India
  • search
उत्तर प्रदेश न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

योगी का एक और ड्रीम प्रोजेक्ट पूरा होने के कगार पर पहुंचा, जानिए कब होगा इसका शुभारंभ

|
Google Oneindia News

लखनऊ, 22 जून: उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के पहले कार्यकाल में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे के साथ ही बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे की नींव भी रखी गई थी। पूर्वांचल एक्सप्रेस वे को यूपी विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पीएम मोदी ने जनता को समर्पित किया था। चुनाव के बाद योगी फिर पुर्ण बहुमत की सरकार बना चुके हैं और अब उनका दूसरा ड्रीम प्रोजेक्ट यानी बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे जल्द ही पूरा होने वाला है। गृह विभाग और यूपीडा के सूत्रों की माने तो जुलाई के दूसरे सप्ताह में इसका शुभारंभ किया जा सकता है। हालांकि अधिकारियों की माने तो 13 जुलाई की तारीख तय की जा सकती है।

एक्सप्रेस वे

बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का 95 फीसदी काम पूरा

उत्तर प्रदेश में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन जुलाई के दूसरे सप्ताह में होने की संभावना है क्योंकि परियोजना पर 95 प्रतिशत से अधिक काम पूरा हो चुका है। यह परियोजना उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (UPEIDA) द्वारा क्रियान्वित की जा रही है। यूपीडा के अधिकारियों की माने तो बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का उद्घाटन जुलाई के दूसरे सप्ताह में होने की संभावना है। अधिकारियों ने बताया कि निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। 95 प्रतिशत से अधिक काम पूरा हो चुका है।

296 किलोमीटर लंबा है यह एक्सप्रेस वे

दरअसल 296 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेसवे का प्रस्ताव मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पहली बार पदभार ग्रहण करने के कुछ महीने बाद अप्रैल 2017 में प्रस्तावित किया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 29 फरवरी 2020 को एक्सप्रेस-वे के निर्माण की आधारशिला रखी थी। कोविड -19 प्रेरित प्रतिबंधों की दो लहरों और 2021 में एक भीषण बारिश के मौसम के बावजूद, उत्तर प्रदेश सरकार ने नींव रखने के बाद से 27 महीनों के भीतर 94 प्रतिशत से अधिक काम पूरा कर लिया है।

बुंदेलखंड के विकास में तेजी लाएगा यह प्रोजेक्ट

बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे चित्रकूट जिले में झांसी-प्रयागराज राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या -35 पर भरतकूप के पास शुरू होता है और आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर इटावा जिले के गांव कुदरैल के करीब समाप्त होता है। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने बुंदेलखंड क्षेत्र में विशेष रूप से चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर और जालौन जैसे कम विकसित जिलों में विकास में तेजी लाने के लिए इस एक्सप्रेसवे को लिया है। यह एक्सप्रेसवे छह लेन चौड़ा ढांचे के साथ चार लेन (छह लेन तक विस्तार योग्य) होगा।

7700 करोड़ की लागत आने का अनुमान

एक्सप्रेस-वे के एक तरफ 3.75 मीटर चौड़ी सर्विस रोड का निर्माण कंपित रूप में किया जाएगा ताकि परियोजना क्षेत्र के आसपास के गांवों के निवासियों को सुगम परिवहन सुविधा मिल सके। निर्माण लागत 7,700 करोड़ रुपये से अधिक होने का अनुमान है। इस प्रोजेक्ट को छह पैकेज में बांटा गया है। एप्को इंफ्राटेक, अशोका बिल्डकॉन, गावर कंस्ट्रक्शन और दिलीप बिल्डकॉन जैसे डेवलपर्स के साथ अनुबंध किए गए हैं। एक्सप्रेसवे के निर्माण के साथ, बुंदेलखंड क्षेत्र आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे और यमुना एक्सप्रेसवे से एक तेज और सुगम यातायात गलियारे से जुड़ा होगा, इस प्रकार राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर दिल्ली) से जुड़ा होगा।

यह भी पढ़ें-आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव: अखिलेश ने प्रचार में न जाकर किया धर्मेंद्र के साथ ''विश्वासघातयह भी पढ़ें-आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव: अखिलेश ने प्रचार में न जाकर किया धर्मेंद्र के साथ ''विश्वासघात" ?

Comments
English summary
Another dream project of Yogi reached the verge of completion
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X