• search
उन्नाव न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

उन्नाव: पुलिस का खुलासा- मदरसे में पढ़ने वाले छात्रों से जबरन नहीं लगवाया गया 'जय श्री राम' का नारा

|

उन्नाव। उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में मदरसा दारुल उलूम फैज-ए-आम के छात्रों के साथ बदसलूकी और नारा लगाने के मामले में नया मोड़ आ गया है। पुलिस की मानें तो मदरसे के छात्रों से क्रिकेट खेलने को लेकर विवाद हुआ था। छात्रों से 'जय श्रीराम' के नारा नहीं लगवाया गया था। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में चार युवकों (कमल, आदित्य शुक्ला उर्फ बजरंगी और क्रांति सिंह समेत एक अज्ञात) के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज किया था। एसपी ने बताया कि दो आरोपियों को पकड़ लिया गया।

क्या है मामला

क्या है मामला

उन्नाव जिले के सदर कोतवाली क्षेत्र में मदरसा दारुल उलूम फैज-ए-आम है। 11 जुलाई को मदरसे के छात्र जीआईसी ग्राउंड पर क्रिकेट खेलने पहुंचे। आरोप है कि यहां 3-4 युवक आए और बच्चों को भलाबुरा कहते हुए कथित तौर पर ‘जय श्रीराम' बोलने को कहा। मना करने पर उन्हें बैट छीनकर पीटा गया। बच्चे बचकर भागे तो उन्हें पत्थर मारे गए। जिसमें चार छात्र को काफी चोटें आईं। तकरीबन हर लड़के का कुर्ता फाड़ दिया गया। एक लड़के की साइकल तोड़ दी गई।

घटना के बाद गरमा गया माहौल

घटना के बाद गरमा गया माहौल

घटना की जानकारी जैसे ही मदरसा दारुल उलूम फैज-ए-आम में पहुंची तो माहौल गरम हो गया। जामा मस्जिद में बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा होने लगे। घटना की जानकारी मिलते ही नगर मजिस्ट्रेट, क्षेत्राधिकारी नगर जामा मस्जिद पहुंच गए। सदर कोतवाली प्रभारी भी मय फोर्स के मौके पर पहुंचे। पुलिस ने घायल छात्रों से बातचीत की। इस संबंध में सीओ उमेश चंद्र त्यागी ने बताया कि घायल मदरसा के छात्रों का मेडिकल कराया गया है। तहरीर के आधार पर चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया था।

सड़क पर उतर आये थे लोग

सड़क पर उतर आये थे लोग

'जय श्री राम' नहीं बोलने पर पिटाई के आरोप में जामा मस्जिद के इमाम की चेतावनी के बाद शुक्रवार को हिंदू संगठन के कार्यकर्ता सड़क पर आ गए। हिंदू युवा वाहिनी के जिला प्रभारी मनीष सिंह चंदेल ने कहा कि मदरसा प्रबंधन के धमकी भरे बयानों से लोग डरे सहमे हैं। मदरसा प्रबंधक द्वारा कहे गए शब्द से यह प्रतीत होता है कि उन्हें देश के संविधान और कानून की मर्यादा की कोई परवाह नहीं है। उन्होंने एसपी से शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए मदरसा के प्रधानाचार्य के खिलाफ केस दर्ज कर गिरफ्तार करने की मांग की है। वहीं, तनाव को देखते हुए शहर में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए। कई थानों की पुलिस बुलाई गई। साथ ही पीएसी को भी शांति व्यवस्था के लिए लगाई गई।

क्या कहा पुलिस ने

पुलिस अधीक्षक एमपी वर्मा ने बताया कि दारुल उलूम फैज-ए-आम मदरसे के छात्र जीआईसी ग्राउंड पर क्रिकेट खेलने के लिए गए थे। क्रिकेट खेलने के लेकर वहां विवाद हुआ था। दूसरे पक्ष द्वारा छात्रों के साथ मारपीट की गई थी। इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कर चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दो आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। कहा कि 'जय श्री राम' के नारे लगाने की बात है इस बिंदू पर अभी तक की जांच में यह बात सामने नहीं आई है। औरैया की पुलिस मामले की जांच कर रही है।

ये भी पढ़ें:- योगी सरकार ने अमेठी समेत 9 जिलों के डीएम बदले, 26 IAS अफसरों का भी किया तबादलाये भी पढ़ें:- योगी सरकार ने अमेठी समेत 9 जिलों के डीएम बदले, 26 IAS अफसरों का भी किया तबादला

English summary
Jai shri ram slognes not imposed on madarsa students says up police
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X