• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

Uttarakhand पुलिस ने जारी की लापता व्यक्तियों की राज्यवार सूची, खोज और बचाव अभियान जारी

|

Uttarakhand Glacier Burst, देहरादून। सात फरवरी को उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटने से आई जल प्रलय में 29 लोगों की जान जा चुकी है। वहीं, कई लोग अभी भी लापता है। इस बीच उत्तराखंड पुलिस ने ऋषिगंगा प्राकृतिक आपदा में लापता व्यक्तियों की राज्यवार सूची जारी की है। वहीं, ऋषिगंगा में आए सैलाब के बाद बचाव और खोज अभियान अभी जारी है। रेस्क्यू टीमों के साथ ही परिजन भी मलबे में अपनों की तलाश रहे हैं।

Uttarakhand police released a state-wise list of missing persons
    Uttarakhand Glacier Burst: Police ने जारी की Missing व्यक्तियों की राज्यवार सूची | वनइंडिया हिंदी

    इस बीच उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तपोवन में आईजी, डीआईजी, डीएम, एसपी, आर्मी, आईटीबीपी, बीआरओ के वरिष्ठ अधिकारियों एवं एनटीपीसी के प्रोजेक्ट इंचार्ज अधिकारियों की बैठक में राहत एवं बचाव कार्यों की समीक्षा की। साथ ही डीएम को समय-समय पर मीडिया को ब्रीफिंग करने के निर्देश दिए ताकि भ्रामक और गलत खबरें न फैले। जिसके बाद उत्तराखंड पुलिस ने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए ऋषिगंगा प्राकृतिक आपदा में लापता व्यक्तियों की राज्यवार सूची जारी की है। साथ ही लिखा, 'ऋषिगंगा में आए सैलाब के बाद बचाव और खोज अभियान अभी जारी है।'

    सीएम रावत ने किया हवाई निरीक्षण, घायलों से जाना हाल
    वहीं, दूसरी तरफ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने चमोली ज़िले में ग्लेशियर टूटने से प्रभावित इलाकों का एरियल सर्वे किया। इसके बाद सीएम रावत जोशीमठ में आईटीबीपी अस्पताल में जाकर रेस्क्यू किए गए लोगों से मिले और उनका हालचाल जाना। वहां से निकलने के बाद सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि, जिन 12 घायलों को रेस्क्यू किया गया है वो आईटीबीपी के इस अस्पताल में भर्ती हैं, सभी ठीक हैं। उन्होंने बताया कि शरीर में काफी दर्द है, डॉक्टरों का कहना है कि ये धीरे-धीरे ठीक हो जाएगा।

    29 शव मिले, अभी भी कई लापता
    सीएम रावत ने बताया कि आज मंगलवार को प्रभावित क्षेत्र में दो और शव बरामद हुए हैं। वहीं, अभी भी कई लोग लापता है। लगभग 35 लोग सुरंग के अंदर फंस गए हैं, हम उन तक पहुंचने के लिए रस्सी के माध्यम से ड्रिल करने और रास्ता बनाने की कोशिश कर रहे हैं। बचाव दल रस्सी और अब आवश्यक पैकेजों के माध्यम से मलारी घाटी क्षेत्र तक पहुंचने में कामयाब रहा है, राशन आसानी से भेजा जा सकता है। इससे पहले, हेलीकॉप्टर के माध्यम से केवल एक सीमित स्टॉक की आपूर्ति की जा सकती थी, लेकिन अब कोई समस्या नहीं होगी।

    ये भी पढ़ें:- सीएम योगी ने सुरेश राणा को सौंपा खोज-बचाव का जिम्मा, मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रु देने की घोषणाये भी पढ़ें:- सीएम योगी ने सुरेश राणा को सौंपा खोज-बचाव का जिम्मा, मृतकों के आश्रितों को दो-दो लाख रु देने की घोषणा

    English summary
    Uttarakhand police released a state-wise list of missing persons
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X