• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

यूपी: डिप्रेशन में चल रही साध्वी ने खुद को किया आग के हवाले, लड़ चुकी हैं यहां से चुनाव

|

शाहजहांपुर। यूपी के शाहजहांपुर में शुक्रवार की रात डिप्रेशन की शिकार साध्वी ने कमरे के अंदर खुद को आग के हवाले कर दिया। कमरे से उठता धुंआ और चीख-पुकार सुनकर परिवार के लोगों ने साध्वी को कमरे से बाहर निकाला लेकिन तब तक वह काफी ज्यादा जल चुकी थी। उनको आनन-फानन मे बरेली के अस्पताल मे भर्ती कराया जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। करीब डेढ़ साल पहले उन्होंने मन कामेश्वर मठ से दीक्षा ली थी। साध्वी 2012 में पीस पार्टी से विधानसभा चुनाव लड़ चुकी हैं और इस वक्त उनके उपर धोखाधड़ी के कई मुकदमे दर्ज हैं और इन मुकदमों के चलते वह जेल भी जा चुकी हैं। पिछले कई दिनों से वह डिप्रेशन की शिकार थीं।

यूपी: डिप्रेशन में चल रही साध्वी ने खुद को किया आग के हवाले, लड़ चुकी हैं यहां से चुनाव

यह कोतवाली तिलहर के बहादुरगंज की घटना है। यहां साध्वी कोयल गिरी अपने परिवार के साथ रहती थी। जानकारी के मुताबिक शुक्रवार की रात साध्वी लखनऊ से अपने घर पहुंची थीं। घर पहुंचने के बाद उन्होंने परिवार के किसी भी सदस्य से बात किए बगैर वह कमरे में गईं और उन्होंने खुद को आग के हवाले कर दिया। कमरे से जब धुंआ निकला उसके बाद परिवार के लोगों ने आग को बुझाकर साध्वी को गंभीर हालत मे सीएचसी में भर्ती कराया। हालत गंभीर होने पर उन्हें बरेली रेफर कर दिया गया। बताया जा रहा है कि लंबे वक्त से साध्वी कोयल गिरी डिप्रेशन का शिकार थी। उनके उपर जमीन को लेकर कई धोखाधड़ी के मुकदमे दर्ज थे और वह इन मुकदमों में जेल भी जा चुकी हैं। जेल से छूटने के बाद साध्वी काफी डिप्रेशन में चल रही थीं। आग लगाने से पहले वह किसी से फोन पर बात भी कर रही थीं। फिलहाल साध्वी की हालत बेहद गंभीर बनी हुई है।

यूपी: डिप्रेशन में चल रही साध्वी ने खुद को किया आग के हवाले, लड़ चुकी हैं यहां से चुनाव

साध्वी कोयल गिरी का नाम सीमा वर्मा है। उन्होंने करीब डेढ़ साल पहले लखनऊ में मन कामेश्वर मठ से दीक्षा ली थी। उसके बाद सीमा वर्मा से वह साध्वी कोयल गिरी बन गई थीं। उसके बाद वह लखनऊ के मनोकरण मंदिर की साध्वी बन गईं। साध्वी कोयल गिरी 2012 मे पीस पार्टी से तिलहर विधानसभा से चुनाव भी लड़ चुकी हैं। चुनाव में उनको 6000 हजार वोट मिले थे। उस वक्त राजनीति में उनकी अच्छी पहचान बन चुकी थी। लेकिन उसके बाद जमीन के मामले मे उनके उपर कई धोखाधड़ी के मुकदमे दर्ज हुए और उनको कुछ माह जेल भी काटनी पड़ी थी। जिसके बाद वह धीरे-धीरे अपनी पहचान खोने लगीं और जेल से छूटने के बाद वह डिप्रेशन मे रहने लगी थीं। तिलहर इंस्पेक्टर अशोक पाल का कहना है कि सीमा वर्मा नाम की एक साध्वी हैं उन्होने कमरे में खुद को आग लगा ली है। वह बरेली मे भर्ती हैं। वह डिप्रेशन का शिकार थीं। पुलिस उनके घर पहुची थी, लेकिन उनके घर कोई नहीं मिला।

ये भी पढ़ें:- यूपी: उद्धव ठाकरे के अयोध्या आगमन पर शहर भर में दिखे अनोखे पोस्टर, आप भी देखें

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
sadhvi destruct herself in shahjahanpur
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X