• search
उज्जैन न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

Video : सावन के आखिरी सोमवार पर बाबा महाकाल की भस्मारती, कीजिए दर्शन

|
Google Oneindia News

उज्जैन, 8 अगस्त: सावन माह के चौथे और आखिरी सोमवार पर भगवान भोलेनाथ के भक्तों में हर्षोल्लास है, जहां भक्त भगवान भोलेनाथ की मंदिर पहुंचकर पूजन-अर्चन कर रहे हैं, तो वहीं रिमझिम फुहारों के बीच सावन माह के चौथे सोमवार पर धार्मिक नगरी उज्जैन स्थित विश्व प्रसिद्ध बाबा महाकाल के मंदिर में भक्तों की भारी भीड़ देखने मिल रही है।

भगवान महाकालेश्वर का आकर्षक श्रृंगार

भगवान महाकालेश्वर का आकर्षक श्रृंगार

राजाधिराज भगवान महाकालेश्वर का आकर्षक श्रृंगार सावन माह के पहले सोमवार पर किया गया है। सबसे पहले सुबह 4 बजे बाबा महाकाल की भस्म आरती की गई, जिसके बाद भगवान महाकालेश्वर का श्रृंगार हुआ। सावन माह के चौथे सोमवार पर भक्तों ने बाबा महाकाल के दर्शन किए। इस दौरान बड़ी संख्या में भक्त बाबा महाकाल के दर्शन पाने मंदिर पहुंचे।

भक्त कर रहे बाबा महाकाल के दर्शन

भक्त कर रहे बाबा महाकाल के दर्शन

सावन माह में बाबा महाकालेश्वर के दर्शन करने देश ही नहीं बल्कि विदेश से भी भक्त धार्मिक नगरी उज्जैन पहुंचते हैं, इसी को देखते हुए प्रशासन ने अलग तरह की व्यवस्था ही की हुई है। दर्शनार्थियों को किसी तरह की कोई भी दिक्कत का सामना ना करना पड़े, इसको लेकर भी मंदिर प्रबंधन अलर्ट नजर आ रहा है। कुल मिलाकर देखा जाए तो कोरोना काल के बाद भक्तों में सावन माह को लेकर अलग उत्साह नजर आ रहा है।

मंदिर में विशेष साज-सज्जा

मंदिर में विशेष साज-सज्जा

सावन माह को देखते हुए मंदिर प्रबंधन समिति ने बाबा महाकालेश्वर मंदिर में विशेष साज-सज्जा की हुई है, साथ ही मंदिर में वह सभी व्यवस्थाएं की गई है, जिसके चलते दर्शनार्थियों को बाबा महाकाल के सुगम दर्शन प्राप्त हो सके। सावन माह से पहले ही मंदिर परिसर में साफ-सफाई और रंग रोगन का कार्य भी संपन्न कर लिया गया था। साथ ही सोमवार को निकलने वाली बाबा महाकाल की चौथी सवारी को लेकर भी तैयारियां पूरी कर ली गई है।

प्रजा का हाल जानने निकलेंगे बाबा महाकाल

प्रजा का हाल जानने निकलेंगे बाबा महाकाल

सावन और भादौ मास के प्रत्येक सोमवार को बाबा महाकाल नगर भ्रमण पर निकलते हैं, जहां वे अपनी प्रजा का हाल जानते हैं। चांदी की पालकी में सवार होकर जैसे ही बाबा महाकाल मंदिर परिसर से बाहर निकलते हैं, वैसे ही श्रद्धालुओं में अलग उत्साह देखने मिलता है। यही कारण है कि, बाबा महाकाल की सवारी के दर्शन करने श्रद्धालु दूर-दूर से धार्मिक नगरी उज्जैन पहुंचते हैं।

ये भी पढ़े- खुशखबरी! MP की एकमात्र हेरिटेज ट्रेन में यात्रा के लिए पर्यटकों को मिलेगी ये खास सुविधाये भी पढ़े- खुशखबरी! MP की एकमात्र हेरिटेज ट्रेन में यात्रा के लिए पर्यटकों को मिलेगी ये खास सुविधा

Comments
English summary
Fourth and last Monday of the month of Sawan Mahakal temple ujjain
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X