आज ही के दिन दादा ने उतारी थी अपनी शर्ट, दिखाई थी अंग्रेजों को उनकी 'औकात'

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आज ही के दिन भारतीय टीम ने अंग्रेजों को उनके ही घर में उन्हें औकत दिखाई थी। 13 जुलाई 2002 को सौरव गांगुली की अगुवाई में भारतीय टीम ने नेटवेस्ट सीरीज के फाइनल में इंग्लैंड को हराकर सीरीज अपने नाम की थी। इस मैच में जीत के बाद दादा ने अपनी टी-शर्ट उतारकर जश्न मनाया था। ये भारतीय क्रिकेट के इतिहास का वो पल था जहां भारत ने अंग्रेजों को उनकी स्लेजिंग करारा जवाब दिया था।

आज ही के दिन दादा ने उतारी थी अपनी शर्ट, दिखाई थी अंग्रेजों को उनकी 'औकात'

एंड्र्यू फ्लिंटॉफ की हरकतों का था जवाब

भारत ने न केवल जवाब दिया था बल्कि अपना बदला भी पूरा किया था। दरअसल, साल 2002 में इंग्लैंड के एंड्र्यू फ्लिंटॉफ ने भारत में वानखेड़े में जीत के बाद टी-शर्ट उतारकर दौड़ लगाई थी और गांगुली को नीचा दिखाने की कोशिश की थी। जिसके बाद दादा ने इंग्लैंड को उसी के घर में हराकर जीत दर्ज की और फ्लिंटॉफ को उन्हीं की भाषा में जवाब दिया था।

खराब शुरुआत के बाद संभला था भारत

इस मैच में इंग्लैंड ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 325 रनों का स्कोर खड़ा किया था। जीत के लिए लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरूआत अच्छी नहीं रही और 146 रन पर 5 विकेट गंवा दिए थे। लेकिन उसके बाद सिक्सर किंग युवराज सिंह और मोहम्मद कैफ ने शानदार बल्लेबाज कर भारत को जीत दिलाने में बेहद अहम रोल निभाया था। मोहम्मद कैफ ने इस मैच में नाबाद 87 रनों की पारी खेली थी।

दादा ने खेली शानदार पारी

इस मैच में दादा ने भी शानदार पारी खेली थी। उन्होंने 43 गेंदों में 10 चौके व 1 छक्के की मदद से 60 रन बनाए थे। युवराज सिंह ने 63 गेंदों में 69 रन बनाए थे। मैच जीतने के बाद सौरव गांगुली के टी-शर्ट उतारने पर बवाल हो गया था। कई क्रिकेटरों ने दादा की इस हरकत की आलोचना की थी। हालांकि दादा ने इसका करारा जवाब दिया था।

आपके लिए लॉर्डस मक्का है तो हमारे लिए वानखड़े इंडियन क्रिकेट का मक्का है

गांगुली ने कहा था कि मैंने शर्ट उतारकर अंग्रेजों को ये साबित किया था कि हम मैच खेल भावना से खेलते हैं और खेल में हार-जीत होती रहती है लेकिन इसका मतलब ये नहीं आप इस बात के लिए हारी वाली टीम पर तंज कसो या फिर उन्हें कमेंट करो। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यदि आपके लिए लॉर्डस मक्का है तो हमारे लिए वानखड़े इंडियन क्रिकेट का मक्का है। आपको बता दें कि इस मैच में मोहम्मद कैफ को मैन ऑफ द मैच चुना गया था।

उस पल को याद करते हुए मोहम्मद कैफ ने भावुक ट्वीट किया। उन्होंने लिखा- "15 साल पहले इसी दिन, मैंने एक सपना, एक जीवन भर का सपना जिया था। हम इंग्लैंड के खिलाफ नेटवेस्ट सीरीज के फाइनल्स में 326 का पीछा करते हुए जीते थे।"

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
NatWest Series Final: The Day When Sourav Ganguly Lost His Shirt
Please Wait while comments are loading...