आत्महत्या करने नैनी ब्रिज पर चढ़े छात्र को 7 घंटे लगे मनाने में,BJP विधायक के कॉलेज प्रशासन से नाराज

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

इलाहाबाद। प्रवेश पत्र के नाम पर धन उगाही के विरोध में छात्र 7 घंटे तक नैनी पुल के पिलर पर चढ़ा रहा, इस दौरान जमकर हंगामा हुआ। प्रशासन द्वारा घंटों कोशिश की गई, आश्वासन दिया गया जिसके बाद उसे नीचे उतारा जा सका। इलाहाबाद के बारा विधानसभा से डॉ. अजय भारती भाजपा के विधायक हैं। सत्तारूढ़ दल के नेता का किशोरी लाल बीटीसी कॉलेज है जिसमें परीक्षा होनी थी।

Read more: अधिकारी बैठे अर्द्धकुंभ तैयारियों की समीक्षा करने तो डकार गए लाखों का नाश्ता-पानी

आत्महत्या करने नैनी ब्रिज पर चढ़े छात्र को 7 घंटे लगे मनाने में,BJP विधायक के कॉलेज प्रशासन से नाराज

जब कुछ छात्र परीक्षा देने के लिए प्रवेश पत्र लेने कॉलेज पहुंचे तो कॉलेज में 20 हजार रुपए की डिमांड की गई। पैसे न देने पर छात्रों को डांट-फटकारकर भगा दिया गया। जिससे नाराज एक छात्र सीधे यमुना ब्रिज के सबसे ऊंचे पिलर पर चढ़ गया। साथियों को इस बाबत खबर लगी तो पुल पर पहुंचकर कॉलेज के विरुद्ध नारेबाजी करने लगे और पुल पर जाम लग गया। पुलिस ने लाठी भांजकर आवागमन सुचारू कराया। करीब सात घंटे बाद शाम को छात्र को फायर ब्रिगेड की हाईड्रॉलिक मशीन की मदद से नीचे उतारा जा सका। छात्रों की मांगें मान ली गई हैं और प्रवेश पत्र दे दिया गया है।

आत्महत्या करने नैनी ब्रिज पर चढ़े छात्र को 7 घंटे लगे मनाने में,BJP विधायक के कॉलेज प्रशासन से नाराज

प्रवेश पत्र के लिए मांगा था पैसा

बलिया का रहने वाला पंकज इलाहाबाद के अरैल में रहकर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहा है। इस साल उसने विधायक जी के किशोरी लाल बीटीसी कॉलेज में दाखिला लिया था। मंगलवार से बीटीसी प्रथम वर्ष की परीक्षा शुरू होनी थी। दर्जनों छात्र सुबह साढ़े नौ बजे प्रवेश पत्र लेने कॉलेज पहुंचे। लेकिन कॉलेज में छात्रों से बीस हजार रुपए मांगे गए थे। जब छात्रों ने पैसा नहीं दिया तो उनका प्रवेश पत्र भी नहीं दिया गया। छात्रों ने बताया कि पैसों का इंतजाम नहीं हुआ है तो छात्रों को फटकार लगाकर भगा दिया गया।

आहत पंकज ने उठाया खौफनाक कदम

गरीब परिवार के पंकज के लिए कॉलेज की फीस भरनी ही मुश्किल थी और अब वो 20 हजार कहां से लाता। ऊपर से कॉलेज में फटकार व अपमान से आहत पंकज ने खौफनाक कदम उठा लिया। पंकज सीधे नए यमुना पुल पर पहुंच गया। वो करीब 11 बजे पुल के खंभे पर चढ़ गया। लोगों ने उसे देखा तो चीखने चिल्लाने लगे। पुलिस को भी खबर दी गई तो पंकज ने वहीं से अपनी आत्महत्या का कदम उठाने की मजबूरी बताई।

सड़क पर प्रदर्शन

पंकज के बारे में खबर फैली तो लगभग एक घंटे बाद तमाम छात्र पुल पर इकट्ठा हो गए। छात्रों ने पुल पर चक्काजाम कर दिया। जिससे आवागमन ठप हो गया और मार्ग पर जाम लग गया। हजारों वाहन जाम में फंस गए। शहर में बैरहना की तरफ, नैनी में रीवा रोड और मिर्जापुर रोड पर हजारों वाहन जहां-तहां खड़े हो गए। जाम में एम्बुलेंस भी फंस गई। पेशी से लौट रहे नैनी जेल के कैदियों ने तो जाम में लोगों से गालीगलौज कर माहौल और गर्म कर दिया।

नहीं आए विधायक

छात्र विधायक डॉ. अजय भारती को बुलाने पर अड़ गए लेकिन मौके की नजाकत को भांपते हुए विधायक जी नहीं आए। हां कालेज के कर्मचारी जरूर आ गए। जानकारी पर एसीएम तृतीय और तहसीलदार करछना पहुंचे। अफसरों ने भी इन्हें मनाने की काफी कोशिश की मगर छात्र नहीं माने। हाईड्रॉलिक मशीन से छात्र के नजदीक जाकर उसे मनाने का प्रयास चलता रहा। इसके बाद कॉलेज के कर्मचारियों ने बगैर बीस हजार रुपए लिए प्रवेश पत्र देने की बात कही तो छात्र नीचे उतरने के लिए तैयार हुए। करीब 7 घंटे तक चले इस हाईवोल्टेज ड्रामे के बाद फायर ब्रिगेड ने हाईड्रॉलिक मशीन से साढ़े 6 बजे छात्र पंकज को नीचे उतारा। इसके बाद पंकज को पुलिस नैनी कोतवाली लेकर चली गई।

Read more: एसपी के अल्टिमेटम का बड़ा असर, पुलिस ने 72 घंटे में अपहरण की गईं 27 लड़कियों को छुड़ाया

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Angered by the college administration of the BJP legislator a student climbed to Naini Bridge to commit suicide in Allahabad
Please Wait while comments are loading...