• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

9 साल के इकलौटे बेटे को बचाने के लिए मां ने जिंदगी लगा दी दांव पर, दोनों की मौत

|

Sikar News in Hindi, सीकर। राजस्थान में एक मां अपने 9 साल के बेटे को बचाने के लिए खुद की जिंदगी दांव पर लगा दी। हालांकि दोनों ही बच नहीं पाए। मामला राजस्थान के सीकर जिले के दांतारामगढ़ इलाके के गांव गोडियावास का है। यहां मंगलवार रात करीब 8 बजे कंरट लगने से मां-बेटे की मौत हो गई।

तारबंदी के पास खड़ा था बेटा

तारबंदी के पास खड़ा था बेटा

हादसे की शिकार सुमन कंवर (35) व उसके इकलौत बेटे के 11 हजार केवी का कंरट लगा, जिससे दोनों की मौके पर मौत हो गई। आसपास के लोग दोनों को दांता अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां चिकित्सकों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। घटनाक्रम के अनुसार गोडियावास बस स्टेण्ड पर पूर्णसिंह राजपूत के मकान है। मकान के सामने तारबंदी की हुई है। तारबंदी के पास 11 हजार केवी का पोल लगा है। शाम को करीब आठ बजे पूर्णसिंह का 9 साल का इकलौता बेटा योगेन्द्र मकान के बाहर तारबंदी के पास खेल रहा था।

लोहे के तारों के कारण पूरा खम्बा भी जल गया

लोहे के तारों के कारण पूरा खम्बा भी जल गया

ऊपर से जा रही 11 हजार केवी के खम्बे पर लगी चिकनी मिट्टी की इंसुलिन अचानक टूट गई और 11 हजार केवी का तार खम्बे पर ही लोहे की एंगल पर आ गिरा। फिर सीमेंट के खम्बे में लगे लोहे के तारों के कारण पूरा खम्बा जल गया तथा कंरट नीचे तारबंदी में आ गया। इधर, तारबंदी के पास खड़ा योगेंन्द्र जोर से चिल्लाया तो मां सुमन कंवर योगेन्द्र के पास दौड़ी। उसके बचाने के लिए योगेन्द्र को छूूते ही सुमन कंवर के भी 11 हजार का कंरट दौड़ गया। पलक झपकते ही दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपे

पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपे

यह यब देख आसपास के लोग वहां आए और दोनों को लेकर दांता के राजकीय अस्पताल गए, जहां दोनों को मृत घोषित कर दिया। इधर सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और शवों को मोर्चरी में रखवाया। पुलिस उपाधीक्षक रामनिवास तथा थानाप्रभारी श्रीराम कस्वा ने भी अस्पताल पंहुचकर परिजनों से बातचीत की।

दलित युवक को मंदिर में घुसने पर रस्सी से बांधकर जमकर पीटा, देखें वायरल VIDEO

निगम व सरकार की ओर से छह लाख की आर्थिक सहायता

दांतारामगढ़ गोडियावास गांव में करंट से मरे मां बेटे का पोस्टमार्टम के बाद शव बुधवार को परिजनों को सौंप दिया गया। मृतकों के परिजनों को विद्युत निगम की ओर से पांच पांच लाख रुपए तथा मुख्यमंत्री सहायता कोष से एक लाख रुपए दिए जाएंगे। मुआवजे की घोषणा एसडीएम अशोक रणवा ने अस्पताल पहुंचकर ग्रामीणों के समक्ष की। वहीं विद्युत निगम के अधिशासी अभियंता एमके टीबड़ा भी अस्पताल पहुंचे और निगम की ओर से पांच 5 लाख आर्थिक सहायता देने की आश्वासन दिया। इस मौके पर तहसीलदार हरिसिंह राव, थानाप्रभारी श्रीराम कस्वा भी मौजूद थे। अस्पताल में विधायक वीरेंद्र सिंह भी परिजनों को ढांढस बधाने पहुंचे।

महिला अफसर ले रही थी वीडियो कॉन्फ्रेंस, इसी दौरान चल गई 'गंदी' फिल्म, मच गया हड़कंप

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Mother Son died Due to electric shock in Godiyawas Village Of Sikar
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X