• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

VIDEO : शादी के बाद विदाई के समय दुल्हन को इसलिए छोड़ गया दूल्हा, बड़ी बहन का भी टूटा घर

By अनंद दाधीच
|

बूंदी। राजस्थान के बूंदी शहर के बायपास रोड स्थित राजीव गांधी कॉलोनी में सोमवार को निकाह के बाद मुंह मांगा दहेज नहीं देने पर दुल्हन को नहीं ले जाने का मामला सामने आया है। महिला थाना पुलिस ने दूल्हे और उसके परिजनों के खिलाफ दहेज प्रताड़ना का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

VIDEO : लुटेरी निकली यह दुल्हन, NRI दूल्हे को दिया धोखा, दुबई घूमने के बाद साथ रहने से किया मना

बारां से आई थी बारात

बारां से आई थी बारात

जानकारी के अनुसार हुसैन शाह की बेटी का निकाह बारां जिले के छबड़ा निवासी गोलू के साथ हुआ। दुल्हन पक्ष का आरोप है कि विदाई के वक्त दुल्हा पक्ष ने दहेज की मांग रखी। इस दौरान उन्होंने कई सारे महंगे सामानों की सूची बताई, जिसे देने में दुल्हन के पिता ने असमर्थता जताई। जिस पर दहेज के लोभी दुल्हन को लिए बगैर ही लौट गए।

बड़ी बहन के देवर से निकाह

बड़ी बहन के देवर से निकाह

हुसैन ने अपनी छोटी बेटी शब्बो का निकाह छाबड़ा में बड़ी बेटी के देवर के साथ किया था, मगर निकाह के उपरांत मेहर दुल्हन की ओर से दूल्हा पक्ष से मांगी जाती है और वह सभी मौलवी व समाज बंधुओं के सामने लिखी जाती है। उस समय दुल्हन ने एक लाख रुपये मेहर की मांग की, जिस पर दूल्हे ने निकाह के दौरान सभी के सामने मंजूर भी की मगर जब लड़के वालों ने विदाई के दौरान दहेज देखा तो लड़के वालों की तरफ से कुछ व्यक्ति परिवार के बोल पड़े कि मेहर तो आपने एक लाख की लिखवा ली तो अब दहेज भी उससे ज्यादा देना पड़ेगा।

निकाहनामे को लड़के वालों ने फाड़ दिया

निकाहनामे को लड़के वालों ने फाड़ दिया

मेहर की रकम के आगे यह दहेज कुछ भी नहीं है। ऐसा कहकर निकाहनामे को लड़के वालों ने फाड़ दिया और वहां से जाने लगे तब लड़की के पिता हुसैन व उनके परिवारजनों ने सभी को समझाया कि मेहर की रकम लिखाई गई है वह कौन देता है यह तो एक रीति है जो निभाई गई है।

मेहर की रकम से दोगुना दहेज मांगा

मेहर की रकम से दोगुना दहेज मांगा

लड़के वाले इस मामले को गम्भीर लेकर मेहर की रकम से दुगना दहेज मांगने से डिमांड रखते हुए वहां से निकल पड़े साथ ही बस में बैठते ही उनकी बड़ी बेटी शमा से भी मारपीट कर बस से उतार दिया और उसके 2 साल के नन्हे बच्चे को भी लेकर चले गए। दुल्हन मेहंदी लगे हाथों को आंखों में आंसू लेकर बैठी रही। साथ ही उसे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि यह सब क्या हो गया। वहीं दुल्हन की मां व पूरा परिवार सदमे में है। दुल्हन से जब बात की तो उसके आंसुओं से धुले मेहंदी रचे हाथ सब कुछ बिन बोले बयां कर गए।

शमा को भी छोड़ गए

शमा को भी छोड़ गए

हुसैन शाह की बड़ी बेटी शमा का विवाह भी गोलू के बड़े भाई सद्दाम से किया था। जब बारात लौटी तो वे शमा को भी पिता के पास ही छोड़ गए और सामा के 2 साल के बेटे को अपने साथ ले गए शमा शादी होने के बाद अपनी बहन की शादी होने के बाद बारात ले वापस जाने को तैयार थी। वह बस में बैठ गई थी मगर ससुराल वालों ने मेहर की रकम अधिक बताकर व दहेज में और अधिक दहेज की मांग पर क्षमा के को दोषी ठहराया और उसे बस में मारपीट कर उसे भी वहीं छोड़ गए।

मामले की जांच कर रहे हैं

महिला पुलिस थाने के हैड कांस्टेबल केदार ने बताया कि रीति रिवाज से शादी हो गई थी। दहेज पूरा नहीं होने की बात कहकर दुल्हन को छोड़ गए। पुलिस थाने पर मिली शिकायत के आधार पर मामले की जांच की जा रही है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Groom Returned Home without Bride in Bundi
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X