• search
उदयपुर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

मिलिए राजस्थान की सबसे बड़ी कोरोना वॉरियर्स की फैमिली से, 10 भाई एक साथ लड़ रहे कोविड-19 से जंग

|

उदयपुर। यूं तो पूरा देश कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है। डॉक्टर, पुलिस और प्रशासन से लेकर आमजन तक हर कोई अपने-अपने ढंग से कोरोना वॉरियर की भूमिका निभा रहा है। बात अगर कोरोना वॉरियर्स की सबसे बड़ी फैमिली की करें तो वो है राजस्थान का डाबला परिवार।

12 अगस्‍त को रूस से आ रही है पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन, जानिए इसके बारे में सबकुछ

जयपुर के मुंगीथला का है डाबला परिवार

जयपुर के मुंगीथला का है डाबला परिवार

मूलरूप से राजस्थान के जयपुर जिले के दूदू पुलिस थाना इलाके के गांव मुंगीथला के डाबला परिवार के दस बेटे कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं। कोई पुलिसकर्मी बनकर तो कोई शिक्षक के रूप में कोविड-19 के खिलाफ मोर्चा संभाले हुए है।

Rajasthan Police : अब बीकानेर के सेरुआ थानाधिकारी की मौत, सीकर के रहने वाले थे नवाब अली

    Rajasthan: एक ही परिवार के 10 भाई हैं Corona Warriors, ऐसे दे रहे सेवाएं | वनइंडिया हिंदी
     देश में विभिन्न जगहों पर दे रहे सेवाएं

    देश में विभिन्न जगहों पर दे रहे सेवाएं

    इस परिवार के दो बेटे मुकेश डाबला और उसका भाई हरिनारायण डाबला राजस्थान के उदयपुर जिले के मावली पुलिस थाने में तैनात हैं। मीडिया से बातचीत में मुकेश कहते हैं कि उन्हें अपने परिवार पर गर्व है। परिवार के दस भाई राजस्थान के साथ-साथ देश के विभिन्न हिस्सों में सेवाएं देकर लोगों को कोरोना महामारी से बचाने में अपना योगदान दे रहे हैं।

    राजस्थान बॉर्डर पर BSF के जवानों की तापमान से जंग, 50 डिग्री में सीमा पर हो जाते हैं ऐसे हालात

    दो दादा के हैं ये दस पोते

    दो दादा के हैं ये दस पोते

    मुकेश डाबला ने बताया कि सभी दस कोरोना वॉरियर्स सगे भाई नहीं हैं, मगर एक ही परिवार के हैं। ये दो दादा के दस पोते हैं। मतलब सभी का परदादा एक ही है। इनमें पांच सगे भाई हैं। दो उनके सगे चचेरे भाई हैं। वहीं, दो अन्य भाई दूसरे दादा के पोते हैं।

     कौन भाई कहां कार्यरत

    कौन भाई कहां कार्यरत

    1. रामजी लाल डाबला, शिक्षक, पानवा कला स्कूल, जयपुर

    2. रामवतार डाबला, शिक्षक, डोगरा स्कूल, जयपुर

    3. एसआई हनुमान डाबला, थानाधिकारी, थाना बनेठा, टोंक

    4. हरिसिंह डाबला, सीआरपीएफ जवान, नई दिल्ली

    5. बनवारी डाबला, कांस्टेबल, गांधीनगर किशनगढ़ अजमेर

    दो सगे भाई मावली पुलिस थाने में कांस्टेबल

    दो सगे भाई मावली पुलिस थाने में कांस्टेबल

    6. हरिनारायण डाबला, कांस्टेबल, थाना मावली उदयपुर

    7. मुकेश डाबला, कांस्टेबल, थाना मावली, उदयपुर

    8. लक्ष्मण डाबला, आईटीबीटी जवान, अरुणांचल प्रदेश

    9. रामप्रसाद डाबला, एसएसबी जवान, असम

    10. अम्बालाल डाबला, कांस्टेबल, जोधपुर सेंट्रल जेल

    राजस्थान में कोरोना के 171 नए केस

    राजस्थान में कोरोना के 171 नए केस

    राजस्थान में कोरोना वायरस का संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। अनलॉक-1 के दूसरे ही दिन राजस्थान में कोरोना विस्फोट हुआ है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से सुबह साढ़े दस बजे जारी रिपोर्ट के मुताबिक भरतपुर में 70, जयपुर में 34, दौसा में 4, जोधपुर में 12, चूरू में दो, टोंक में एक, धौलपुर में एक, झुंझुनूं में चार, झालावाड़ में 23, अलवर व कोटा में दस-दस नए मामले सामने आए हैं।

    राजस्थान में कोरोना के कुल 9 हजार 271 केस

    राजस्थान में कोरोना के कुल 9 हजार 271 केस

    राजस्थान में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण पर अंकुश जरूर लगा है, मगर अभी भी सिलसिला पूरी तरह से थमा नहीं है। 2 जून 2020 की सुबह तक राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव केसों का आंकड़ा 9 हजार 271 को छू गया है। प्रदेश में अब तक 201 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत भी हो चुकी है।

    राजस्थान के इन पांच जिलों में सबसे ज्यादा केस

    राजस्थान के इन पांच जिलों में सबसे ज्यादा केस

    कोविड-19 की चपेट में आने से राजस्थान के 33 में से कोई भी जिला अछूता नहीं है। बात अगर टॉप पांच जिलों की करें तो इनमें राजधानी जयपुर 2027 मामलों के साथ सबसे टॉप पर है। इसी क्रम में जोधपुर में 1562, उदयपुर में 562, पाली में 517, कोटा में 477 और टोंक में 456 कोरोना पॉजिटिव केस मिल चुके हैं।

     मृत्यु दर में राजस्थान चौथे स्थान पर

    मृत्यु दर में राजस्थान चौथे स्थान पर

    कोरोना महामारी के बीच राजस्थान के लिए अच्छी खबर सामने आई है। राजस्थान के चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि केन्द्र सरकार ने जो डाटा दिया है। उसमें रिकवरी के मामलों में राजस्थान नम्बर वन पर है। मृत्यु दर में राजस्थान चौथे स्थान पर आया है। वहीं, कोरोना पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ भी नीचे आया है।

     राजस्थान में रिकवरी रेट सबसे अच्छी

    राजस्थान में रिकवरी रेट सबसे अच्छी

    राजस्थान के चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि केन्द्र सरकार ने जो डाटा दिया है। उसमें रिकवरी के मामलों में राजस्थान नम्बर वन पर है। मृत्यु दर में राजस्थान चौथे स्थान पर आया है। वहीं, कोरोना पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ भी नीचे आया है। रघु शर्मा ने बताया कि मरीजों का रिकवरी का प्रतिशत 67.59 है और प्रतिदिन 18 हजार 250 लोगों की जांच हो रही है। लगातार जांच का दायरा बढ़ रहा है। आने वाले समय में भी जांच का दायरा और बढ़ेगा। इसे 25 हजार तक ले जाने का लक्ष्य है।

     राजस्थान में हो चुके हैं चार लाख टेस्ट

    राजस्थान में हो चुके हैं चार लाख टेस्ट

    रघु शर्मा ने कहा कि प्रदेश में अब तक 4 लाख से ज्यादा टेस्ट हो चुके हैं। अकेले एसएमएस अस्पताल में 1 लाख 10 हजार टेस्ट हुए हैं, जिसमें राजस्थान में एक्टिव केसों की संख्या 2803 है। राज्य सरकार द्वारा लगातार कोरोना कंट्रोल पर काम किया जा रहा है। प्रदेश में प्रवासी राजस्थानियों से आंकड़ा बढ़ा है। प्रवासी राजस्थानियों के केस का आंकडा 2620 पर पहुंच गया है।

    जानिए, कितनी होगी उस वैक्सीन की कीमत, जिसे कोरोना के खिलाफ तैयार कर रहा सीरम इंस्टीट्यूट

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Rajasthan's biggest Corona Warriors family, 10 brothers fighting with Covid-19
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X
    We use cookies to ensure that we give you the best experience on our website. This includes cookies from third party social media websites and ad networks. Such third party cookies may track your use on Oneindia sites for better rendering. Our partners use cookies to ensure we show you advertising that is relevant to you. If you continue without changing your settings, we'll assume that you are happy to receive all cookies on Oneindia website. However, you can change your cookie settings at any time. Learn more