक, कुछ घंटे में ही वायरस का पता चलेगा

|

वाराणसी। बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी के आणविक और मानव आनुवंशिकी विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर डॉक्टर गीता राय ने कम समय में कोरोना वायरस के संक्रमण का पता लगाने के लिए नई तकनीक खोजने का दावा किया है। उन्होंने कहा कि इस टेस्ट में कोविड-19 में जो प्रोटीन सिक्वेंस हैं, उसकी पड़ताल कर 5 से 6 घंटे मालूम किया जा सकता है कि संदिग्ध व्यक्ति कोरोना से संक्रमित है या नहीं।

    Coronavirus : BHU में Professors ने खोजी Covid19 के जांच की Simple Technique | वनइंडिया हिंदी

    Team of female scientists invented new test technology of Covid-19

    कोविड-19 के प्रोटीन क्रम पर आधारित तकनीक

    एसोसिएट प्रोफेसर ने दावा किया है कि यह नई तकनीक कोरोना वायरस के प्रोटीन क्रम को पहचानने पर आधारित है। यह खास प्रोटीन क्रम किसी और वायरस में नहीं होता। इस टेस्ट के जरिए संदिग्ध व्यक्ति में कोविड-19 की उपस्थिति की सटीक जानकारी की जा सकती है। इसमें गलत परिणाम निकलने की आशंका बहुत कम है।

    प्रोफेसर गीता राय ने आगे बताया कि इस तकनीक को महिलाओं की टीम ने विकसित किया है जिसमें डॉली दास, खुशबू प्रिया, हिरल ठाकर और मैं शामिल हूं। उन्होंने बताया कि 27 मार्च को इस तकनीक के पेटेंट के लिए आवेदन दिया है। नेशनल इंस्टीट्यूफ ऑफ वायरोलॉजी पहले इसे सत्यापित करेगी जिसके बाद आईसीएमआर से इसको मंजूरी मिल पाएगी।

    गर्म पानी की भाप से नहीं मरता कोरोना का 'वायरस', सोशल मीडिया पर फैलाया जा रहा झूठ

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Team of female scientists invented new test technology of Covid-19
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X