30 हजार गैंडों को बचाना चाहता है इंग्लैंड का ये 'बागी' खिलाड़ी

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। इंग्लैंड की टीम को छोड़ चुके धाकड़ बल्लेबाज केविन पीटरसन को इसका कोई मलाल नहीं है कि वे अब दोबारा इस टीम के साथ क्रिकेट नहीं खेल पाएंगे। यही नहीं पीटरसन मानते हैं कि इंग्लैंड की टीम से बाहर निकलने का उन्हें बहुत बड़ा फायदा हुआ है। अपने फैसले को वरदान बताते हुए पीटरसन कहते हैं कि इंग्लैंड से बाहर हो कर वे अपनी शादी को बचा पाए जो उनकी अंतरराष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं के कारण टूटती नजर आ रही थी।

30 हजार गैंडों को बचाना चाहता है इंग्लैंड का ये 'बागी' खिलाड़ी

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक पीटरसन ने इंग्लैंड क्रिकेट टीम द्वारा बर्खास्त किए जाने पर कहा, "घर की चार-दीवारी के बीच के दबाव को लोग नहीं समझते क्योंकि यह हर दिन बुरा होता जाता है जैसा मेरे लिए कई सालों तक होता रहा। इंग्लैंड ने साल 2014 में मुझे बर्खास्त करके मेरे पर एक एहसान किया क्योंकि इससे चलते मेरे बच्चों के साथ रिश्ते अच्छे हुए।"

वैसे तो पीटरसन दक्षिण अफ्रीका की तरफ से खेलने के लिए बोल चुके हैं लेकिन अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है कि पीटरसन को अफ्रीकी टीम में कब जगह मिलती है। हालांकि आगे के करियर के बारे में पूछे जाने पर पीटरसन ने कहा, "यह भले ही सुनने में पागलपन लगे लेकिन मैं 30 हजार गैंडों को बचाना चाहता हूं क्योंकि ये शिकारियों की वजह से विलुप्ति की कगार पर हैं। मुझे इन दिनों अपने परिवार और अपनी जन्मभूमि अफ्रीका की परवाह है।" केविन पीटरसन अंतिम बार साल 2013-14 एशेज सीरीज में इंग्लैंड की ओर से खेलते नजर आए थे।

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
wildlife activist, cricketer Pietersen has been campaigning against the killing of Rhinos
Please Wait while comments are loading...