• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

राजस्थान में अब 'जाट आंदोलन' की आहट, 25 दिसंबर से महापड़ाव का ऐलान, जानिए जाटों की मांगें

|

भरतपुर। कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर में चल रहे किसान आंदोलन के बीच अब जाट राजस्थान सरकार की मुश्किल बढ़ाने वाले हैं। आरक्षण की मांग को लेकर राजस्थान के जाटों ने 25 दिसंबर से महापड़ाव का ऐलान किया है।

    Rajasthan Jat Reservation: Gehlot सरकार मुश्किल में, 25 December से जाट आंदोलन शुरू | वनइंडिया हिंदी

    jat andolan in Rajasthan call for mahapadav from 25 December

    भरतपुर में 25 दिसंबर को भरतपुर संस्थापक महाराजा सूरजमल का बलिदान दिवस है। इसी दिन से भरतपुर धौलपुर जिलों के जाट केंद्र में ओबीसी वर्ग में आरक्षण की मांग को लेकर महापड़ाव शुरू करेंगे। जाटों का आरोप है कि सरकार को हमारी मांगों पर विचार करने के लिए 20 दिन का वक्त दिया था, लेकिन सरकार ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। अब सिर्फ आंदोलन का रास्ता बचा है।

    Gurjar Andolan 2020 : 11 दिन के बाद दिल्ली- मुम्बई ट्रैक से हटे गुर्जर, सरकार ने मानी गुर्जरों की ये 6 मांगें

    जाट आरक्ष संघर्ष समिति संयोजक नेम सिंह समेत अन्य जाट नेताओं के आरोप हैं कि साल 2017 में हुए जाट आंदोलन समझौता के दौरान राजस्थान सरकार ने जाटों को वायदा किया था कि दोनों जिलों के जाटों को केंद्र में आरक्षण के लिए राज्य सरकार चिट्ठी लिखेगी और दर्ज मुकदमों को वापस लिया जायेगा, लेकिन राजस्थान सरकार ने इन मांगों को अभी तक पूरा नहीं किया है।

    देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
    English summary
    jat andolan in Rajasthan call for mahapadav from 25 December
    For Daily Alerts
    तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
    Enable
    x
    Notification Settings X
    Time Settings
    Done
    Clear Notification X
    Do you want to clear all the notifications from your inbox?
    Settings X
    X