India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

शास्त्री बोले- ‘मुझे तो गलती से जॉब मिल गई थी’, द्रविड़ टीम इंडिया को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे

|
Google Oneindia News

नई दिल्ली, 3 जुलाई: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) का ऐसा मानना है कि राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) टीम इंडिया को अपने कार्यकाल में नई ऊंचाइयों तक ले जाएंगे। द्रविड़ को पिछले साल यूएई में खेले गए टी20 वर्ल्ड कप के बाद शास्त्री की जगह टीम इंडिया का नया हेड कोच बनाया गया था। हालांकि, द्रविड़ की कोचिंग में भारत का साउथ अफ्रीकी दौरा बहुत खराब रहा था, लेकिन फैंस और कई क्रिकेट एक्सपर्ट्स का ऐसा मानना है कि राहुल द्रविड़ और नए कप्तान रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की जोड़ी आगामी वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन करेगी।

ये भी पढ़ें-कप्तान बुमराह या कोहली? इंग्लैंड की पारी शुरू होने से पहले देखने को मिला ये नजाराये भी पढ़ें-कप्तान बुमराह या कोहली? इंग्लैंड की पारी शुरू होने से पहले देखने को मिला ये नजारा

मुझे तो गलती से जॉब मिल गई थी

मुझे तो गलती से जॉब मिल गई थी

भारत-इंग्लैंड के बीच एजबेस्टन में खेले जा रहे पांचवें टेस्ट के दिन स्काई स्पोर्ट्स पर रवि शास्त्री ने कहा- "मेरे बाद राहुल से बेहतर कोई व्यक्ति नहीं है। मुझे गलती से नौकरी मिल गई थी। मैं कमेंट्री बॉक्स में था और मुझे वहां जाने (टीम इंडिया से जुड़ने) के लिए कहा गया और मैंने अपना काम किया। लेकिन राहुल एक ऐसे व्यक्ति हैं जो सिस्टम के माध्यम से आए हैं और उन्होंने कड़ी मेहनत की है। वह काफी समय तक अंडर-19 टीम के कोच रहे हैं और फिर टीम इंडिया की कमान संभाली। मुझे लगता है कि तब और ज्यादा मजा आएगा, जब टीम उनकी कही हुई बातों का पालन करेगी।''

सफल भारतीय कोच रहे शास्त्री

सफल भारतीय कोच रहे शास्त्री

रवि शास्त्री की कोचिंग में भी टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन किया। शास्त्री की कोचिंग में ही भारत ने ऑस्ट्रेलिया को उसकी धरती पर हराकर लगातार दो बार टेस्ट सीरीज पर कब्जा जमाया। उनके कार्यकाल में साउथ अफ्रीका की सरजमीं पर भी टेस्ट मैच जीता। टीम भले ही उनकी कोचिंग में कोई वर्ल्ड कप या ICC टूर्नामेंट ना जीत सकी हो, लेकिन शास्त्री के कोच रहते टीम टेस्ट में वापस नंबर-1 बनी। आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल और आईसीसी टेस्ट चैंपियंसशिप का फाइनल भारत ने शास्त्री के कोच रहते ही खेला।

मीडिया का हमेशा रहा डर

मीडिया का हमेशा रहा डर

रवि शास्त्री ने कहा कि बतौर भारतीय कोच आखिरी चीज जो उन्हें परेशान करती थी वह थी मीडिया थी। उन्होंने कहा- "आखिरी चीज जिसकी मुझे चिंता थी, वह थी मीडिया। अगर लड़कों ने प्रदर्शन किया, तो मीडिया आपकी इच्छानुसार प्रतिक्रिया देगा। यदि आप अच्छा नहीं करते हैं, तो उन्हें आपको कुचलने का अधिकार है और यदि आप अच्छा करते हैं, तो आपको प्रशंसा मिलेगी।''

No Ball पर चमकी बुमराह की किस्मत, एक्ट्रा गेंद पर मिले टीम इंडिया को दो बड़े विकेटNo Ball पर चमकी बुमराह की किस्मत, एक्ट्रा गेंद पर मिले टीम इंडिया को दो बड़े विकेट

हम खुद को विदेशों में साबित करना था

हम खुद को विदेशों में साबित करना था

शास्त्री ने आगे कहा- "हमारा काम बहुत आसान था, जो मीडिया को भारतीय क्रिकेट के बारे में पसंद नहीं आया। सच तो यह था कि हम घर में दबंग थे और जब हम विदेश में थे तो हमने अच्छा क्रिकेट नहीं खेला। इसलिए टीम के साथ मेरा काम उन्हें गलत साबित करना था। तो, आप इसे कैसे करने जा रहे हैं? तुम टीम के साथ बैठो, तुम विराट के साथ बैठो और कहो कि हम 20 विकेट लेने जा रहे हैं। जितना आसान हो, पिच को समीकरण से बाहर निकालो।''

द्रविड़ को मिले कई चैलेंज

द्रविड़ को मिले कई चैलेंज

हालांकि, राहुल द्रविड़ भी जब से टीम इंडिया के साथ बतौर हेड कोच जुड़े हैं, तब से कई चैलेंज का सामना कर चुके हैं। सबसे पहले तो पिछले 8 महीनों में द्रविड़ 7 अलग-अलग भारतीय कप्तानों के साथ काम कर चुके हैं। द्रविड़ के लिए अफ्रीकी दौरा भी कुछ खास नहीं रहा था, लेकिन इंग्लैंड दौरा और फिर आगामी टी20 वर्ल्ड कप से वो जरूर टीम इंडिया को वाकई में नई ऊंचाइयों तक लेकर जाएंगे।

Comments
English summary
ravi shastri says I had got the job by mistake, Dravid will take Team to new heights
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X