India
  • search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts
Oneindia App Download

आज ही के दिन हमने जीती थी चैंपियंस ट्रॉफी, भारत को मिला था उसका 'हिटमैन'

|
Google Oneindia News
Team India

स्पोर्ट्स डेस्क: भारतीय क्रिकेट इतिहास में आज का दिन बहुत ही खास है। आज ही के दिन टीम इंडिया (Team India) ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में इंग्लैंड को उसकी धरती पर हराकर ICC चैंपियंस ट्रॉफी पर कब्जा जमाया था। चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल एजेबस्टन, बर्मिंघम के मैदान पर खेला गया था, जिसे भारत ने 5 रन से जीता था। टूर्नामेंट जीतने के साथ ही एमएस धोनी ICC की तीनों ट्रॉफी जीतने वाले दुनिया के पहले कप्तान बने थे। इससे पहले उनकी अगुआई में भारतीय टीम ने 2007 का टी20 वर्ल्ड कप और 2011 का वनडे विश्व जीता था।

ये भी पढ़ें- फिर दिखेगा वीरेंद्र सहवाग का जलवा, भारत-इंग्लैंड सीरीज से करेंगे कमबैकये भी पढ़ें- फिर दिखेगा वीरेंद्र सहवाग का जलवा, भारत-इंग्लैंड सीरीज से करेंगे कमबैक

20-20 ओवर का खेला गया था मैच

20-20 ओवर का खेला गया था मैच

बारिश के चलते चैंपियंस ट्रॉफी का फाइनल 50 की जगह 20-20 ओवर का खेला गया था। इंग्लैंड अपनी सरजमीं पर खेल रहा था, इसलिए उनको जीत का फेवरेट माना जा रहा था। मैच की शुरुआत भारत के टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने के साथ हुई। टीम इंडिया ने 20 ओवर में 7 विकेट पर 129 रन का स्कोर बनाया। विराट कोहली (43) टॉप स्कोरर रहे, जबकि रवींद्र जडेजा ने 25 गेंदों पर नाबाद 33 रन बनाए। कप्तान धोनी शून्य पर आउट हुए थे। इंग्लैंड की ओर से रवि बोपारा ने 3 विकेट अपने नाम किए थे।

ईशांत के ओवर ने पल्टा था मुकाबला

ईशांत के ओवर ने पल्टा था मुकाबला

इंग्लैंड के सामने जीत के लिए 130 रन का टारगेट था। 46 पर शुरुआती चार विकेट गंवाने के बाद ओएन मॉर्गन और रवि बोपारा ने 64 रन जोड़कर टीम को वापस मैच में ला खड़ा किया। मैच में टीम इंडिया का वापसी ईशांत शर्मा ने अपने एक ही ओवर में दो विकेट लेकर कराई। पहले उन्होंने मॉर्गन (33) को पवेलियन भेजा, उसके बाद बोपारा (30) की पारी पर ब्रेक लगाया। आखिरी ओवर में इंग्लैंड को जीत के लिए 14 रन बनाने थे, लेकिन आर अश्विन ने कमाल की गेंदबाजी कर भारत को चैंपियन बना दिया। अश्विन, ईशांत और जडेजा ने मैच में 2-2 विकेट हासिल किए।

धवन बने थे प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट

धवन बने थे प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट

फाइनल में 33 रन बनाने के अलावा दो विकेट लेने वाले ऑलराउंडर रवींद्र जडेजा को मैन ऑफ द मैच चुना गया था। वहीं, ओपनर शिखर धवन प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट रहे थे। गब्बर के नाम से मशहूर धवन का बल्ला पूरा टूर्नामेंट में खूब गरजा था। 5 मैचों में उन्होंने 90.75 की बेहरतरीन औसत और 101.40 के स्ट्राइक रेट के साथ कुल 363 रन बनाए थे। 5 पारियों में शिखर ने दो शतक और एक फिफ्टी लगाई थी।

रोहित युग की हुई थी शुरुआत

रोहित युग की हुई थी शुरुआत

इस टूर्नामेंट से ही रोहित शर्मा 'The Rohit Sharma' बनकर सामने आए थे। चैंपियंस ट्रॉफी से ही धोनी ने हिटमैन को बतौर ओपनर आजमाया था। रोहित ने भी मिले मौके का जमकर फायदा उठाया और 5 मैचों में 35.40 की औसत से कुल 177 रन बनाए। यहां से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा और बतौर सलामी बल्लेबाज अपनी एक नई पहचान बनाई।

पूरे टूर्नामेंट में शिखर और रोहित की जोड़ी ने 5 पारियों में दो शतक और दो अर्धशतकीय साझेदारी की थी। दोनों ने कुल मिलाकर 382 रन जोड़े थे। यहीं से रोहित शर्मा और शिखर धवन की ओपनिंग जोड़ी ने वनडे क्रिकेट पर राज करना शुरू किया था।

Comments
English summary
on this day team india won icc champions trophy under ms dhoni
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X