• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

राजस्थान : छापे के दौरान यहां मिला 'पत्थर' जैसा दूध, वीडियो देखकर हैरान हो जाएंगे आप

|

भरतपुर। त्योहारी सीजन आते ही बाजार में मिलवाटी मिठाइयों की भरमार हो जाती है। राजस्थान के भरतपुर से मिलावटखोरी का एक ऐसा मामला सामना आया है, जिसे देखकर आप हैरान परेशान हो जाएंगे। आप अभी ये जो तस्वीरें देख रहे हैं ये पत्थर नहीं दूध है। इसी से मिठाइयां बनाई जानी थी, लेकिन समय रहते राजस्थान स्वास्थ्य विभाग की टीम ने इसे नष्ट कर दिया।

    Rajasthan: Raid के दौरान यहां मिला पत्थर जैसा Milk, देखकर हैरान हो जाएंगे आप | वनइंडिया हिंदी
    राजस्थान सरकार का शुद्ध के लिए युद्ध अभियान

    राजस्थान सरकार का शुद्ध के लिए युद्ध अभियान

    दरअसल, मिलावटखोरों के खिलाफ राजस्थान सरकार का 'शुद्ध के लिए युद्ध अभियान' जारी है। इसी कड़ी में भरतपुर के एसडीएम संजय गोयल के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अटलबंद मंडी में स्थित कंसल मावा फैक्ट्री पर छापा मारा। यहां पत्थर की तरह जमे दूध को देखकर अधिकारियों की आंखें फटी की फटी रह गई।

     हथौड़े से ही तोड़ा जा सकता था

    हथौड़े से ही तोड़ा जा सकता था

    दूध इतना सख्त था कि उसे हथौड़े से ही तोड़ा जा सकता था। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 3000 लीटर सिंथेटिक दूध को जब्त कर नष्ट करवा दिया। साथ ही 1 हजार किलो मावे को भी नष्ट करवाया। और मावा दूध घी क्रीम के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे।

     सैंपल लेकर जांच शुरू की

    सैंपल लेकर जांच शुरू की

    एसडीएम संजय गोयल ने बताया कि सूचना मिली थी कि खराब मावे से मिठाई बनाई जा रही है। इसके बाद मावा फैक्ट्री पर छापा मारा तो यहां सॉलिड फॉर्म में दूध मिला। उसे नष्ट किया गया और मावा दूध घी क्रीम के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं।

    स्कूल बंद हुआ तो रिटायर्ड अफसर ने शुरू किया गांव के बच्चों को पढ़ाना, भरतपुर मेयर भी हैं अभिजीत

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Raids on Mawa factory in Bharatpur as part of shudh ke liye yudh abhiyan
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X