India
  • search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

राष्ट्रपति चुनाव: उत्तराखंड के विधायकों का वोट वैल्यू, समझिए भाजपा, कांग्रेस का पूरा गणित

|
Google Oneindia News

देहरादून, 25 जून। राष्ट्रपति चुनाव के लिए 18 जुलाई को मतदान होना है। सभी दल अपने-अपने गुणा-भाग में जुटे हैं। राष्ट्रपति चुनाव में एकल संक्रमणीय मत निर्वाचन प्रणाली के तहत चुनाव होता है। साथ ही हर प्रदेश में विधायकों और सांसदों का वोट वैल्यू होता है। इसके लिए 1971 की जनगणना को आधार बनाया गया है।

Presidential election - vote value of MLAs of Uttarakhand, understand the complete math of BJP, Congress

उत्तराखंड में 70 विधायक, 47 भाजपा के
उत्तराखंड में 70 विधायक हैं। इनमें 47 विधायक भाजपा के और 19 कांग्रेस के हैं। बहुजन समाज पार्टी के 2 और 2 निर्दलीय विधायक हैं। 1971 में उत्तराखंड की कुल आबादी 44,91,239 थी, इस आधार पर उत्तराखंड में प्रत्येक विधायक के मत का मूल्य 64 बन रहा है। वर्तमान विधानसभा में भाजपा विधायकों की संख्या 47 है, इस तरह यहां भाजपा विधायकों की वोट वैल्यू 3008 बैठ रही है। जबकि कांग्रेस विधायकों की वोट वैल्यू 1216 बैठ रही है।
उत्तराखंड में भाजपा की संयुक्त वोट वैल्यू 8608
आगामी 18 जुलाई को विधानसभा परिसर में राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान होगा। भारत निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव की गाइडलाइन जारी कर दी है। एकल संक्रमणीय मत निर्वाचन प्रणाली के तहत होने वाले इस चुनाव में सांसद और विधायक ही भाग लेंगे। बसपा के दो विधायकों की कुल वोट वैल्यू 128 है। एक सांसद की वोट वैल्यू 700 है, उत्तराखंड से लोकसभा के 5 और राज्यसभा के लिए 3 ​कुल मिलाकर 8 सांसद हैं। सांसदों की वोट वैल्यू 5600 बैठ रही है। उत्तराखंड में सभी आठ सांसद भाजपा के हैं, इस तरह उत्तराखंड में भाजपा की संयुक्त वोट वैल्यू 8608 बन रही है। राष्ट्रपति चुनाव में विधायक-सांसदों को प्रथम वरीयता क्रम में मतदान करना होगा। सांसद विधायकों को अलग - अलग पर्ची से मतदान करना होगा। सांसद यदि राज्य में मतदान करना चाहते हैं तो उन्हें पूर्व में इसकी सूचना निर्वाचन आयोग को देनी होगी। इसी तरह विधायक भी यदि दिल्ली या किसी अन्य राज्य की राजधानी में मतदान करना चाहें तो उन्हें भी इसक पूर्व सूचना देनी होगी। उत्तराखंड की मुख्य निर्वाचन अधिकारी सौजन्या ने बताया कि आवश्यक होने पर 18 जुलाई को देहरादून स्थित विधानसभा भवन में राष्ट्रपति पद क लिए मतदान होगा।

ऐसे होता है राष्ट्रपति का चुनाव
राष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए ने द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति के लिए उम्मीदवार बनाया है। जबकि विपक्ष ने यशवंत सिन्हा को अपना उम्मीदवार बनाया है। इस तरह राष्ट्रपति के लिए मतदान होना तय है। भारत के राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद का कार्यकाल 24 जुलाई को खत्‍म होने वाला है। कोविंद का कार्यकाल खत्‍म होने से पहले राष्‍ट्रपति चुनाव होगा। राष्‍ट्रपति चुनाव की घोषणा गुरुवार को हो चुकी है 18 जुलाई को चुनाव होंगे और 21 जुलाई को परिणाम आएंगे। राष्‍ट्रपति चुनाव ये चुनाव Electoral College नामक एक प्रक्रिया के माध्‍यम से होता है। जिसमें संसद के दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा के निर्वाचित सदस्य और सभी राज्यों के सभी विधायक शामिल होते हैं। सिंगल ट्रांसफरेबल वोट सिस्टम के तहत एक वोटर एक ही वोट देता है। राष्ट्रपति चुनाव में प्रत्येक विधायक के वोट का वैल्‍यू 1971 की जनगणना के अनुसार राज्य की जनसंख्या के अनुपात में किया जाता है। निर्वाचक मंडल में राष्ट्रपति का चुनाव करने के लिए 5,49,442 का वोट वैल्‍यू पर्याप्‍त है। निर्वाचक मंडल में 4,896 विधायक हैं। इसमें 776 लोकसभा और राज्यसभा सदस्य और 4,120 विधायक शामिल हैं।

ये भी पढ़ें-Weather Alert: 26 जून से उत्तराखंड में भारी बारिश का अलर्ट, चारधाम यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एडवाइजरीये भी पढ़ें-Weather Alert: 26 जून से उत्तराखंड में भारी बारिश का अलर्ट, चारधाम यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए एडवाइजरी

Comments
English summary
Presidential election - vote value of MLAs of Uttarakhand, understand the complete math of BJP, Congress
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X