• search
उन्नाव न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अयोध्या जमीन विवाद: साक्षी महाराज ने कहा- अपना चंदा वापस ले सकते हैं संजय सिंह और अखिलेश

|
Google Oneindia News

उन्नाव, 17 जून: भारतीय जनता पार्टी के सांसद साक्षी महाराज ने कहा है कि जो लोग राम मंदिर निर्माण में भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं, वे रसीद दिखाकर अपना चंदा वापस ले लें। बीजेपी सांसद ने कहा कि जो नेता अब आरोप लगा रहे हैं, वे वही हैं जिन्होंने पूर्व में राम भक्तों पर गोलियां चलाई थीं। जहां तक चंपत राय की बात है तो उन्होंने अपना पूरा जीवन भगवान राम को समर्पित कर दिया है। बता दें, आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह और सपा ने राम जन्मभूमि ट्रस्ट पर राम मंदिर के नाम पर घोटाले का आरोप लगाया है।

BJP MP Sakshi Maharaj says Akhilesh and sanjay singh can withdraw their donations of ram mandir
    Ayodhya Land Deal Issue: एक ही दिन ट्रस्ट ने की दो डील, लेकिन कीमत में बड़ा अंतर | वनइंडिया हिंदी

    साक्षी महाराज ने कहा, ''उन्होंने कहा था कि वे बाबरी मस्जिद के पास एक पक्षी को भी नहीं जाने देंगे। उनके दंभ का करारा जवाब दिया गया है और राम जन्मभूमि स्थल पर एक भव्य मंदिर बन रहा है। ऐसे लोगों के पास निराधार आरोप लगाने के अलावा और कुछ नहीं है।"

    अयोध्या जमीन विवाद पर श्रीराम मंदिर ट्रस्ट का जवाब, हमने तो कम दाम पर खरीदा हैअयोध्या जमीन विवाद पर श्रीराम मंदिर ट्रस्ट का जवाब, हमने तो कम दाम पर खरीदा है

    साक्षी महाराज ने कहा कि चंपत राय ने अपना पूरा जीवन भगवान राम को समर्पित कर दिया है। उन्होंने कहा, "ऐसे व्यक्ति पर आरोप लगाना सही नहीं है। फिर भी, यदि आप के संजय सिंह ने राम मंदिर के लिए कुछ दान किया है, तो वह रसीद दिखाकर अपना दान वापस ले सकते हैं। अखिलेश यादव ने दान दिया है, तो वह अपना दान वापस ले सकते हैं। ये वही लोग हैं जिन्होंने राम मंदिर का कड़ा विरोध किया था।"

    English summary
    BJP MP Sakshi Maharaj says Akhilesh and sanjay singh can withdraw their donations of ram mandir
    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X