PICs: आर्मी चीफ बिपिन रावत ने काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचकर बताई भारतीय हथियारों की हकीकत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

वाराणसी। धार्मिक नगरी वाराणसी में थल सेना अध्यक्ष बिपिन रावत ने आज विश्व प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन किया। जनरल रावत '9 गोरखा राइफल्स' की स्थापना के 200 साल पूरे होने के अवसर पर आयोजित तीन दिवसीय समारोह में रावत भाग लेने यहां आए थे। बिपिन रावत ने शुक्रवार को सुबह अपनी धर्मपत्नी के साथ काशी विश्वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की। इस मौके पर पूरे रास्ते कड़ी सुरक्षा व्यवस्था रही। गोरखा रायफल्स अपनी स्थापना के गौरवशाली 200 साल पूरे कर रहा है। सेनाध्यक्ष ने कल शाम को दशाश्वमेध घाट पर विश्व विख्यात गंगा आरती में सपरिवार हिस्सा लिया और दीपदान भी किया। जनरल रावत बजड़े पर सवार होकर गंगा आरती देखने पहुंचे। उनकी पत्नी ने भी गंगा में दीपदान किया।

Indian Army Chief Bipin Rawat explain army Strength in Varanasi
Indian Army Chief Bipin Rawat explain army Strength in Varanasi

अपने इस दौरे में सेना अध्यक्ष बिपिन रावत ने कहा भारतीय सेना के पास हथियारों की कोई कमी नहीं है। रावत ने कहा कि हथियारों को अपग्रेड होती टेक्नॉलजी के हिसाब से मॉडर्न बनाना है। बिपिन रावत ने आगे कहा कि हम सेना में नई और मॉडर्न तकनीक लाने का प्रयास कर रहे हैं।

Indian Army Chief Bipin Rawat explain army Strength in Varanasi
Indian Army Chief Bipin Rawat explain army Strength in Varanasi

रावत ने कहा कि 'सेना के पास हथियारों की कोई कमी नहीं है। हमें हथियारों को तकनीक के हिसाब से अपडेट करते रहना होगा और हम ऐसा करने की कोशिश कर भी रहे हैं।' जम्मू कश्मीर के बारे में बोलते हुए उन्होंने कहा कि पत्थरबाजी की घटनाओं में कमी आई है। सेना, बीएसएफ, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस साथ मिलकर काम कर रहे हैं।

Read more: बिहार शौचालय घोटाला: SBI बैंक का मैनेजर गिरफ्तार, बक्सर में SIT की छापेमारी से पर्दाफाश

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Indian Army Chief Bipin Rawat explain army Strength in Varanasi
Please Wait while comments are loading...