जीबी रोड के कोठा नंबर-50 में रहने वाली 24 साल की लड़की की कहानी

Written By: Mohit
Subscribe to Oneindia Hindi
Delhi: GB Road के कोठा नंबर 50 में रहने वाली एक लड़की की कहानी | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्लीः राजधानी दिल्ली की जीबी रोड़ की गलियों से निकलकर एक लड़की नई जिंदगी शुरू करने जा रही है। ये लड़की कौन है? क्या करती है? कैसे जीबी रोड के कोठा नंबर 50 से झुटकारा मिला, ये आपको बाद में बताएंगे। पहले बताते हैं कर्नाटक की रहने वाली ये लड़की आखिर दिल्ली के जीबी रोड पहुंची कैसे! 

बीएससी ग्रेजुएट है ये लड़की

बीएससी ग्रेजुएट है ये लड़की

रविना (बदला हुआ नाम) बीएससी ग्रेजुएट हैं, थोड़ी बहुत अंग्रेजी भी बोल लेती है और पढ़ भी लेती है। सात साल पहले कर्नाटक में एक व्यक्ति से मुलाकात हुई और उसने रविना को दिल्ली में काम दिलाना का वादा किया। काम की बात पर वो दिल्ली आने को राजी हो गई।

50 हजार में बेच दिया

50 हजार में बेच दिया

लेकिन दिल्ली आने के बाद इस व्यक्ति के सुर बदल गए। इस व्यक्ति ने रविना को दिल्ली के जीबी रोड के कोठा नंबर 50 में बेच दिया। रविना यहां नहीं रहना चाहती थी लेकिन उसे 50 हजार में खरीदा गया था।

चार साल में पूरे हुए 50 हजार

चार साल में पूरे हुए 50 हजार

रविना को 50 हजार पूरे करने में चार साल लग गए। चार साल बाद वो एक रवि(बदला हुआ नाम) से मिली और उसके साथ लिव इन रिलेशन में रहने लगी। रवि ने रविना से वादा किया था कि यहां से निकालकर कोई दूसरा काम दे देगा।

फिर मिला धोखा

फिर मिला धोखा

भले ही रविना ने जीबी रोड की गलियां छोड़ दी थी लेकिन उसे दोबारा वहीं जाना पड़ा, वजह थी रवि को जुआ और शराब पीने की लत। रविना दोबारा जीबी रोड जाने लगी और उसे जो भी पैसे मिलते रवि सारे पैसे छीन लेता।

मारपीट करता, पैसे भी छीन लेता

मारपीट करता, पैसे भी छीन लेता

इतना ही नहीं रविना को एक बच्चा भी हो गया। रवि-रविना के साथ मारपीट करता, पैसे भी छीन लेता। ये काफी समय तक चलता रहा। कुछ समय बाद रविना ने इस बच्चे को अपने घर कर्नाटक भेज दिया।

अलग होने का किया फैसला

अलग होने का किया फैसला

तीन साल बाद रविना ने रवि से अलग होने का फैसला किया। लेकिन रवि इसके लिए तैयार नहीं था। रविना यहां से जाना चाहती थी और एक नई जिंदगी की शुरुआत करना चाहती थी। उसने एक बार भागने की कोशिश भी की लेकिन रवि उसके पीछे आ गया और उसके बाल पकड़कर उसे घसीटते हुए वापस ले जाने लगा।

दिल्ली महिला आयोग की मदद

दिल्ली महिला आयोग की मदद

रविना को एक दिन दिल्ली महिला आयोग की वीमेन हेल्पलाइन के बारे में पता लगा। रविना ने हेल्पलाइन 181 पर कॉल की। दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति के निर्देश पर रविना को आयोग के पास भेजा गया। रविना ने आयोग को सारी कहानी बताई।

पुलिस ने किया गिरफ्तार

पुलिस ने किया गिरफ्तार

कहानी सुनने के बाद आयोग ने पुलिस को बुलाया और रवि को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक रवि पर केस चल रहे हैं। अब रविना की जिंदगी बदल चुकी है। आयोग का कहना है कि वो महिला की हर प्रकार की संभाव मदद करेंगे। अब वो अपनी जिंदगी की नई शुरआत करेगी, उसेकर्नाटक में भेजा जाएगा और अपने बेटे के साथ एक नई जिंदगी की शुरुआत करेगी।

यह भी पढ़ें-

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
story of 24 year old girl lived in gb road delhi
Please Wait while comments are loading...