• search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

किसान सम्मेलन में CM योगी ने की गन्ना मूल्य बढ़ोतरी की घोषणा, समर्थन मूल्य 325 से बढ़ाकर किया 350 रुपए

By Vidya Shankar Rai
|
Google Oneindia News

लखनऊ, 26 सितंबर: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ ने किसान सम्मेलन को संबोधित करते हुए विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। साथ ही, किसानों के हित में कई महत्वपूर्ण घोषणाएं भी की। प्रदेशभर से आए किसानों को संबंधित करते हुए प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ बहुप्रतीक्षित गन्ना मूल्य बढ़ोत्तरी की घोषणा की। उन्होंने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि गन्ना के समर्थन मूल्य जो पहले 325 था उसे बढ़ा दिया गया है। अब गन्ने का समर्थन मूल्य 350 रुपए है। बता दें, विगत तीन साल से अधिक समय से गन्ना मूल्य में बढ़ोत्तरी नहीं हुई थी।

    CM Yogi Adityanath का ऐलान, Sugarcane के समर्थन मूल्य में 25 रुपये की बढ़ोतरी | वनइंडिया हिंदी
    CM Yogi Adityanath announced sugarcane price hike in farmers conference

    किसान सम्मेलन को संबोधित करते हुए रविवार 26 सितंबर को सीएम योगी ने कहा कि पिछली सरकारों के एजेंडे में किसान नहीं था। पिछली सरकारों ने यूपी की चीनी मिलों को बेचने का पाप किया था, जिसकी भरपाई बीजेपी की सरकार ने की। आज किसान सरकार के एजेंडे में शामिल है। उन्होंने बोलते हुए कहा कि पिछली सरकारों ने किसानों के हितों में कोई फैसला नहीं लिया। लेकिन हमने सरकार बन के बाद गन्ना किसानों के लिए कई कदम उठाए गए। कहा कि पुरानी सरकारों ने जिन चीनी मिलों को बेच दिया या बंद कर दिया था। उन्हें बीजेपी की सरकार ने फिर से शुरू करने का काम किया।

    सीएम योगी ने कहा कि सरकार बनी तो गन्ना किसानों का काफी बकाया था। गन्ने का रकबा लगातार घटता जा था। चीनी मालिकों से मिलकर बंद पड़ी मिलों को शुरू किया गया। सरकार ने 119 चीनी मिलों को शुरू करने का काम किया। कहा कि सपा और बीएसपी सरकारों ने गन्ना किसानों के साथ काफी मजाक किया। दोनों सरकारों के पाप की वजह से किसान आत्म हत्या करने के लिए मजबूर हो गए। उन्होंने कहा कि विपक्ष ने हमेशा किसानों को गुमराह करने का काम किया। हमेशा किसानों के साथ सौतेला व्यवहार किया। हमारी सरकार में किसान ने आत्महत्या नहीं की।

    उन्होंने बोलते हुए कहा कि जब किसान आत्महत्या कर रहा था, तब सपा, बसपा और कांग्रेस के लोग कहां थे? सीएम योगी ने कहा कि बहुजन समाजवादी सरकार के दौरान 21 चीनी मिलें बंद हुई थीं। उन्होंने औने-पौने दामों पर चीनी मिलों को बेच दिया था। 250-300 करोड़ रुपए की चीनी मिलों को 25-30 करोड़ रुपए में बेचने का काम हुआ था। समाजवादी पार्टी की सरकार में 11 चीनी मिलें बंद हुई थीं। हमने बंद चीनी मिलों को चलाने का काम किया। सपा, बीएसपी सरकारों ने जिन चीनी मिलों को बेचने का काम किया था उनमें से जो चीनी मिलें वापस आ सकती थी हमने उनमें नए संयंत्र लगाकर शुरू किया।

    ये भी पढ़ें:- संजय निषाद ने किया दावा, BJP ने जितनी सीटों का रखा है लक्ष्य, निषाद पार्टी उससे ज्यादा सीटें जीताएगीये भी पढ़ें:- संजय निषाद ने किया दावा, BJP ने जितनी सीटों का रखा है लक्ष्य, निषाद पार्टी उससे ज्यादा सीटें जीताएगी

    किसान सम्मेलन में बोलते हुए सीएम योगी ने कहा कि अगर हम गेहूं खरीद की बात करें तो पिछली सरकार ने 19,02,098 किसानों को 12,808 करोड़ रुपए का भुगतान किया था। हमारी सरकार ने 43,75,574 किसानों को 36,504 करोड़ रुपए का गेहूं भुगतान उनके खाते में किया। पिछले 4.5 सालों के अंदर हमने किसानों से अन्न की रिकॉर्ड खरीद की है। इससे पहले की सरकारें भी कर सकती थीं। पिछली सरकारों से पूछना चाहिए कि उन्होंने किसानों से अन्न खरीदने की व्यवस्था क्यों नहीं की?

    English summary
    CM Yogi Adityanath announced sugarcane price hike in farmers' conference
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X