तांत्रिक ने किशोरी को डेढ़ माह से कमरे में किया था कैद, दोस्तों संग रोज करता था गैंगरेप

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। यूपी के प्रतापगढ़ जिले में अन्धविश्वास के चलते एक परिवार की खुशियां दफन हो गई है। परिजन बीमार बेटी का जिस तांत्रिक ओझा से झाड़फूंक करा रहे थे, वह ही हैवान बन गया। तांत्रिक ने डेढ़ महीने से 15 साल की किशोरी को अपने ही घर के एक कमरे में कैद कर रखा था। हर दिन वह अपने रसिक दोस्तों के साथ बच्ची से गन्दा काम करता। विरोध पर बेटी को पीटा जाता और यातनाएं दी जाती। आश्चर्य की बात यह रही की परिजनों ने बेटी के अपहरण की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई थी लेकिन कभी तांत्रिक के ऊपर शक नहीं किया।

घरवालों को बाहर भेज देता था तांत्रिक

घरवालों को बाहर भेज देता था तांत्रिक

पुलिस ने बताया की सुरेंद्र (बदला हुआ नाम) भट्ठे पर रहकर मजदूरी करता है। घर पर उसकी पत्नी सुनैना (बदला हुआ नाम) बच्चों के साथ रहती है। कुछ दिनों से उसकी 15 वर्षीय बेटी सोनम ( बदला हुआ नाम) की तबीयत खराब चल रही थी। सोनम को झाड़फूंक के लिया संग्रामगढ़ थाना क्षेत्र के लहैया गांव में ओझा के यहां ले जाया गया। सोनम को देखकर ओझा की नियत खराब हो गई थी लेकिन इस बात से बेफिक्र परिजन उसे बार बार ओझा के पर झाड़फूंक के लिये ले जाते रहे। ओझा अकेले में तंत्र मंत्र की बात कह कर किशोरी के परिजनों को बाहर भेज देता था। धीरे धीरे उसने सोनम के भोलेपन का फायदा उठाया और अपने प्रेम जाल में फंसा कर उसके साथ शारिरिक संबंध बना लिया।

सहेली के मोबाइल से खुला राज

सहेली के मोबाइल से खुला राज

सोनम के परिजन अन्धविश्वाश में खोये रहे। लगभग डेढ़ महीने पहले सोनम घर से गायब हो गई तो गांव के ही एक व्यक्ति पर रिपोर्ट दर्ज हुई। जांच में पुलिस सोनम की गांव की ही सहेली तक पहुंची और मोबाइल से उस ओझा तक। पुलिस के अनुसार किशोरी ने बताया कि ओझा उसे डेढ़ महीने पहले अगवा कर लाया था। उसके साथ ओझा और उसके दो साथी रोज दुराचार करते थे। उसे कमरे में बंद रखा जाता था। उसे पहले कहीं और ले जाकर रखा गया था। बाद में उसे ओझा के घर लाया गया। यहां जब सोनम से ओझा व उसके सथियो का विरोध किया तो सोनम के साथ मारपीट की जाती।

क्या कहना है पुलिस का?

क्या कहना है पुलिस का?

प्रतापगढ़ के पुलिस कप्तान सगुन गौतम ने बताया की जांच पड़ताल में जब ओझा पर शिकंजा कसा गया तो मामला खुला। घर के पीछे के हिस्से में एक कमरे के अंदर बेटी कैद मिली लेकिन पुलिस को चकमा देकर ओझा भाग निकला। अब पुलिस ने किशोरी को मेडिकल के लिए अस्पताल भेजा है। जबकि ओझा के ठिकानों पर दबिश दी रही है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Tantric kidnapped the teenager for one and a half months, raped with friends
Please Wait while comments are loading...