Hindi Diwas: सहवाग ने हिंदी दिवस की दी बधाई लेकिन कर बैठे ये बड़ी भूल...

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi
Virender Sehwag committed a mistake while wishing Hindi Diwas, Know How | वनइंडिया हिंदी

नई दिल्ली। आज पूरा राष्ट्र हिंदी दिवस मना रहा है। हिंदुस्तान की पहचान हिंदी से ही है और इसलिए आज हर हिंदुस्तानी इस दिवस को गर्व से मना रहा है तो भला हमारे पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग इस सेलिब्रेशन से दूर कैसे रहते।

लहंगे में अनुष्का, शेरवानी में कोहली... कहीं इरादा सगाई का तो नहीं...तस्वीरें वायरल

ट्विटर पर बहुत ज्यादा एक्टिव रहने वाले सहवाग ने जोश में आकर लोगों को शुभकामनाएं तो दी लेकिन उनसे थोड़ी सी चूक हो गई।

मुल्तान के सुल्तान ने किया ट्वीट

दरअसल मुल्तान के सुल्तान ने ट्वीट किया कि हिन्दि हमारे राष्ट्र की अभिव्यक्ति का सरलतम स्त्रोत है ! जो बात हिंदी में है वो किसी और में नही! 17 Sept. को हिंदी कमेंट्री !

सहवाग काफी होशियार

उन्होंने अपने ट्वीट में हिंदी और श्रोत की स्पेलिंग गलत लिखी, बस उसके बाद वो लोगों के निशाना बने। हालांकि सहवाग काफी होशियार हैं, उन्हें जल्द ही अपनी गलती का एहसास हो गया और उन्होंने किसी को जवाब देने और मैसेज को हटाने के बजाय खुद को रिप्लाई करके अपनी गलती सुधार ली। शायद ये ही सारी बातें उन्हें लोगों से काफी अलग करती हैं।

 हिंदी दिवस से जुड़ी कुछ खास बातें

हिंदी दिवस से जुड़ी कुछ खास बातें

हिन्दी दिवस प्रत्येक वर्ष 14 सितंबर को मनाया जाता है। 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी।

14 सितंबर

14 सितंबर

इसी महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने और हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर सन् 1953 से संपूर्ण भारत में 14 सितंबर को प्रतिवर्ष हिन्दी-दिवस के रूप में मनाया जाता है।

हिन्दी साहित्य सम्मेलन

हिन्दी साहित्य सम्मेलन

वर्ष 1918 में गांधी जी ने हिन्दी साहित्य सम्मेलन में हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने को कहा था। इसे गांधी जी ने जनमानस की भाषा भी कहा था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Cricketer Virender Sehwag Makes Mistake While Wishing Hindi Diwas, This day is celebrated on september 14 and it is celebrated so because on this day our constituent assembly adopted hindi as the official language of the assembly in 1949.
Please Wait while comments are loading...