खेलमंत्री विजय गोयल ने झाड़ा पल्ला, कहा जैशा मामले से हमारा कोई लेना देना नहीं

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नयी दिल्ली। रियो ओलंपिक 2016 के खत्म होने के बाद अब नया विवाद शुरू हो गया है। भारतीय मैराथन ओपी जैशा के खुलासे ने सबको चौंका दिया है। जैशा ने खुलासा करते हुए कहा है कि ओलंपिक में उन्हें भारतीय अधिकारियों ने पानी तक उपलब्ध नहीं कराया। उन्होंने कहा कि वो मर गई होती, क्योंकि वहां भारतीय अधिकारियों ने हमें पानी तक नहीं पिलाया।

vijay goel

निराश भारतीय मैराथन रनर ओपी जैशा ने भारतीय अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें ओलंपिक में पानी और एनर्जी ड्रिंक्स तक नहीं उपलब्ध कराए गए। उन्होंने कहा कि मैराथन के दौरान वहां हमारे लिए पानी भी नहीं था। केवल 8 किलोमीटर पर एक बार ही रियो ओलंपिक आयोजकों की तरफ से हमें पानी मिलता था, लेकिन उस से हमारा काम नहीं हो सकता था। हर देश से हर 2 किलोमीटर पर अपने स्टॉल्स बनाए थे, लेकिन हमारे देश का स्टॉल खाली था।

खेल मंत्री विजय गोयल ने फिर कर दी गड़बड़ी, ट्विटर पर उड़ा मजाक

अब इस विवाद के उठने के बाद खेलमंत्री और एथलेटिक्स संघ के अधिकारी अपना पल्ला फाड़ रहे हैं। खेलमंत्री विजय गोयल ने इस मामले से अपना हाथ खींचते हुए कहा है कि भारतीय अधिकारियों को भेजने का काम फेडरेशन का है हमारा नहीं। इसलिए इस मामले में हम दोषी नहीं है। उन्होंने कहा कि ओलंपिक में अधिकारियों को भेजने की जिम्मेदारी AFI और IOC का होता है, इसलिए इस मामले को लेकर खेल मंत्रालय पर उंगली उठाना सही नहीं है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
From Sports Minister to the Athletics Federation, officials indulge in blame game after marathon runner OP Jaisha revealed that there was no official to provide her with water during Rio Olympics 2016.
Please Wait while comments are loading...