• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  
Oneindia App Download

VIDEO : लहंगा-लुगड़ी पहने सास-बहू ने हॉकी में दागे गोल, मैदान पर रफ्तार देखकर चौंक गए लोग

Google Oneindia News

सीकर, 1 सितम्‍बर। हॉकी के जादूगर मेजर ध्‍यान चंद की जयंती 29 अगस्‍त से राजस्‍थान में राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल 2022 का आयोजन हो रहा है। इसमें स्‍कूली बच्‍चों से लेकर बुजुर्ग तक हाथ आजमा रहे हैं। कहीं पारम्‍परिक घाघरा-लूगड़ी पहने सास-बहू, काकी, दादी खेलती नजर आ रही हैं तो कहीं रूमाल-लूंगी दादा खेलते दिखे। ग्रामीण ओलंपिक में खो-खो, वॉलीबाल, टेनिस बाल क्रिकेट, हॉकी व शूटिंग बाल समेत कई खेल खेले जा रहे हैं।

गांव बावड़ी में महिलाओं के बीच हॉकी का मैच

गांव बावड़ी में महिलाओं के बीच हॉकी का मैच

ग्रामीण ओलंपिक खेल 2022 के तहत सीकर जिले के गांव बावड़ी में महिलाओं के बीच हॉकी का मैच हुआ। इसमें सास-बहू, देवरानी-जेठानी और स्‍कूली छात्राएं हॉकी खेलती नजर आई। गांव बावड़ी के सीनियर सैकंडरी स्‍कूल के खेल मैदान में हॉकी खेल रहीं ग्रामीण महिलाओं की रफ्तार देखकर लोग चौंक गए।

 टीम में हरकोरी और धनी देवी देवरानी-जेठानी

टीम में हरकोरी और धनी देवी देवरानी-जेठानी

यह मैच देखने के लिए बड़ी संख्‍या में ग्रामीण बावड़ी स्‍कूल के मैदान पर पहुंचे। यहां पर लहंगा-लुगड़ी और सिर पर पल्लू रखकर मैदान में गोल पर गोल दागे तो लोग हैरान रह गए। ग्रामीणों ने उम्रदराज खिलाड़ियों का तालियां बजाकर स्वागत किया और हौसला बढ़ाया। इस मैच में महिलाओं की टीम में करीब 6 महिलाएं ऐसी थीं जिनकी उम्र 60 साल से ज्यादा थी। टीम में देवरानी-जेठानी हरकोरी और धनी देवी भी थीं। हॉकी के लिए उन्हें दोनों की पोती प्रेम ने ही प्रैक्टिस करवाई थी।

12 मिनट तक दोनों टीम गोल नहीं कर पाई

बता दें कि राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल 2022 के तहत हुए इस मैच की शुरुआत में 10 से 12 मिनट तक दोनों टीम गोल नहीं कर पाई। इसके बाद लड़कियों ने गोल कर महिलाओं की टीम के सामने बढ़त बनाई। करीब 28 मिनट तक चले इस मुकाबले में लड़कियों की टीम 4-2 से जीती। मैच भले ही लड़कियों ने जीता, लेकिन पूरे मैच का फोकस बुजुर्ग महिला खिलाड़ी ही रहीं।

 70 साल से ज्यादा उम्र की बुजुर्ग महिलाओं ने भी गोल किया

70 साल से ज्यादा उम्र की बुजुर्ग महिलाओं ने भी गोल किया

मीडिया से बातचीत में गांव के सरपंच प्रतिनिधि कैलाश बाजिया ने बताया कि मैच में 70 साल से ज्यादा उम्र की बुजुर्ग महिलाओं ने भी गोल किया। महिला खिलाड़ियों को इनाम के तौर पर भामाशाहों ने नगद पुरस्कार प्रदान किए। बाजिया ने कहा कि ऐसे आयोजन हमेशा होते रहने चाहिए। जिससे कि लोग बीमारी से भी दूर रहने के साथ ही गांव के खिलाड़ियों को भी मौका मिलता रहे।

 टीम ने काफी मेहनत की

टीम ने काफी मेहनत की

75 वर्षीय खिलाड़ी धनीदेवी व हरकोरी देवी ने कहा कि राजीव गांधी ग्रामीण ओलंपिक खेल 2022 में बाजी मारने के लिए हमारी बुजुर्ग महिलाओं की टीम ने काफी मेहनत की। स्‍कूल के मैदान पर गांव की बेटियों ने स्कूल ग्राउंड में प्रैक्टिस करवाई थी। आज हॉकी खेलकर काफी अच्छा लगा। पूरी मेहनत के बावजूद मैच नहीं जीत पाने का अफसोस है। हालांकि उम्र अधिक होने के कारण हाथ-पैरों में दर्द रहता है, लेकिन आज जब मैच खेलने के लिए उतरी तो बिल्कुल भी अहसास नहीं हुआ कि दर्द भी है।

 शुरुआत जोधपुर के गांव पाल से

शुरुआत जोधपुर के गांव पाल से

बता दें कि राजस्‍थान में ग्रामीण ओलिंपिक में 11 हजार से ज्यादा ग्राम पंचायतों के 44 हजार से ज्यादा गांव में 5 अक्टूबर तक गेम्स होंगे। इनकी शुरुआत जोधपुर के गांव पाल से राजस्‍थान मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा था कि अब शहरों में ऐसे गेम्स आयोजित किए जाएंगे। जनवरी 2023 में इसकी शुरुआत होगी। इस मौके पर खेल मंत्री अशोक चांदना भी मौजूद थे।

Himanshu Gupta : चायवाला वो लड़का जिसने 3 बार पास की UPSC, मजदूर का ये बेटा IAS बनकर ही मानाHimanshu Gupta : चायवाला वो लड़का जिसने 3 बार पास की UPSC, मजदूर का ये बेटा IAS बनकर ही माना

Comments
English summary
Mother-in-law wearing lehenga-lugdi scored goals in hockey rural olympic games
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X