• search
उत्तराखंड न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

जानिए रामनगर सीट क्यों हैं उत्तराखंड के लिए खास, जहां से पूर्व सीएम हरीश रावत खेल सकते हैं बड़ा दांव

|
Google Oneindia News

देहरादून, 24 जनवरी। उत्तराखंड में कांग्रेस चुनाव अभियान की कमान संभाल रहे पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के चुनाव लड़ने की संभावनाएं तेज हो गई हैं। हरीश रावत को चुनाव लड़वाने को लेकर हाईकमान भी मंथन कर चुका है। कांग्रेसी सूत्रों का दावा है कि हरीश रावत रामनगर सीट से चुनाव मैदान में उतर सकते हैं। हालांकि हरीश रावत को रामनगर से उतारने पर कांग्रेस के अंदर ही सबसे बड़ी बगावत हो सकती है। रामनगर सीट पर कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रणजीत रावत पूरा जोर लगा रहे हैं। ऐसे में आने वाले दिनों में रामनगर सीट प्रदेश की सबसे हॉट सीट हो सकती है, ये बात अलग है कि पार्टी रणजीत रावत को सल्ट से टिकट देकर इस विवाद को पहले ही सुलझाने का प्रयास कर सकती है।

 Know why Ramnagar seat is special for Uttarakhand, from where former CM Harish Rawat can play big bets

रामनगर से हरदा का चुनाव लड़ना माना जा रहा तय
उत्तराखंड में कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री का चेहरा भले ही घोषित न हुआ हो, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत इस समय कांग्रेस के लिए पूरे प्रदेश में सबसे बड़ा चेहरा हैं। ऐसे में हरीश रावत के चुनाव लड़ने या लड़ाने को लेकर सस्पेंस बना हुआ है। हालांकि दावा किया जा रहा है कि कांग्रेस हाईकमान हरीश रावत को चुनाव लड़ाने के पक्ष में हैं। जिसके लिए दो विकल्प पर विचार-विमर्श किया गया है। रामनगर और सल्ट। इन दोनों सीटों पर कांग्रेस हरीश रावत को चुनाव में उतारने को लेकर मंथन कर चुकी है। जिसमें से रामनगर सीट पर हरीश रावत समर्थक पहले ही माहौल बनाने में लगे हैं। ये बात अलग है कि हरीश रावत के लिए रामनगर सीट पर रणजीत रावत ही सबसे बड़ी चुनौती बनकर सामने आ रहे हैं। रणजीत रावत हरीश रावत के पारिवारिक संबंध होने के साथ ही पूर्ववर्ती हरीश रावत सरकार में मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार हुआ करते थे, लेकिन 2017 के बाद दोनों की राह अलग हो गई। रणजीत रावत 2017 का चुनाव हारने के बाद से ही रामनगर में सक्रिय हैं। ऐसे में रणजीत रामनगर से ही चुनाव लड़ना चाहते हैं। हरीश रावत रणजीत रावत को सल्ट भेजना चाहते हैं, लेकिन सल्ट में हुए उपचुनाव में कांग्रेस को हार का सामना करना पड़ा था, साथ ही उपचुनाव में कांग्रेस ने हरीश रावत समर्थक दावेदार पर ही दांव खेला था, तब से रणजीत रावत सल्ट को छोड़कर रामनगर से ही दावा कर रहे हैं।
वीआईपी और हॉट सीट है रामनगर
पूरे प्रदेश में रामनगर सीट का अपना इतिहास और महत्व है। रामनगर उत्तराखंड की सबसे हॉट सीट है। 22 साल के इतिहास में ये माना जाता है कि जिस पार्टी का विधायक रामनगर सीट से जीता सरकार उसी पार्टी की बनती है। इतना ही नहीं उत्तराखंड की पहली निर्वाचित कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री दिवंगत नारायण दत्त तिवारी ने उपचुनाव में रामनगर सीट से ही चुनाव जीता था, जो​ कि 5 साल तक एकमात्र मुख्यमंत्री का कार्यकाल पूरा करने का रिकॉर्ड बनाने में कामयाब रहे। 2002 में कांग्रेस के योगेम्बर सिंह रावत विधायक बने तो कांग्रेस की सरकार बनी। 2007 में भाजपा के दीवान सिंह बिष्ट चुनाव जीते और सरकार भाजपा की बनी। 2012 में रामनगर से कांग्रेस के टिकट पर अमृता रावत चुनाव जीती और सरकार कांग्रेस की बनी। 2017 में एक बार फिर से दीवान सिंह बिष्ट चुनाव जीते और सरकार भाजपा की बन गई। इस वजह से पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत इस सीट से चुनाव लड़ना चाहते हैं।

2002 में अस्तित्व में आई रामनगर विधानसभा सीट

  • मतदाता
  • कुल 121348
  • महिला 58794
  • पुरुष 62553
  • युवा 28918

अब तक के विधायक

  • -योगम्बर सिंह रावत कांग्रेस 2002
  • -एनडी तिवारी कांग्रेस 2002 (उपचुनाव)
  • -दीवान सिंह बिष्ट भाजपा 2007
  • -अमृता रावत कांग्रेस 2012
  • - दीवान सिंह बिष्ट भाजपा 2017

 ये भी पढ़ें-हरीश, हरक और रणजीत, जानिए कैसे ये तीन रावत चेहरे हुए कांग्रेस के लिए जरुरी, जिनकी वजह से फंसे हैं टिकट ये भी पढ़ें-हरीश, हरक और रणजीत, जानिए कैसे ये तीन रावत चेहरे हुए कांग्रेस के लिए जरुरी, जिनकी वजह से फंसे हैं टिकट

Comments
English summary
Know why Ramnagar seat is special for Uttarakhand, from where former CM Harish Rawat can play big bets
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X