• search
राजस्थान न्यूज़ के लिए
नोटिफिकेशन ऑन करें  

चूरू में अब तक का सबसे जल्द फैसला, 4 साल की बच्ची से रेप के आरोपी को 17 दिन में उम्रकैद, पिता भी रेपिस्ट

|
Google Oneindia News

चूरू। राजस्थान के चूरू जिला पुलिस और न्यायालय ने त्वरित न्याय की मिसाल पेश की है। 4 साल की एक बच्ची के साथ दुष्कर्म के आरोपी को घटना के महज 17 दिन बाद ही उम्रकैद की सजा दी गई। बता दें कि चूरू जिले के सरदारशहर उपखंड के भानीपुरा पुलिस थाना इलाके के गांव बुकलसर बड़ा में 30 नवंबर 2019 की शाम को घर के आगे खेल रही चार साल की बच्ची को गांव का ही दयाराम मेघवाल बहला-फुसलाकर स्कूल के पीछे ले गया और दुष्कर्म किया।

churu Pocso court instant justice within 17 days in Rape Case

1 दिसंबर को बच्ची के परिजनों ने रिपोर्ट दर्ज कराई। भानीपुरा पुलिस ने उसी दिन आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद 6 दिन में ही जांच पूरी कर 7 दिसंबर को चालान पेश कर दिया। चूरू पॉक्सो कोर्ट ने 9 दिसंबर को आरोप सुनाए और विशिष्ट न्यायाधीश राजेंद्र कुमार सैनी ने राेज सुनवाई के आदेश दिए। 4 दिन में 15 गवाहों के बयान लेखबद्ध किए। 16 दिसंबर को आरोपी दयाराम मेघवाल के बयान लेने के साथ पूरी बहस सुनी और अगले दिन 17 दिसंबर काे उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई।

नाकाबंदी जांचने निजी गाड़ी से निकलीं चूरू SP तेजस्विनी गौतम, लापरवाह ASI समेत 3 पुलिसकर्मी सस्पेंडनाकाबंदी जांचने निजी गाड़ी से निकलीं चूरू SP तेजस्विनी गौतम, लापरवाह ASI समेत 3 पुलिसकर्मी सस्पेंड

 आरोपी का पिता भी रेप के मामले में काट रहा सजा

आरोपी का पिता भी रेप के मामले में काट रहा सजा

चार साल की बच्ची से रेप करने के आरोपी दयाराम का पिता श्योदानाराम भी दुष्कर्म का आराेपी है। उसने वर्ष 2014 में गांव की ही 65 वर्षीय महिला से दुष्कर्म किया था। मामले में जिला एवं सेशन कोर्ट ने 27 जून, 2014 को 10 वर्ष के कठोर कारावास की सजा सुनाई थी। वह फिलहाल जमानत पर है। खास बात यह है कि श्योदानाराम को सजा सुनाए जाने के दौरान सरकार की तरफ से पीपी उम्मेदराज सैनी ने पैरवी की। अब श्याेदानाराम के बेटे दयाराम को सजा सुनाए जाने के सरकार की तरफ से उम्मेदराज के बेटे वरुण सैनी ने पैरवी की।

वे तीन किरदार जिन्होंने त्वरित न्याय में निभाई बड़ी भूमिका

वे तीन किरदार जिन्होंने त्वरित न्याय में निभाई बड़ी भूमिका

चूरू एसपी तेजस्वनी गौतम

चूरू की पहली महिला एसपी तेजस्वनी गौतम चार साल की मासूम को जल्द न्याय दिलाने के लिए एफएसएल जयपुर को पत्र लिखा। जयपुर के डॉक्टरों से लगातार बात की। नतीजा यह रहा कि एफएसएल रिपोर्ट जल्द मिल गई। कोर्ट को रोज सुनवाई के लिए निवेदन किया।

 सरदारशहर डीएसपी गिरधारी लाल शर्मा

सरदारशहर डीएसपी गिरधारी लाल शर्मा

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे। परिजन चश्मदीद थे। मेडिकल करवाते ही गांव में आरोपी की तलाश शुरू करवाई। शाम को गांव में छिपे आरोपी को पकड़ा। एफएसएल टीम को बुलाकर हाथो-हाथ सबूत जुटाए। कोर्ट में चालान पेश कर गवाहों के बयान भी जल्द करवाए।

 एसएचओ मलकीयत सिंह

एसएचओ मलकीयत सिंह

एक दिसंबर 2019 को भानीपुरा पुलिस में मामला दर्ज हुआ और शाम को आरोपी को पकड़ लिया गया। मामले को लेकर केस ऑफिसर स्कीम के तहत काम किया। बच्ची का मेडिकल एक दिसंबर को और आरोपी का मेडिकल दो दिसंबर को करवाया। तीन दिसंबर को मासूम के 164 के बयान करवाए। 6 दिन में कोर्ट में चालान पेश कर दिया। गवाहों के भी चार दिन में ही बयान करवा दिए।

English summary
churu Pocso court instant justice within 17 days in Rape Case
देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
For Daily Alerts
तुरंत पाएं न्यूज अपडेट
Enable
x
Notification Settings X
Time Settings
Done
Clear Notification X
Do you want to clear all the notifications from your inbox?
Settings X
X