• search
संभल न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

संभल: 'बच्चा चोरी' के शक में बेकाबू भीड़ ने चाचा को लाठी-डंडों से पीटकर मार डाला

|

संभल। उत्तर प्रदेश में बच्चा चोरी की अफवाह के चलते उन्मादी भीड़ अब हत्यारी होती जा रही है। ऐसा ही एक मामला संभल जिले में सामने आया है। यहां पेट दर्द से तड़प रहे भतीजे को इलाज के लिए ले जा रहे दो चाचाओं को उन्मादी भीड़ ने बच्चा चोर समझकर लाठी-डंडों से बुरी तरह से पीट दिया। पिटाई से एक युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरा भी मरणासन्न हालत में पहुंच गया। फिलहाल इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज कर चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

क्या है मामला

क्या है मामला

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, चंदौसी के कुढ़ फतेहगढ़ थाना क्षेत्र के छाबड़ा गांव निवासी त्रिलोकी के सात वर्षीय बेटे रवि को सुबह दस बजे उल्टी-दस्त शुरू हो गए। उन्होंने रीठ गांव के एक निजी चिकित्सक से दवाई दिलाई, लेकिन फायदा नहीं हुआ। दोपहर को उसकी हालत बिगड़ गई। इसके बाद त्रिलोकी के दो भाई रामौतार और राजू भतीजे रवि को बाइक पर बैठाकर चंदौसी के अस्पताल में उपचार के लिए निकल पड़े। दोपहर एक बजे जब दोनों भाई भतीजे को लेकर असालातपुर जरई गांव से गुजर रहे थे तो वहां मौजूद ग्रामीणों की नजर उन पर पड़ गई। पेट दर्द से चीख रहे बच्चे को देखकर ग्रामीणों को लगा कि उसे जबरन उठा कर ले जाया जा रहा है।

मूक दर्शक बनी रही पुलिस

मूक दर्शक बनी रही पुलिस

रामौतार और राजू को बच्‍चा चोर समझकर ग्रामीण ने शोर मचाना शुरू कर दिया। आनन-फानन में करीब 300 लोगों की भीड़ मौके पर इकठ्ठा हो गई। बच्चा चोरी के शक में दोनों भाइयों को बिना पूछताछ के ही लाठी-डंडों से पीटना शुरू कर दिया। दोनों को इतनी बेरहमी से पीटा गया कि उनकी कपड़े तक फट गए। इस बीच दोनों गुहार लगाते रहे कि बच्चा उनका भतीजा है, लेकिन किसी ने उनकी एक न सुनी। इस बीच, मौके पर पहुंची डायल-100 की टीम भी दोनों को बचा नहीं सकी। पुलिस के सामने ही भीड़ दोनों को पीटती रही। दोनों को पीट-पीटकर अधमरा करने के बाद छोड़ा। अस्पताल ले जाते वक्त राजू ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया, जबकि रामौतार गंभीर हालत में भर्ती है।

अफवाहों पर न दें ध्यान

अफवाहों पर न दें ध्यान

मॉब लिंचिंग की जानकारी मिलते ही जिलाधिकारी अविनाश कृष्ण सिंह, एडीएम लवकुश त्रिपाठी, पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद, एएसपी आलोक जायसवाल सहित कई आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। आईजी रमित शर्मा ने भी शाम को मौका-ए-वारदात पर पहुंचकर मामले की जानकारी ली। एसपी संभल यमुना प्रसाद ने बताया कि घायल युवक की तहरीर के आधार पर चार नामजद समेत 10-12 अज्ञात के खिलाफ हत्या और बलवे जैसी धाराओं में मामला दर्ज करके चाक को गिरफ्तार किया गया है। कहा कि सोशल मीडिया पर जो भी लोग बच्चा चोर से संबंधित वीडियो व फोटो वायरल कर रहे हैं, ऐसे लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही उन्होंने कहा कि अफवाहों पर ध्यान न दें।

ये भी पढ़ें:- जब घर में अचानक दिखा जहरीला तक्षत नाग, एक बूंद जहर से हो सकती है सैकड़ों लोगों की मौत

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
2 men thrashed by mob on suspicion of them being child-lifters
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X