• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

क्या 2016 की तरह प्रचंड बहुमत की सरकार का रास्ता तय करेगी पीएम मोदी की परेड ग्राउंड रैली

|
Google Oneindia News

देहरादून, 29 नवंबर। उत्तराखंड में इतिहास रचने और भाजपा को दोबारा प्रचंड बहुमत से सत्ता दिलाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनाव से पहले शंखनाद करने जा रहे हैं। इसके लिए राजधानी देहरादून के ऐतिहासिक परेड ग्राउंड में भाजपा की 4 दिसंबर को ऐतिहासिक रैली होने जा रही है। इससे पहले 2017 विधानसभा चुनाव से ठीक पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 दिसंबर को परिवर्तन रैली को संबोधित किया था। इस बार भाजपा जनता से दोबारा सत्ता के लिए आशीर्वाद मांगने जा रही है। रैली को ऐतिहासिक बनाने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झौंक दी है।

देहरादून, हरिद्वार और गढ़वाल की सीटों पर है नजर

देहरादून, हरिद्वार और गढ़वाल की सीटों पर है नजर

विधानसभा चुनाव से पहले पीएम मोदी की रैली और शंखनाद का उद्देश्य भाजपा ​का चुनावी फिजा को बदलना है। जिसके लिए भाजपा की रणनीति हमेशा पीएम की रैली से प्रदेश में चुनावी पारा बढ़ाने की है। साथ ही परेड ग्राउंड में रैली कराने से देहरादून, हरिद्वार और गढ़वाल की 2 दर्जन से अधिक सीटों के समीकरणों को साधने की है। 2016 और 2021 की रैली की बात करें तो दोनों समय भाजपा के सामने अलग-अलग चुनौती है। तब भाजपा प्रदेश में विपक्ष और केन्द्र में सत्ता में थी। ऐसे में भाजपा ने तब परिवर्तन रैली का आयोजन किया था। जिससे पहले प्रधानमंत्री ने 27 दिसंबर 2016 को परेड ग्राउंड में आयोजित भाजपा की परिवर्तन महारैली से पहले ऑल वेदर रोड प्रोजेक्ट के जरिए देवभूमि उत्तराखंड को 12 हजार करोड़ की सौगात दी ​थी।

मैं हूं चौकीदार से प्रचंड बहुमत तक भाजपा

मैं हूं चौकीदार से प्रचंड बहुमत तक भाजपा

तब मोदी ने मैं हूं चौकीदार के जरिए जनता की भावनाओं के साथ जुड़ने की कोशिश की जो सफल रही। साथ ही रैली के जरिए प्रदेश में सत्ता में आने का रास्ता तय किया था। 2016 में पीएम मोदी के साथ भाजपा की सबसे बड़े चेहरे पूर्व सीएम बीसी खंडूडी, भगत सिंह कोश्यारी और डॉ रमेश पोखरियाल निशंक त्रिमूर्ति के अलावा कांग्रेस से भाजपा में विजय बहुगुणा समेत कई दिग्गज शामिल हुए थे। इसके बाद भाजपा ने चुनाव में उत्तराखंड के इतिहास का सबसे शानदार प्रदर्शन करते हुए 56 सीटों पर कब्जा किया था। अबकी बार भाजपा के पास डबल इंजन की सरकार है। प्रदेश में युवा सीएम का चेहरा और मोदी के विकास कार्यों की लंबी चौड़ी लिस्ट है। ऐसे में इस बार मोदी के मंच में किसको जगह मिलती है, और पीएम मोदी अपने संबोधन में क्या-क्या शामिल करते हैं। इसका भाजपा ही नहीं कांग्रेस को भी इंतजार है।

 30 हजार करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास

30 हजार करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास

4 दिसंबर को पीएम मोदी की रैली को सफल बनाने के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सोमवार को प्रस्तावित रैली की तैयारियों का जायजा लिया। सीएम ने बताया कि उस दिन पीएम मोदी करीब 30 हजार करोड़ रुपये की योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे। सीएम ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को समय से सभी व्यवस्थाओं को पूरा करने के निर्देश दिए। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि पार्टी ने जनसभा में एक लाख लोगों की उपस्थिति दर्ज कराने का लक्ष्य बनाया है। इस लक्ष्य के हिसाब से पार्टी के जिलाध्यक्षों, चुनाव संयोजकों, चुनाव प्रभारियों, मंडल अध्यक्षों को जिम्मेदारी दी गई है। पार्टी के प्रदेश महामंत्री जनसभा की तैयारी और प्रबंधन को लेकर बैठक में जुट गए हैं। भाजपा का लक्ष्य है किजनसभा में हरिद्वार,देहरादून और उसके आसपास के इलाकों से करीब एक लाख लोगों कीभीड़ जुटाई जाए। पार्टी ने प्रदेश महामंत्री कुलदीप कुमार को देहरादून, राजेंद्र भंडारी को हरिद्वार और सुरेश भट्ट को गढ़वाल और उसके आसपास के जिलों की जिम्मेदारी सौंपी है।

ये भी पढ़ें-सर्द मौसम या चुनावी गर्मी, उत्तराखंड में इस वजह से 2 दिन के विधानसभा सत्र के लिए 3 बार बदली तारीखेंये भी पढ़ें-सर्द मौसम या चुनावी गर्मी, उत्तराखंड में इस वजह से 2 दिन के विधानसभा सत्र के लिए 3 बार बदली तारीखें

English summary
Will PM Modi's parade ground rally pave the way for a thumping majority government like 2016?
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X