• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

देशभर के 25 हजार संतों को पीएम मोदी भेजेंगे काशी विश्वनाथ की पाती, जानिए क्यों उठाने जा रहे ऐसा कदम

|
Google Oneindia News

लखनऊ, 27 अक्टूबर: उत्तर प्रदेश में आने वाले चुनाव से पहले बीजेपी अपना हर मास्टर स्ट्रोक खेल रही है जिससे उसको फायदा हो सकता है। इसी तरह मोदी पिछले एक महीने से यूपी के दौरे पर लगातार आ रहे हैं। मोदी ने एक तरफ जहां कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का शुभारम्भ किया था वहीं दूसरी तरफ जेवर एयरपोर्ट का शिलान्यास किया था। अब पीएम मोदी अपने ड्रीम प्रोजेक्ट का शुभारंभ करने 13 दिसंबर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी आ रहै हैं। बीजेपी सूत्रों की माने तो शुभारंभ की तैयारियां की जा रही हैं और इसके लिए देशभर के 25 हजार संतों को पीएम की तरफ से पाती भी भेजाएगी। बीजेपी की कोशिश इस कार्यक्रम को देश का सबसे बड़ा सांस्कृतिक अनुष्ठान बनाने की है।

कार्यक्रम से पहले कॉरिडोर को दिया जा रहा फिनिशिंग टच

कार्यक्रम से पहले कॉरिडोर को दिया जा रहा फिनिशिंग टच

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 13 दिसंबर को उद्घाटन होने से पहले गंगा और वाराणसी के काशी विश्वनाथ मंदिर को जोड़ने वाले काशी विश्वनाथ कॉरिडोर को अंतिम रूप दिया जा रहा था। श्री काशी विश्वनाथ विशेष क्षेत्र विकास बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील वर्मा ने कहा कि कॉरिडोर के साथ 24 भवनों का निर्माण किया गया है और कॉरिडोर को फिनिशिंग टच दिया जा रहा है जो दिसंबर के दूसरे सप्ताह तक पूरी तरह से तैयार हो जाएगा।

सोमवार को एक दिन में 50 हजार श्रद्धालु करते हैं दर्शन

सोमवार को एक दिन में 50 हजार श्रद्धालु करते हैं दर्शन

कॉरिडोर के साथ इमारतों की दीवारों पर श्लोक और वैदिक भजन उकेरे जा रहे हैं। इसी अनुमानित कीमत लगभग ₹1,000 करोड़ है। मंदिर में सालाना सात मिलियन से अधिक भक्त और पर्यटक आते हैं। औसतन, 10,000 से अधिक भक्त, ज्यादातर वाराणसी और आसपास के क्षेत्रों से, इसमें प्रतिदिन आते हैं। सोमवार को, 40,000 से 50,000 से अधिक लोग मंदिर में पूजा-अर्चना करते हैं। श्रावण (जुलाई-अगस्त) के पवित्र महीने के दौरान सोमवार को यह संख्या 30,00,000 हो जाती है।

 कॉरिडोर में स्काई बीम लाइट सिस्टम भी लगाया गया है

कॉरिडोर में स्काई बीम लाइट सिस्टम भी लगाया गया है

दरअसल, 5.5 लाख वर्ग फीट में बने इस कॉरिडोर ने मंदिर परिसर को कम कर दिया है, जो पहले तीन तरफ से इमारतों से घिरा हुआ था। 10,000 लोगों के ध्यान के लिए 7,000 वर्ग मीटर से अधिक का मंदिर मंच, सात भव्य प्रवेश द्वार, एक कैफेटेरिया, एक फूड कोर्ट, एक वैदिक और आध्यात्मिक पुस्तकालय, एक पिक्चर गैलरी, पर्यटन केंद्र, एक बहुउद्देश्यीय हॉल और एक सुरक्षा हॉल हिस्सा हैं। कॉरिडोर के साथ एक विशेष स्काई बीम लाइट सिस्टम भी लगाया जा रहा था।

पीएम ने 2019 में रखी थी कॉरिडोर की नींव

पीएम ने 2019 में रखी थी कॉरिडोर की नींव

मोदी ने मार्च 2019 में इस कॉरिडोर की नींव रखी। परियोजना के लिए जगह बनाने के लिए 300 से अधिक इमारतों को खरीदा और ध्वस्त किया गया। उत्तर प्रदेश सरकार ने इस पर काम तेज करने के लिए बोर्ड का गठन किया था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीन दर्जन बार इस पर काम का निरीक्षण किया है। साइट में पहले से ही सीसीटीवी, पावर स्लाइडिंग गेट, समर्पित बम निरोधक दस्ते और परिसर के अंदर एक नियंत्रण कक्ष के साथ एक फायर ब्रिगेड का एक जटिल नेटवर्क है। अग्रवाल ने कहा कि विस्तारित परिसर में मौजूदा सुरक्षा उपकरणों का उपयोग नए गैजेट्स के साथ किया जाएगा।

 योगी सरकार के भी एजेंडे में था यह प्रोजेक्ट

योगी सरकार के भी एजेंडे में था यह प्रोजेक्ट

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के सत्ता में आने के बाद 700 करोड़ रुपये की केवी धाम परियोजना शुरू की गई थी और सुरक्षा व्यवस्था में बाधा बनने वाली जर्जर इमारतों का सर्वेक्षण करने और उन्हें गिराने के लिए एक स्थायी समिति गठित करने की एक प्रमुख मांग पूरी की गई थी। मालिकों को मुआवजा देकर करीब 396 इमारतों को हटाया गया। इस परियोजना के नवंबर अंत तक पूरा होने की उम्मीद की जा रही थी।

यह भी पढ़ें-5000 से कम मार्जिन से जीती हुई सीटों पर भी रणनीति बनाने में जुटी BJP, जानिए क्या है प्लानिंगयह भी पढ़ें-5000 से कम मार्जिन से जीती हुई सीटों पर भी रणनीति बनाने में जुटी BJP, जानिए क्या है प्लानिंग

English summary
PM Modi will send Kashi Vishwanath to 25 thousand saints across the country, know the deep secret behind it
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X