• search
सिद्धार्थनगर न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

UP: बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी के भाई गरीब कोटे से बने असिस्‍टेंट प्रोफेसर, उठी जांच की मांग

|
Google Oneindia News

सिद्धार्थनगर, मई 23: उत्तर प्रदेश सरकार में बेसिक शिक्षा मंत्री का कार्यभार संभाल रहे डॉ सतीश द्विवेदी के भाई डॉ अरुण द्विवेदी की सिद्धार्थ विश्वविद्यालय, कपिलवस्तु में असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर हुई नियुक्ति सोशल मीडिया पर चर्चा में है। कहा जा रहा है कि मंत्री के भाई की नियुक्ति ईडब्‍ल्‍यूएस (आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य अभ्यर्थी) कोटे में मनोविज्ञान विभाग में हुआ है। इसको लेकर अब सवाल उठ रहे हैं। सिद्धार्थ विश्वविद्यालय में मनोविज्ञान विभाग में असिस्टेंट प्रोफेसर के पद पर आर्थिक रूप से कमजोर सामान्य अभ्यर्थी के कोटे में नियुक्ति होना लोगों के मन में कई तरह के सवाल पैदा कर रहा है। उधर, सिद्धार्थ विश्वविद्यालय के कुलपति ने कहा कि ईडब्ल्यूएस प्रमाण पत्र प्रशासन जारी करता है। शैक्षिक प्रमाण पत्र सही था। इंटरव्यू की वीडियो रिकॉर्डिंग भी उपलब्ध है। सोशल मीडिया के माध्यम से मुझे जानकारी हुई कि वह मंत्री जी के भाई हैं। अगर ईडब्ल्यूएस प्रमाण पत्र फर्जी हुआ तो वह निश्चित रूप से दंड के भागी हैं।

UP basic education minister satish-dwivedi brother becomes assistant professor on ews quota

सिद्धार्थनगर जिले इटवा तहसील से विधायक डॉ सतीश द्विवेदी के भाई डॉ अरुण द्विवेदी शुक्रवार को ही सिद्धार्थ विश्वविद्यालय में ज्वाइन कर लिए और उसके ज्वाइन करने के बाद से ही सोशल मीडिया पर तरह तरह की पोस्ट वायरल होने लगी थी। इस मामले में सिद्धार्थ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर सुरेंद्र दुबे ने बताया कि मनोविज्ञान में लगभग डेढ़ सौ आवेदन आए थे। मेरिट के आधार पर 10 आवेदकों का चयन किया गया। इनमें अरुण कुमार पुत्र अयोध्या प्रसाद भी थे। इन्हीं 10 लोगों का इंटरव्यू हुआ तो अरुण दूसरे स्थान पर रहे। इंटरव्यू एवं एकेडमिक और अन्य अंकों को जोड़ने पर अरुण पहले स्थान पर आए। इस वजह से इनका चयन हुआ है।

यूपी में शिक्षकों की मौत का मामला: प्रियंका ने कहा- लीपापोती न करे सरकार, मुआवजा देयूपी में शिक्षकों की मौत का मामला: प्रियंका ने कहा- लीपापोती न करे सरकार, मुआवजा दे

कुलपति ने कहा कि ईडब्ल्यूएस प्रमाण पत्र प्रशासन जारी करता है। शैक्षिक प्रमाण पत्र सही था। इंटरव्यू की वीडियो रिकॉर्डिंग भी उपलब्ध है। सोशल मीडिया के माध्यम से मुझे जानकारी हुई कि वह मंत्री जी के भाई हैं। अगर ईडब्ल्यूएस प्रमाण पत्र फर्जी हुआ तो वह निश्चित रूप से दंड के भागी हैं। पूर्व आईएएस अमिताभ ठाकुर और डॉ नूतन ठाकुर ने डॉ. अरुण कुमार उर्फ अरुण द्विवेदी द्वारा नियुक्ति हेतु दिए गए ईडब्‍ल्‍यूएस सर्टिफिकेट की जांच की मांग की है।

English summary
UP basic education minister satish-dwivedi brother becomes assistant professor on ews quota
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X