• search
उन्नाव न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप पर दर्ज हुआ मुकदमा, गंगा में बहते शवों का वीडियो किया था ट्वीट

|

उन्नाव, मई 15: गंगा नदी में बहते शवों का वीडियो और तस्वीरें ट्वीट करना रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह को भारी पड़ गया। उन्नाव पुलिस ने रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह के खिलाफ महामारी एक्ट, आपदा प्रबंधन एक्ट व आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह द्वारा किया गया ट्वीट भ्रामक है। इतना ही नहीं, पुलिस ने उन पर ट्वीट के माध्यम से जन मानस को भड़काने के प्रयास का आरोप भी लगाया है।

    Unnao में रिटायर्ड IAS सूर्य प्रताप पर FIR, गंगा में बहते शवों का Video किया ट्वीट | वनइंडिया हिंदी

    Unnao Police fir against retired IAS Surya Pratap Singh

    रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह हाल ही में गंगा नदी में उतराते शवों का वीडियो और कुछ तस्वीरें ट्वीट की थी। उन्होंने उन्नाव जिले का एक वीडियो ट्वीट करते हुए लिखा था, 'उन्नाव में गंगा के किनारे दफनाई गयी लाशें हिन्दुओं की हैं जिनका अंतिम संस्कार ग़रीबी के कारण वैदिक रीति रिवाज़ से नहीं हो सका। मौत के असली आंकड़े भी इन हिन्दू कब्रों में ही दफ़न हो गए। योगी सरकार की नाकामी के शिकार इन निर्दोषों की मौत में सकारात्मकता कहां से खोजें, मोदी जी?' जिसके बाद एसपी सिंह का ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल गया।

    सोशल मीडिया पर वायरल हुए ट्वीट के आधार पर उन्नाव सदर कोतवाली पुलिस ने रिटायर्ड आईएएस अधिकारी पर महामारी एक्ट, आपदा प्रबंधन एक्ट व आईटी एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस द्वारा दर्ज एफआईआर के मुताबिक, रिटायर्ड आईएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने एक ट्वीट में लिखा था, '67 शवों को योगी सरकार ने गंगा के तट पर जेसीबी से गड्ढा खोदकर दफन किया है। शवों का अंतिम संस्कार हिन्दू रीति रिवाज से न करना हिंदुओ के लिए कलंक जैसा है। यूपी का यह योगी मॉडल जीवित को इलाज नहीं, मृतक का अंतिम संस्कार नहीं।'

    एफआईआर के अनुसार, रिटायर्ड अधिकारी ने एक फोटो भी शेयर किया, जिसमें शव गंगा में बहते हुए जा रहे हैं। जिसको लेकर पुलिस का दावा है कि जो 100 शव गंगा में बहते हुए दिखाए जा रहे हैं, वह जनवरी 2014 का मामला है। बता दें कि 13 मई को सूर्य प्रताप सिंह ने ट्वीट करते हुए लिखा था, ''तैरती लाशों' और 'उखड़ती साँसों' का यूपी मॉडल।' इतना ही नहीं, उन्होंने योगी सरकार को सुझाव देते हुए लिखा, 'ज़िलों के नाम बदलने के क्रम में मेरे योगी जी को कुछ सुझाव : 'मुक़दमापुर, FIRगंज, अरेस्टाबाद।'

    ये भी पढ़ें:- Ghazipur: गंगा नदी में फिर मिलीं कई लाशें, डीएम ने शवों के जल प्रवाह पर लगाई थी रोकये भी पढ़ें:- Ghazipur: गंगा नदी में फिर मिलीं कई लाशें, डीएम ने शवों के जल प्रवाह पर लगाई थी रोक

    मुकदमा तोहफे में दिया है: सूर्ज प्रताप सिंह
    उन्नाव पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज होने के बाद रिटायर्ड आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने लिखा, 'आज उन्नाव में मेरे ऊपर गंभीर धाराओं में एक और मुक़दमा दर्ज कर दिया गया है। उन्नाव पुलिस का कहना है की 'तैरती लाशों' पर मेरे द्वारा किया गया ट्वीट भ्रामक है। योगी जी ने दो दिन में लगातार दो 'मुक़दमे' तोहफ़े में दिए हैं। ये 'यूपी मॉडल' की पोल खोलने का इनाम है।'

    English summary
    Unnao Police fir against retired IAS Surya Pratap Singh
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X