• search
क्विक अलर्ट के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
For Daily Alerts

हरियाणा पुलिस की गिरफ्त में 5 प्रदर्शनकारी, उन्हें छुड़ाने के लिए आमरण अनशन पर बैठे किसान नेता बेहोश

|
Google Oneindia News

सिरसा। हरियाणा के सिरसा जिले में पुलिस द्वारा राजद्रोह के केस में गिरफ्तार किए गए 5 प्रदर्शनकारियों को छुड़वाने के लिए किसान संगठनों की ओर से प्रदर्शन हो रहे हैं। आरोपितों की रिहाई की मांग को लेकर रविवार से आमरण अनशन पर बैठे संयुक्त मोर्चा के नेता बलदेव सिंह की तबीयत बिगड़ गई। बेहोशी की अवस्था में बलदेव को एंबुलेंस लेने आई। इससे कुछ प्रदर्शनकारी सकपका गए, उन्हें शक था कि कहीं प्रशासन अस्पताल न ले जाए और अनशन न तुड़वा दे, लेकिन समझाइश पर बाद में मान गए।

farmer leaders

डॉक्टरों की टीम ने बताया कि, आमरण अनशन पर बैठे संयुक्त मोर्चा के नेता बलदेव सिंह का ब्लड प्रेशर व शुगर लेवल बढ़ गया था,इसलिए उनकी तबियत बिगड़ी। जिसके लिए डॉक्टरों ने एम्बुलेंस में ईसीजी की।बताया जा रहा है कि, उस दौरान किसान प्रदर्शनकारी एंबुलेंस घेरकर खड़े हो गए थे। उधर, खबर यह भी आई कि, किसानों ने असंध में भाजपा की बैठक का विरोध किया। जिस पर पुलिस ने 27 किसानों को हिरासत में ले लिया। तकरीबन डेढ़ घंटा थाने का घेराव करने पर उन्हें छोड़ा गया।

पुलिस ने बताई राजद्रोह में गिरफ्तारी की वजह
5 लोगों की गिरफ्तारी पर पुलिस का कहना है कि, उक्त प्रदर्शनकारियों को इसलिए राजद्रोह के मामले में गिरफ्तार किया गया है क्योंकि उन्होंने बीती 11 जुलाई को विधानसभा के डिप्टी स्पीकर की गाड़ी पर हमला किया था। उस दौरान डिप्टी स्पीकर की गाड़ी के कांच फूट गए थे और वे बाल-बाल बचे थे। जिसके बाद 100 से ज्यादा प्रदर्शनकारियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया। कथिततौर पर हमला करने वालों को पकड़ा गया। उन्हें राजद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया गया।

​हरियाणा से दिल्ली पहुंचे भाकियू नेता गुरनाम चढ़ूनी, 200 प्रदर्शनकारियों के साथ संसद कूच को तैयार​हरियाणा से दिल्ली पहुंचे भाकियू नेता गुरनाम चढ़ूनी, 200 प्रदर्शनकारियों के साथ संसद कूच को तैयार

इधर, डिप्टी सीएम को काले झंडे दिखाए
पुलिस को चुनौती देते हुए प्रदर्शनकारियों ने असंध व हांसी में प्रदर्शन किए। काफी संख्या में एकत्रित होकर किसान भाजपा असंध मंडल की बैठक को अवरुद्ध करने पहुंच गए। वे जब पंजाबी धर्मशाला के पास पहुंचे तो पुलिस रोकने लगी। इस पर किसानों ने बैरिकेड तोड़े। बाद में पुलिस 27 किसानों को हिरासत में लेकर मूनक थाना भेज दिया। वहीं, हांसी में टोल पर किसानों ने डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला को काले झंडे दिखाए।

English summary
five protesters caught by Haryana Police, farmer leaders sit on hunger strike to free them
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X