• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

अपना घर आश्रम भरतपुर : लावारिस की जिंदगी जी रहे राहुल मेहता निकले चंडीगढ़ के करोड़पति शख्स

|

भरतपुर। अक्सर हम लोगों को देखकर उनके बारे में अपनी कई तरह की राय बना लेते हैं, जबकि हकीकत कुछ और ही होती है। ऐसी ही कहानी राजस्थान के भरतपुर में सामने आई है। यहां पर हर कोई जिस शख्स को बेहद गरीब मान रहा था वो करोड़पति निकला है।

    अपना घर आश्रम भरतपुर : लावारिस की जिंदगी जी रहे राहुल मेहता निकले चंडीगढ़ के करोड़पति शख्स
    अपना घर आश्रम भरतपुर

    अपना घर आश्रम भरतपुर

    दरअसल, भरतपुर में 'अपना घर आश्रम' है, जिसमें बीते ढाई साल से चंडीगढ़ निवासी राहुल मेहता रह रहे थे। इनकी मानसिक स्थिति सही नहीं थी। हर कोई इन्हें बचपन से ही मानसिक विमंदित मान रहा था, मगर अब इनकी असल जिंदगी की चौंका देने वाली कहानी पता चली है।

    2018 में भरतपुर आए

    2018 में भरतपुर आए

    अपना घर आश्रम भरतपुर के संस्थापक डॉ. बीएम भारद्वाज ने बताया कि अगस्त 2018 में महाराष्ट्र के करजत की एक संस्था चंडीगढ़ के राहुल मेहता को लावारिस हालत में अपना घर आश्रम लेकर आई थी। इनकी मानसिक स्थिति खराब थी। तब से यहां पर उपचार व देखभाल की जा रही थी।

    माता-पिता व भाई की मौत

    माता-पिता व भाई की मौत

    हाल ही चंडीगढ़ पुलिस अपना घर आश्रम भरतपुर पहुंची और बताया कि राहुल मेहता करोड़ों के मालिक हैं। इनके पिता वेद प्रकाश मेहता, मां और भाई मोहित मेहता की मौत हो जाने के बाद ये चंडीगढ़ स्थित अपनी कोठी में अकेले रह रहे थे। मकान पर कुछ शराब माफिया और हाईप्रोफाइल लोगों ने मिलकर कब्जा कर लिया था।

     2017 में बीमार थे राहुल मेहता

    2017 में बीमार थे राहुल मेहता

    डॉ. भारद्वाज की मानें तो वर्ष 2017 में राहुल मेहता बीमार थे। तब कथित 'अपनों' ने इनके घर जबरन कब्जा कर लिया। इन्हें अपने ही घर में छह माह तक कैद करके रखा। उन पर तरह-तरह के टॉर्चर किए गए। इसे राहुल मेहता के मानसिक हालात बिगड़ते गए और एक वक्त आने पर आरोपी राहुल मेहता को मानसिक विमंदित के हालात में ही गुजरात के भुज में लावारिस छोड़ गए।

     गुजरात के भुज में छोड़ा लावारिस

    गुजरात के भुज में छोड़ा लावारिस

    गुजरात के भुज में लावारिस घूम रहे राहुल मेहता पर महाराष्ट्र की सामाजिक संस्था की नजर पड़ी। वह उसे अपने करजत स्थित होम में ले गई। वहां से जुलाई 2018 में उस संस्था ने इन्हें भरतपुर के अपना घर आश्रम तक पहुंचाया। यहां पर राहुल मेहता का इलाज चल रहा था।

     राहुल को भरतपुर से चंडीगढ़ ले गई

    राहुल को भरतपुर से चंडीगढ़ ले गई

    इस बीच राहुल मेहता के साथ ढाई साल पहले हुए पूरे घटनाक्रम की पड़ताल कर रही चंडीगढ़ पुलिस को सूचना मिली कि राहुल मेहता भरतपुर के अपना घर आश्रम में हैं। ऐसे में गुरुवार को चंडीगढ़ पुलिस टीम यहां पहुंची और कागजी कार्रवाई पूर्ण कर राहुल मेहता को अपने साथ चंडीगढ़ ले गई।

    Crorepati Beggar : भिखारी रमेश यादव निकला करोड़पति, बंगले में वापसी पर परिजनों ने रखी यह शर्त?

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    Rahul Mehta crorepati of chandigarh who lives in Apna Ghar Ashram Bharatpur
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X