• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

उत्तराखंड में अब भाजपा के लिए 'मिशन 11' नहीं आसान, जानिए किन सीटों पर फंसा है पेंच

|
Google Oneindia News

देहरादून, 20 जनवरी। भाजपा ने उत्तराखंड में 70 में से 59 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम का ऐलान तो कर दिया है। लेकिन 11 सीटों पर अब भी दावेदारों की धड़कनें बढ़ा दी हैं। इनमें टिहरी, डोईवाला, कोटद्वार, रानीखेत, जागेश्वर, झबरेड़ा, पिरान कलियर, लालकुंआ, हल्द्वानी, रुद्रपुर, केदारनाथ शामिल हैं।खास बात ये है कि जिन 11 सीटों पर भाजपा ने अब तक प्रत्याशियों के नाम पर मुहर नहीं लगाई है, उनमें 6 सीटें भाजपा के सिटिंग विधायक हैं। इनमें टि​हरी, डोईवाला, कोटद्वार, झबरेड़ा, लालकुंआ, रुद्रपुर शामिल हैं। जबकि 5 सीटों पर कांग्रेस के विधायक जीतकर आए थे। इस तरह भाजपा इन सभी 11 सीटों को लेकर एक बार फिर से मंथन करने में जुटी है।

 Mission 11 is no longer easy for BJP in Uttarakhand, know which seats

टिहरी,डोईवाला, कोटद्वार, केदारनाथ सबसे मुश्किल

भाजपा के लिए 11 सीटों में से टिहरी,डोईवाला, कोटद्वार, केदारनाथ भाजपा के लिए प्रत्याशी चयन सबसे मुश्किल माना जा रहा है। डोईवाला पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र​ सिंह रावत के चुनाव न लड़ने के ऐलान के बाद भाजपा को नए सिरे से प्रत्याशी चयन करना पड़ रहा है। डोईवाला से भाजपा दिवंगत सीडीएस जनरल बिपिन रावत के भाई विजय रावत को चुनाव लड़ाने की चर्चा है। हालांकि उनका नाम कोटद्वार सीट पर भी लिया जा रहा है। कोटद्वार से हरक सिंह सिटिंग विधायक थे जो कि अब भाजपा से बर्खास्त है। केदारनाथ सीट पर हरक सिंह को लड़ाने की योजना बताई जा रही थी, लेकिन अब परिस्थितियां बदलने से भाजपा नए सिरे से मंथन कर रही है। भाजपा की 59 प्रत्याशियों में रुद्रपुर विधायक राजकुमार ठुकराल का नाम न होना चौंकाने वाला जरुर है। हालांकि रुद्रपुर में हाल ही में कई विवाद ठुकराल के टिकट पर तलवार लटका चुकी है। इसके साथ ही झबरेड़ा विधायक देशराज कर्णवाल के टिकट कटने की चर्चा कई दिनों से सोशल मीडिया में चल रही हैं हालांकि उनकी जगह उनकी पत्नी को चुनाव लड़ाने की चर्चा है। जो कि भाजपा की दूसरी लिस्ट में सामने आ सकता है। टिहरी सीट पर सिटिंग विधायक धन सिंह नेगी की भी सर्वे रिपोर्ट में टिकट कटने को लेकर कयासबाजी लगाए जा रहे थे। इसके अलावा कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के भाजपा ज्वाइन करने और भाजपा के पुराने नेता लाखीराम जोशी को लेकर भी टिहरी सीट पर मंथन होने की खबरें हैं। जिस वजह से टिहरी सीट पर भाजपा किसी नाम पर मुहर नहीं लगा पाई है।

कांग्रेस की लिस्ट आने के बाद लगेगी मुहर

भाजपा इन सभी 11 सीटों पर कांग्रेस की लिस्ट का इंतजार भी कर सकती है। कांग्रेस में किसी तरह की बगावत होने के बाद भाजपा किसी दलबदलू को भी इन सीटों में टिकट थमा सकती है। फिलहाल भाजपा इन 11 सीटों पर वेट एंड वाच की स्थिति में है। भाजपा सूत्रों का दावा है कि 22 जनवरी तक भाजपा इन 11 सीटों पर भी टिकट फाइनल कर सकती है। कांग्रेस की शुक्रवार को पहली लिस्ट सामने आनी है। जिसमें 50 से ज्यादा नामों पर मुहर लगनी तय है। कांग्रेसी सूत्रों का दावा है कि हरक सिंह प्रकरण को भी सुलझा लिया गया है। ऐसे में अब कांग्रेस पूरी तरह से टिकट बंटवारे की प्रक्रिया में जुट गई है। कांग्रेस की पहली सूची में पूर्व सीएम हरीश रावत का भी नाम होना तय माना जा रहा है। सूत्रों का दावा है कि हरीश रावत के चुनाव लड़ने के लिए हाईकमान ने हरी झंडी दे दी है। इस तरह अब प्रत्याशियों के चयन की प्रक्रिया अंतिम दौर पर है।

ये भी पढ़ें-भाजपा ने 59 प्रत्याशियों में 6 महिलाओं को दिए टिकट, 16 नए चेहरे, 10 सिटिंग​ विधायकों का कटा टिकटये भी पढ़ें-भाजपा ने 59 प्रत्याशियों में 6 महिलाओं को दिए टिकट, 16 नए चेहरे, 10 सिटिंग​ विधायकों का कटा टिकट

Comments
English summary
Mission 11 is no longer easy for BJP in Uttarakhand, know which seats
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X
Desktop Bottom Promotion