• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

राजस्थान के डूंगरपुर में नहीं थम रहा हिंसक प्रदर्शनों का सिलसिला, गोलीबारी में एक की मौत, कई वाहन फूंके

|

नई दिल्ली: राजस्थान के डूंगरपुर में शनिवार को तीसरे दिन भी हिंसक प्रदर्शनों का सिलसिला जारी रहा। इस दौरान हुई गोलीबारी में अमन नाम के एक शख्स की मौत हो गई, जबकि कई अन्य लोग घायल बताए जा रहे हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक की। फिलहाल अभी भी इलाके में स्थिति तनावपूर्ण बताई जा रही है।

    Rajasthan के डूंगरपुर में नहीं थम रहा बवाल, पुलिस की गोली से एक शख्स की मौत | वनइंडिया हिंदी
    हेलीकॉप्टर से भेजे गए कई अधिकारी

    हेलीकॉप्टर से भेजे गए कई अधिकारी

    जानकारी के मुताबिक प्रदर्शनकारियों का एक दल इस मामले में मंत्री अर्जुन सिंह बामनिया ने मुलाकात करने गया था। मुलाकात चल ही रही थी कि इसी दौरान अन्य प्रदर्शनकारी फिर से उग्र हो गए, जिन्हें रोकने के लिए पुलिस को गोली चलानी पड़ी। इस दौरान एक शख्स की मौत हो गई। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक अभी ये बात तय नहीं है कि उस शख्स की मौत पुलिस की गोली से हुई है या किसी और की। हालात को काबू में करने के लिए डीजी क्राइम एमएल लाठर, एडीजी एसीबी दिनेश एमएन, जयपुर के पुलिस आयुक्त आनंद श्रीवास्तव समेत कई अधिकारियों को हेलीकॉप्टर के जरिए डूंगरपुर भेजा गया है।

    मुख्यमंत्री ने कही ये बात

    मुख्यमंत्री ने कही ये बात

    वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर आंदोलनकारियों से हिंसा को समाप्त करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि सरकार समाज के किसी भी वर्ग की सभी जायज मांगों को पूरा करने के लिए तैयार है। मामले की गंभीरता को देखते हुए राज्यपाल कलराज मिश्र ने भी मुख्यमंत्री से बात की। इसके साथ ही प्रमुख सचिव (गृह) अभय कुमार और एडीजी (कानून व्यवस्था) सौरभा श्रीवास्तव को राजभवन बुलाकर हालत जल्द से जल्द नियंत्रित करने के निर्देश दिए।

    क्यों और कहां हुआ उपद्रव?

    क्यों और कहां हुआ उपद्रव?

    राजस्थान में डूंगरपुर जिला जनजाति बाहुल्य है। प्रदर्शन करने वाले अधिकांश लोग भी इसी वर्ग से हैं। प्रदर्शनकारियों में ज्यादातर लोग राजस्थान शिक्षक भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थी हैं। प्रदर्शनकारियों की मुख्य मांग राजस्थान शिक्षक भर्ती परीक्षा में अनारक्षित 1167 पदों को जनजाति (एसटी) वर्ग से भरने की है। मौजूदा वक्त में डूंगरपुर जिला मुख्यालय से करीब 30 किलोमीटर दूर उदयपुर-अहमदाबाद हाईवे पर बिछीवाड़ा-खेरवाड़ा का इलाका उपद्रव का केन्द्र बिन्दू है। अभी तक एसपी की गाड़ी समेत 30 से ज्यादा वाहन फूंके जा चुके हैं। साथ ही पुलिस ने 700 से ज्यादा लोगों पर केस दर्ज किया है।

    राजस्थान में क्यों जल उठा उदयपुर-अहमदाबाद हाईवे, देखें डूंगरपुर में 40 घंटे में 30 वाहन फूंकने की 20 फोटो

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    one man killed in rajasthan Dungarpur violence
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X