फर्जी इंजीनियर बनकर की शादी, जब राज खुला तो फांसी पर झूलती मिली विवाहिता

By: अमरीष मनीष शुक्ला
Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। फर्जी इंजीनियर बनकर पहले लड़की के घर वालों को भरोसा में लिया गया। शादी हुई तो लाखों रूपये दहेज में ऐठें गये। लड़का हर रोज सुबह ऑफिस जाता और शाम को लौट आता। लेकिन महीनों बाद भी एक रूपये पत्नी को नहीं दे सका। महीने साल में बदल गये और जब दहेज में मिला पैसा खत्म हो गया तो विवाहिता से पैसों की डिमांड की गई । फिर रोज प्रताड़ना शुरू हुई। घरवालों तक बात पहुंची तो लड़के के कामकाज पर शक हुआ। जब लड़के का सच सामने आया तो सब के होश उड़ गये।

suicide फर्जी इंजीनियर बनकर कर ली शादी, जब राज खुला तो फांसी पर झूलती मिला विवाहिता का शव

लड़का बेरोजगार था और हर रोज दहेज के पैसे उड़ाता रहा। लड़की की तो मानो जिंदगी ही खत्म हो गई थी। लेकिन दो बच्चों का चेहरा देखकर वह सबकुछ सहती रही। लेकिन पति की पैसे की मांग बढ़ती रहीं और वह शराब के नशे में रोज उसे पीटने लगा। इस सबसे तंग आकर विवाहिता ने बेडरूम में फांसी लगा जान दे दी। मामला इलाहाबाद के कर्नलगंज इलाके का है। पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है। लड़की के घरवालों की तहरीर पर पति समेत ससुराल पक्ष पर हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है।

6 साल पहले हुई थी शादी

बात लगभग 6 साल पहले की है। आरती की शादी लोकेन्द्र मणि से हुई थी। सबको यही पता था कि बीटेक कर लोकेन्द्र इंजीनियर बनने वाला है। शादी के दहेज में 6 लाख रुपये कैश भी लोकेन्द्र को मिला और कुछ समय बाद वह बतौर इंजीनियर ऑफिस भी जाने लगा। लेकिन वह कहां जाता था क्या करता था किसी को पता नही था। यह कम आश्चर्यजनक नहीं कि सालो तक किसी को पता ही नहीं चला की लड़का इंजीनियर के नाम पर फ्राड कर रहा है। लेकिन अब आरती की मौत के बाद फूट-फूट कर बिलख रहे परिजन पूरी दुनिया को लोकेन्द्र का सच बता रहे हैं।

दो बच्चों का हाल बेहाल

पुलिस जब मौके वारदात पर पहुंची तो घटनास्थल संदेहास्पद था। आरती का शव बेड पर था। एक साड़ी चुल्ले से लटकर रही थी। लोकेन्द्र ने बताया कि जब उसने फंदे से पत्नी को नीचे उतारा तब तक वह मर चुकी थी। घटना के बाद 5 साल के बेटे टीटू और डेढ़ साल की बेटी अविका बिलख रहे हैं। इनका क्या होगा, इनके भविष्य का क्या होगा यह सोचकर परिजन भी आंसू बहा रहे हैं। घटना के बारे में पुलिस ने बच्चो से पूछा पर रो रहे बच्चे कुछ बोल न सके।

परिजनों ने दर्ज कराया मुकदमा

कर्नलगंज कोतवाली में आरती के चाचा नागेंद्र ने हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है । जिसमे लोकेंद्र, जेठ बिक्की और सास सुभद्रा देवी नामजद है। इंस्पेक्टर कर्नलगंज सच्चिदानंद त्रिपाठी ने बताया कि मामला सीधा नहीं है। आरती को पीटा जाता था। उसकी मोबाइल आदि भी तोड़ दी गई थी । जांच की जा रही है। पीएम रिपोर्ट काफी कुछ तय कर देगी।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Man Married as fake engineer, wife suicide after knowing the truth
Please Wait while comments are loading...