Champions Trophy 2017: बांग्लादेश के खिलाफ 1 मैच में बने ये 11 शानदार रिकॉर्ड

By: गौतम सचदेव
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। साल 2010 से ICC टूर्नामेंट में सबसे शानदार खेल दिखाने वाली टीम इंडिया ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 2015 वर्ल्ड कप के बाद उभरते बांग्लादेश को एकतरफा मुकाबले में हराकर चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में जगह बना ली है। 18 जून को दुनिया की सबसे बेस्ट बल्लेबाजी और पाकिस्तान की बेहतर तेज गेंदबाजी वाली टीम के बीच फाइनल मुकाबला इंग्लैंड के केनिंगटन ओवल के मैदान पर खेला जाएगा। टीम इंडिया की धमाकेदार जीत के वैसे तो कई नायक रहे लेकिन केदार जाधव ने बंगाल टाइगर्स की कमर तोड़ दी।

भारत की जीत, रिकॉर्ड की बारिश

भारत की जीत, रिकॉर्ड की बारिश

30वें ओवर तक मजबूत दिख रही बांग्लादेश के दो महत्वपूर्ण विकेट झटककर उन्होंने अपनी टीम को गेम में वापस लाया और अंत में जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर की कसी गेंदबाजी की बदौलत टीम इंडिया को फाइनल में जाने के लिए 265 का लक्ष्य मिला जो पाटा विकेट पर इनफॉर्म भारतीय बल्लेबाजों के लिए आसान साबित हुआ। आंकड़ों के लिहाज से देखें तो इस मुकाबले में कई ऐसे रिकॉर्ड बने जिन पर शायद आपकी नजर न गई हो। इससे पहले कि आप रविवार के मैच का लुत्फ लेने का प्लान बनाएं एक बार हम आपको भारतीय जीत से बने उन दिलचस्प आंकड़ों की कहानी बता दें।

सबसे अधिक फाइनल खेलने वाली टीम बनी भारत

सबसे अधिक फाइनल खेलने वाली टीम बनी भारत

ODI क्रिकेट में यह सातवां मौका है जब टीम इंडिया ICC इवेंट के किसी फाइनल में है। 2010 के बाद टीम इंडिया ने सबसे अधिक फाइनल मैच खेले हैं और चौथी बार मिनी वर्ल्ड के फाइनल में अपनी दमदार खेल से जगह बनाई है। टीम इंडिया ने 2013 में यह खिताब जीता था, 2002 में श्रीलंका के साथ संयुक्त विजेता रही है। इसे संयोग कहें या कुछ और लेकिन यह पहला मौका है जब टीम इंडिया 50-50 फॉर्मेट में अपने चिर-प्रतिद्वंदी पाकिस्तान से एक फाइनल मुकाबला खेलेगी। सात देशों द्वारा 1985 में आयोजित वर्ल्ड चैंपियंस ऑफ क्रिकेट प्रतिस्पर्ध में टीम इंडिया ने पाकिस्तान को हराया था। 2011 के बाद अब तक आयोजित 7 ICC टूर्नामेंट में टीम इंडिया अव्वल स्थान पर काबिज है। टीम इंडिया सबसे अधिक 4 फाइनल और 2 बार सेमीफाइनल खेल चुकी है, जबकि श्रीलंका 3 फाइनल और 1 सेमीफाइनल के साथ दूसरे स्थान पर, इंग्लैंड 2 फाइनल और 1 सेमीफाइनल के साथ तीसरे और वेस्टइंडीज 2 फाइनल और 1 सेमीफाइनल के साथ चौथ स्थान पर है।

'द चेसमास्टर' कोहली के नाम सबसे तेज 8000 रन

'द चेसमास्टर' कोहली के नाम सबसे तेज 8000 रन

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली किसी मशीन से कम नहीं हैं। एकदिवसीय क्रिकेट में अपने जीवन के सबसे बेहतरीन दौर से गुजर रहे 'चीकू' (कोहली का उपनाम) सबसे कम 175 पारियों में 8000 रन बनाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने अपने ही खास मित्र डीविलियर्स का रिकॉर्ड तोड़ दिया जिन्होंने यह मुकाम 182 पारियों में हासिल किया था। दादा (सौरव गांगुली) ने यह कारनामा 200, क्रिकेट के भगवान तेंदुलकर ने 210 और उनके खास दोस्त लारा ने 211 पारियों में किया था। वैसे एक बात खासा दिलचस्प है कि कोहली ने सबसे तेज 2000, 3000, 4000, 5000, 6000 और 7000 ODI रन बनाए हैं और दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज हाशिम अमला ने अब तक उनके ये सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं।

चैंपियंस ट्रॉफी के असली 'गब्बर' हैं धवन

चैंपियंस ट्रॉफी के असली 'गब्बर' हैं धवन

शिखर धवन को टीम इंडिया में प्यार से उनके साथी 'गब्बर' बुलाते हैं और उन्होंने अपने इस उपनाम को चरितार्थ करते हुए इस प्रारूप में एक और धमाका कर दिया है। उन्होंने 9 मैचों की 9 पारियों में 1 बार नाबाद रहकर सबसे अधिक 680 रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गए हैं। धवन ने ये सारे रन 3 शतक, 3 अर्धशतक, 85.00 की औसत और 101.79 की स्ट्राइक रेट से बनाया है जिसमें 75 चौके और 8 छक्के शामिल हैं। चैंपियंस ट्रॉफी में सबसे अधिक रन बनाने वालों की ओवर ऑल सूची में धवन चौथे नंबर पर हैं। इस प्रारूप में यूनिवर्स बॉस क्रिस गेल के नाम सबसे अधिक 791 रन हैं, महेला जयवर्धने (742 रन) दूसरे और कुमार संगकारा (683 रन) तीसरे स्थान पर हैं। उन्होंने दादा का रिकॉर्ड तोड़ दिया। गांगुली ने 13 मैच की 11 पारियों में 2 बाद नाबाद रहकर कुल 665 रन बनाए थे। द्रविड़ इस सूची में 627 रनों के साथ तीसरे और कप्तान कोहली 524 रनों के साथ चौथे स्थान पर मौजूद हैं। बांग्लादेश के खिलाफ कोहली की 96*चैंपियंस ट्रॉफी में उनका सर्वाधिक स्कोर है।

 सर जडेजा की फिरकी का भी है कमाल

सर जडेजा की फिरकी का भी है कमाल

आंकड़ों और रिकॉर्ड की बात हो और टीम इंडिया के सर जडेजा का नाम न आए, ऐसा भले कैस हो सकता है। टीम इंडिया में एक ऑल राउंडर की हैसियत से खेल रहे जडेजा ने भी मिनी वर्ल्ड कप में खूब धमाल मचाया है। टीम इंडिया के लिए वो इस प्रतियोगिता में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज बन गए हैं। 9 मैच की 9 पारियों में उन्होंने कुल 16 विकेट झटके हैं। इस दौरान उन्होंने बहुत ही किफायती गेंदबाजी भी की है, उन्होंने महज 4.48 प्रति ओवर की औसत से रन खर्च किए हैं और 1 बार 5 विकेट लेने का भी कारनामा किया है। उन्होंने जहीर खान का रिकॉर्ड तोड़ा है जिन्होंने इससे पहले 9 मैचों में 15 विकेट लेने का काम किया था।

एजबेस्टन पर सबसे सफल रन चेस

एजबेस्टन पर सबसे सफल रन चेस

भारत बनाम बांग्लादेश के सेमीफाइनल मैच में 50-50 मैच में इंग्लैंड के एजबेस्टन में टीम इंडिया ने सबसे बड़े स्कोर का सफल चेस किया। इसस पहले इंग्लैंड ने साल 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 261 रनों के लक्ष्य का सफलता पूर्वक पीछा किया था। बृहस्पतिवार को इस मैदान पर खेल गए मैच में टीम इंडिया के नाम एक और अनोखा रिकॉर्ड जुड़ गया।

शर्मा जी के 'सपूत' ने भी किया कमाल

शर्मा जी के 'सपूत' ने भी किया कमाल

हीप इंजरी के बाद एक लंबे अंतराल बाद टीम इंडिया में वापसी कर रहे रोहित शर्मा ने अपने करियर का 11वां शतक जड़ा और अंत तक नाबाद रहे। लंबी-लंबी पारियां खेलने वाले शर्मा जी का चैंपियंस ट्रॉफी में यह पहला शतक था। गौतम गंभीर के साथ वो टीम इंडिया के लिए सबसे अधिक शतक लगाने वाले खिलाड़ियों की सूची में संयुक्त रूप से सातवें स्थान पर हैं। उनके इस शानदार प्रदर्शन के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच अवार्ड से भी नवाजा गया और टीम इंडिया के कप्तान ने वेस्टइंडीज दौरे पर जाने वाली टीम में उन्हें आराम देने के फैसले को भी सही ठहराया है।

गेंदबाजों ने भी झटके हैं खूब विकेट

गेंदबाजों ने भी झटके हैं खूब विकेट

आईपीएल में सबसे शानदार गेंदबाजी करने वाले भुवनेश्वर और जसप्रीत बुमराह ने चैंपियंस ट्रॉफी में भी शानदार गेंदबाजी की है। 11 से 40 ओवर के बीच टीम इंडिया ने सबसे अधिक 19 विकेट लेने का कारनामा किया है। ऐस कोई भी दूसरी टीम नहीं कर पाई है। फाइनल में पहुंचने वाली पाकिस्तान की टीम इस मामले में 18 विकेट के साथ दूसरे स्थान पर है। ऐसी स्थिति में इस आंकड़ें को देखकर इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि दो महीने पहले इस टूर्नामेंट का बहिष्कार करने की सोचने वाली टीम इंडिया और दो साल पहले मुश्किल से इस प्रतियोगिता के लिए क्वालीफाई करने वाले पाकिस्तान के बीच फाइनल कितना दिलचस्प हो सकता है।

ICC टूर्नामेंट में तमीम इक़बाल बने काल

ICC टूर्नामेंट में तमीम इक़बाल बने काल

ICC के बड़े टूर्नामेंट में तमीम इक़बाल टीम इंडिया के खिलाफ हमेशा काल साबित हुए हैं। उन्होंने टीम इंडिया के खिलाफ तीन बार 50 या उससे अधिक रनों की पारी खेली है। पिछली पांच पारियों में उन्होंने चार पचासा जमाया है। इस साल आयोजित चैंपियंस ट्रॉफी में उन्होंने अपनी चार पारियों में कुल 293 रन बनाए हैं और इस दौरान उनका औसत 73.25 रहा है। दक्षिण अफ्रीका के जैक्स कालिस और तमिम टीम इंडिया के खिलाफ सबसे अधिक पचासा लगाने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में अब संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर हैं वहीं रिकी पोंटिंग दो शतक और दो अर्धशतक के साथ टॉप पर हैं।

गांगुली, धोनी और विराट में ये समानता

गांगुली, धोनी और विराट में ये समानता

सौरव गांगुली, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली टीम इंडिया के ऐसे कप्तान हैं जिन्होंने कप्तानी संभालने के ठीक बाद भारत को ICC के किसी भी वर्ल्ड कप में पहुंचाया है। 1999 में कप्तान बने 'दादा' ने टीम इंडिया को 2000 के ICC Knockout Cup में टीम को पहुंचाया था लेकिन न्यूजीलैंड से फाइनल में हार मिली। 2007 में टीम इंडिया की कप्तानी संभालने वाले धोनी ने टीम को फाइनल में पहुंचाया और टी-20 चैंपियन बने। अब विराट ने भी कप्तानी संभालने के बाद पहले बड़े टूर्नामेंट में टीम को फाइनल में पहुंचाया है। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि उन्हें जीत मिलती है या नहीं।

दूसरी बार फाइनल में भारत-पाक

दूसरी बार फाइनल में भारत-पाक

अब दुनिया के सभी क्रिकेट प्रशंसकों और फैंस की नजरें ओवल के मैदान पर टिकी हैं जहां आम मौकों पर एक साथ कम खेलने वाली दो टीमें भारत और पाकिस्तान आमने-सामने होंगी। टीम इंडिया को अपने टाइटल बचाने की चुनौती होगी वहीं पाकिस्तान की टीम के पास खोने के लिए कुछ भी नहीं है। 30 अक्टूबर 2015 को गिरते-पड़ते इस टूर्नामेंट के लिए टॉप-8 में जगह पाने वाला पाक फाइनल में अपनी पूरी ताकत झोंक देगा। वहीं प्राइम फॉर्म में चल रहे टीम इंडिया के खिलाड़ी किसी भी बड़े इवेंट में उनसे नहीं हारने का रिकॉर्ड बरकरार रखना चाहेंगे।

धोनी की अगुआई वाली 2007 की टीम ने सी टीम के खिलाफ पहला टी-20 विश्व कप जीता था, 10 साल बाद टीम में थोड़े बदलाव हुए हैं लेकिन दोनों टीमें क्रिकेट इतिहास में किसी फाइनल में सिर्फ दूसरी बार आमने-सामने हैं। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या विराट अपने आवेश के साथ 'कम्पोजर' के कॉकटेल से यह खिताब बचा पाएंगे।

टीम इंडिया के एक (131 करोड़) आम प्रशंसक के तौर पर आने वाला रविवार किसी राष्ट्रीय छुट्टी या पर्व से कम नहीं होगा। फिलहाल आंकड़ों की दुनिया से इतना ही, उम्मीद है भारत की टाइटल जीत के साथ फिर आपके लिए ऐसे ही कुछ दिलचस्प आंकड़े आप तक पहुंचाऊंगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Champions Trophy 2017 : 11 amazing stats before India Vs Pak final in oval
Please Wait while comments are loading...