India
  • search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

रामपुर लोकसभा उपचुनाव: BJP पलटेगी बाजी या आजम का रसूख रहेगा कायम, जानिए पूरी चुनावी गणित

|
Google Oneindia News

लखनऊ, 22 जून: उत्तर प्रदेश की रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा सीटों पर उपचुनाव 23 जून को होना है। चुनाव प्रचार समाप्त हो चुका है। यूं कहें तो पूरे देश की निगाहें आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीटों पर टिकी हैं क्योंकि दोनों सीटें ही हाइप्रोफाइल हैं। दोनों सीटें 2019 में समाजवादी पार्टी के खाते में चली गईं थीं। समाजवादी पार्टी के सामने फिर से अपनी दोनों सीटें जीतने की चुनौती है, वहीं हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में बहुमत हासिल करने वाली बीजेपी इन दोनों सीटों पर जीत की पूरी कोशिश कर रही है। उत्तर प्रदेश में इस बार कांग्रेस ने दोनों लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार नहीं उतारे हैं जबकि बहुजन समाज पार्टी ने आजमगढ़ में ही अपना उम्मीदवार उतारा है जिससे आजमगढ़ का उपचुनाव और रोचक हो गया है।

क्या कहते हैं पिछले चुनावी आंकड़े

क्या कहते हैं पिछले चुनावी आंकड़े

रामपुर लोकसभा उपचुनाव में कुल 5 विधानसभा सीटें हैं। 2022 के विधानसभा चुनाव में इन 5 सीटों में से बीजेपी को दो और सपा को तीन सीटें मिली थीं। जेल में रहते हुए आजम खान ने रामपुर सदर विधानसभा सीट जीती थी जबकि उनके बेटे अब्दुल्ला आजम ने स्वार विधानसभा सीट से जीत हासिल की है। वहीं चमरौआ विधानसभा सीट से नसीर अहमद खान ने जीत हासिल की थी। बीजेपी ने बिलासपुर और मिलक सीटों पर जीत हासिल की थी।

सपा-बीजेपी में होगा घमासान

सपा-बीजेपी में होगा घमासान

रामपुर की इन पांच विधानसभा सीटों पर बीजेपी को 407000 वोट मिले जबकि सपा को 552000 वोट मिले। इस मुकाबले पर नजर डालें तो विधानसभा में बीजेपी से 144000 ज्यादा वोट मिले हैं. वहीं कांग्रेस और बसपा के चुनावी मैदान में न होने के कारण दोनों पार्टियों के अपने फायदे और नुकसान हैं. जबकि रामपुर के नवाब परिवार ने कांग्रेस के चुनाव न लड़ने के फैसले को लेकर भाजपा प्रत्याशी घनश्याम लोधी को चुनाव में अपना समर्थन दिया है।

रामपुर में बीजेपी ने कई मंत्रियों को मैदान में उतारा

रामपुर में बीजेपी ने कई मंत्रियों को मैदान में उतारा

बीजेपी ने रामपुर लोकसभा सीट पर जीत दर्ज करने के लिए सरकार के कई मंत्रियों को मैदान में उतारा है. रामपुर में ही वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद, पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह, औद्योगिक विकास मंत्री जसवंत सैनी, कौशल विकास मंत्री कपिल देव अग्रवाल, राज्य मंत्री बलदेव ओलख के अलावा संदीप सिंह, बीएल वर्मा, राकेश सचान ने डेरा डाला. डाला जाता है। इसके अलावा उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने रविवार को रामपुर में चुनावी सभा की है।

क्या है रामपुर का जाति समीकरण

क्या है रामपुर का जाति समीकरण

रामपुर लोकसभा सीट के अंतर्गत कुल पांच विधानसभा सीटें आती हैं। इसमें रामपुर, स्वर और चमरौआ मुस्लिम बहुल सीटें हैं। 2022 के विधानसभा चुनाव में इन तीनों सीटों पर सपा ने जीत हासिल की थी। तीनों सीटों पर मुस्लिम वोटरों की संख्या 50 फीसदी से ज्यादा है। रामपुर सीट पर 63 फीसदी, स्वर सीट पर 55 फीसदी और चमरौआ सीट पर 53 फीसदी मुस्लिम वोटर हैं। बिलासपुर सीट पर भी 30 फीसदी मुस्लिम वोटर हैं. इसके अलावा मिलक सीट पर लोध मतदाताओं की अच्छी संख्या है।

यह भी पढ़ें-यूपी विधानसभा उपाध्यक्ष बने सपा विधायक नितिन अग्रवाल, मिले 304 वोटयह भी पढ़ें-यूपी विधानसभा उपाध्यक्ष बने सपा विधायक नितिन अग्रवाल, मिले 304 वोट

Comments
English summary
Rampur Lok Sabha by-election: BJP will reverse or Azam's influence will remain
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X