पैरा-साइकलिस्ट आदित्य मेहता से एयरपोर्ट पर बदसलूकी, कृत्रिम पैर जबरन उतरवा के कराई गई जांच

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बेंगलुरू। पैरा-साइकलिस्ट आदित्य मेहता से एक बार फिर बदसलूकी की गई है। मामला बेंगलुरू एयरपोर्ट का है। जहां उनके कृत्रिम पैर जबरन हटाकर सुरक्षा अधिकारियों ने जांच की। ऐसी घटना उनके साथ दूसरी बार हुई है।

aditya mehta

बेंगलुरू एयरपोर्ट पर बदसलूकी

आदित्य मेहता, पैरा-साइकलिस्ट हैं। उन्होंने एशियन पैरालंपिक्स 2013 में दो बार पैरा साइकलिंग सिल्वर मेडल अपने नाम किया। आदित्य मेहता के साथ बेंगलुरू एयरपोर्ट पर बदसलूकी की गई।

जर्मन मंत्री से हाथ मिलाकर मुश्किल में फंसी ईरान की उपराष्ट्रपति

बताया जा रहा है कि जब आदित्य मेहता बेंगलुरू से हैदराबाद के फ्लाइट पकड़ने के लिए केम्पेगौड़ा इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचे तो वहां मौजूद सीआईएसएफ अधिकारियों ने उनके प्रोस्थेसिस (कृत्रिम पैर) हटाकर जांच की बात कही।

आदित्य मेहता ने अधिकारियों से कहा कि अगर वो ऐसा करते हैं तो उन्हें परेशानी होगी। उनकी फ्लाइट भी छूट सकती है। हालांकि अधिकारियों ने उनकी नहीं सुनी। बता दें कि दो महीने पहले भी हैदराबाद के रहने वाले साइकलिस्ट के साथ ऐसी ही घटना हुई थी।

फेसबुक पोस्ट पर आदित्य ने बताई आपबीती

आदित्य मेहता ने अपने फेसबुक पोस्ट के जरिए सीआईएसएफ अधिकारियों की असंवेदनशीलत पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं एक शारीरिक रूप से विकलांग व्यक्ति के मन पर मनोवैज्ञानिक झटका है।

fb aditya mehta

डोनाल्ड ट्रंप पर महिलाओं ने लगाए निजी अंगों से छेड़छाड़ और किसिंग के आरोप

बता दें कि बेंगलुरू एयरपोर्ट पर आदित्य मेहता के प्रोस्थेसिस हटाने और लगाने में चोट भी लग गई। इस दौरान खून तक निकल आया। उन्होंने कहा कि सीआईएसएफ अधिकारी ऐसे मामलों को संभालने की स्थिति में नहीं हैं। ऐसी घटनाएं और कार्रवाई बेहद शर्मनाक है।

आदित्य मेहता ने फेसबुक पोस्ट में लिखा कि केआईए, बेंगलुरू में सुरक्षा जांच के दौरान फिर से मुझे प्रोस्थेटिक पैर हटाने के लिए मजबूर किया गया। ये संभवतः सीआईएसएफ की ओर से दशहरा गिफ्ट है। हालांकि उन्होंने इस पूरी घटना को दर्दनाक करार दिया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
para cycling medallist forced to remove his prosthesis by officials on bengaluru airport.
Please Wait while comments are loading...