• search
उन्नाव न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

OMG: युवक के पेट से निकली 30 कीलें, पेंचकस और सरिया, डॉक्टर्स भी रह गए दंग

|

उन्नाव। उत्तर प्रदेश के उन्नाव में एक प्राइवेट नर्सिंग होम में ऑपरेशन के द्वारा युवक के पेट से पेचकस, कील, सरिया, सुई सहित अन्य लोहे की सामग्री बरामद की गई। जिसका वजन लगभग 300 ग्राम बताया जाता है। लगभग ढाई घंटे चले ऑपरेशन में डॉक्टर की टीम ने बड़ी सावधानी से सफलता प्राप्त की। इस संबंध की में युवक की मां ने बताया कि उनके पुत्र के पेट में पिछले 2 महीने से काफी दर्द हो रहा था। कानपुर-उन्नाव के कई डॉक्टरों को दिखाया, लेकिन फायदा नहीं हुआ। शुक्लागंज के प्राइवेट नर्सिंग होम में डॉक्टर को दिखाया। ऑपरेशन के बाद उनके पुत्र को राहत मिली। डॉक्टरों का कहना था कि सीटी स्कैन और एक्स-रे में लोहे की सामग्री होने की जानकारी मिली, लेकिन इतनी संख्या में लोहे की सामग्री मिलेगी इसका अंदाज नहीं था। उन्होंने कहा कि युवक पूरी तरह स्वस्थ है।

    OMG: युवक के पेट से निकली 30 कीलें, पेंचकस और सरिया, डॉक्टर्स भी रह गए दंग
    एक्स-रे से पेट के अंदर लोहे की सामग्री की मिली जानकारी

    एक्स-रे से पेट के अंदर लोहे की सामग्री की मिली जानकारी

    सदर कोतवाली क्षेत्र के भतावां निवासी कमलेश का पुत्र करन (18) के पेट में विगत 2 माह से दर्द हो रहा था। मां कमला ने बताया कि उन्नाव और लखनऊ के कई डाक्टरों को दिखाया लेकिन फायदा नहीं मिला। इसी बीच उन्होंने शुक्लागंज स्थित प्राइवेट नर्सिंग होम में डॉक्टर को दिखाया। इस संबंध में बात करने पर डॉक्टर संतोष वर्मा ने सिटी स्कैन व एक्स-रे में पेट के अंदर लोहे की धातु होने की जानकारी मिली। ऑपरेशन के दौरान उन्हें भारी संख्या में लोहे की सामग्री मिली। जिसमें एक 5 इंच की सरिया भी शामिल है। पेचकस, लोहे की 30 कीली, रेती, सिलाई मशीन की सुई सहित कुल 36 आइटम पेट से निकला है।

    काफी रिस्क वाला था ऑपरेशन

    काफी रिस्क वाला था ऑपरेशन

    डॉक्टर ने बताया कि ऑपरेशन काफी रिस्क वाला था, क्योंकि लोहे के कई सामान हृदय के बिल्कुल पास थे। उन्होंने कहा कि ऑपरेशन करने वाले डॉक्टरों में डॉक्टर पवन सिंह, डॉक्टर आशीष पुरी, डॉ राधा रमण अवस्थी आदि शामिल है, जिन्होंने कड़ी मशक्कत और सावधानी के बाद ऑपरेशन को सफलतापूर्वक संपन्न किया।

    पूरी तरह स्वस्थ है करन

    पूरी तरह स्वस्थ है करन

    करन पूरी तरह स्वस्थ है। डॉक्टरों का कहना है कि मुंह के रास्ते पेचकस व सरिया नहीं खाया जा सकता। इस संबंध में मां कमला ने बताया कि उन्हें नहीं मालूम लोहे की कीली, पेचकस पेट के अंदर कैसे गया। ऑपरेशन के बाद उनके पुत्र की हालत पहले से अच्छी है।

    कानपुर: पेंट फैक्ट्री में भीषण आग, खाली कराई गई आसपास की फैक्ट्रियां

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    doctors removed 300 gram iron from 18 year old youth stomach in kanpur
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X