• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

यूपी के सियासी समर में हर दल ने दी है चुनावी गीतों को धार, जानिए जनता पर कितना पड़ेगा असर

|
Google Oneindia News

लखनऊ, 12 जनवरी: उत्तर प्रदेश में एक तरफ जहां सभी राजनीतिक दल चुनावी तैयारियों में जुटे हैं वहीं दूसरी ओर अब राजनीतिक दलों का झुकाव ऐसे गानों की तरफ भी हो रहा है जिससे जनता के बीच माहौल बनाकर उन्हें पार्टी की तरफ आकर्षित किया जा सके। हालांकि चुनाव आयोग ने कोरोना की लहर के चलते रैलियों और कार्यक्रमों पर रोक लगा दी है जिसके बाद राजनीतिक दलों ने मतदाताओं को लुभाने के लिए संगीत का रास्ता अपनाया है और समर्थकों का मूड उठाने, अपने नेताओं की प्रशंसा करने और अपने विरोधियों को हल्की-फुल्की चेतावनी जारी करने के लिए गीतों पर मंथन कर रहे हैं।

बीजेपी

गोरखपुर के एक रिकॉर्डिंग स्टूडियो के मालिक कन्हैया श्रीवास्तव के मुताबिक, उनके पास गायकों और संगीतकारों की एक टीम है जो विभिन्न राजनीतिक दलों के लिए गाने बना रहे हैं। "हम चुनाव आयोग द्वारा जारी किए गए कोविड -19 दिशानिर्देशों के आलोक में इस बार अच्छे कारोबार की उम्मीद कर रहे हैं। सभी पार्टियों के लिए गाने तैयार किए जा रहे हैं और हाल ही में हमने कांग्रेस के लिए एक गाना रिकॉर्ड किया है।

वहीं, यूपी बीजेपी के सोशल मीडिया हेड अंकित चंदेल ने कहा कि पार्टी ने आधिकारिक तौर पर कोई गाना नहीं बनाया है, लेकिन सदस्य अपने दम पर गाने रिलीज करने के लिए आगे आए हैं। "भाजपा के पास प्रतिबद्ध और प्रतिभाशाली कार्यकर्ताओं की मेजबानी है। उनमें से कुछ गायक हैं और उन्होंने अभियान के लिए गाने तैयार किए हैं। पार्टी ने कुछ गानों का चयन किया है जो पार्टी के कार्यक्रमों और बैठकों में बजाए जाएंगे।

शादियों सहित विभिन्न कार्यक्रमों और समारोहों में कई गाने बजाए जा रहे हैं। पार्टी सदस्य सुनील यादव द्वारा जारी एक 'चिंता छोड़ो बाईस की, तय्यारी करो सफाई की' है। समाजवादी पार्टी के सांस्कृतिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष धर्मेंद्र सोलंकी ने कहा कि उन्होंने पार्टी के साथ अपने 23 वर्षों के जुड़ाव में 1,000 से अधिक गीतों की रचना की है। कुछ साल पहले उनके द्वारा रचित एक गीत नेपाल में एफएम चैनलों द्वारा उठाया गया था और यह सीमावर्ती क्षेत्रों में हिट हो गया था।

उन्होंने कहा कि, "इस चुनाव के लिए हमने अब तक कुछ गानों को रिलीज़ किया है, जिनमें 'बटन दबेगा साइकिल का, सुल्तान बदलने वाला है, बाइस में यूपी का परिणम बदलने वाला है' और 'आएगा जब नतीजा तो अखबार देखना, इस बार साइकिल का कमाल देखना' शामिल हैं। इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'मैं अपने गानों के जरिए लोगों की आवाज उठाता हूं। मैंने आवारा पशुओं की समस्या पर एक गीत लिखा था- 'चाहे कुछ भी तुम कर लो जुड़वा बाबाजी, तुमको वापस करेंगे तेरे सांड बाबाजी'।

गोरखपुर के भोजपुरी गायक सूरज मिश्रा व्यास ने 2017 में योगी आदित्यनाथ के समर्थन में एक गाना रिलीज किया था जो हिट हुआ था। उन्होंने सीएम के लिए अपने नए गाने का टीजर जारी किया था। व्यास ने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनाव के बाद, मैंने योगी आदित्यनाथ पर एक गाना रिकॉर्ड किया, 'सगरो यूपी वालों को ऊपर मिलाल बा, योगी बाबा जैसा सीएम दमदार मिलाल बा'। इसे 3.5 लाख से अधिक बार देखा गया।"

उन्होंने कहा, 'मैं सिर्फ बीजेपी के लिए गाने बना रहा हूं। योगी आदित्यनाथ के लिए मेरी नई रचना 'विकास देख कर दिल हुआ दीवाना, सुनो जी फिर से योगीजी को लाना' है। गीत को सलेमपुर के डॉ शशिकांत मिश्रा ने संगीतबद्ध किया है। अनुराग सुमन के अलावा, प्रमुख भोजपुरी गायक दिनेश लाल यादव उर्फ ​​निरहुआ ने भी एक गाना 'आयेंगे तो योगी ही' जारी किया है। संदीप आचार्य का गाना 'यूपी में गुंडई करोगे तो औकात दिखा दूंगा, गोरखपुर वाले बाबा हैं, घर नीलाम करा दूंगा' भी लोकप्रिय हो गया है।

पूर्व सपा एमएलसी आशु मलिक, जिन्होंने कम से कम पांच गीतों की रचना की है, ने कहा कि पार्टी कार्यकर्ता और नेता संगीतमय दिमाग से गाने की रचना कर रहे थे। "हमने एक गाना जारी किया है, 'जनता पुकारती है अखिलेश आई' जिसे अल्तमस फरीदी ने गाया है और सहारनपुर के एक कवि बिलाल ने लिखा है। मुलायम सिंह यादव की प्रशंसा में एक और गीत है, 'तेरी अलग सबसे यहां बात मुलायम'। हमने पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के लिए एक गाना 'लीडर जो सबको ले कर साथ चले' भी तैयार किया है।

ह भी पढ़ें-चुनाव से ठीक पहले टूट रहा बीजेपी का तिलिस्म, क्या पिछड़ों का हो रहा पार्टी से मोहभंगह भी पढ़ें-चुनाव से ठीक पहले टूट रहा बीजेपी का तिलिस्म, क्या पिछड़ों का हो रहा पार्टी से मोहभंग

English summary
n the political season of UP, every party has given edge to the election songs.
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X